मुख्य अतिथि के लिए स्वागत भाषण – Welcome Speech for Chief Guest in Hindi

"अपने मुख्य अतिथि के लिए एक शक्तिशाली और आकर्षक स्वागत भाषण देना सीखें। इस गाइड में अपने मुख्य अतिथि का परिचय देने, उनकी उपलब्धियों को उजागर करने और कार्यक्रम के लिए एक गर्मजोशी और स्वागत करने वाला माहौल बनाने के टिप्स शामिल हैं। किसी भी अवसर के लिए बिल्कुल सही।"

जैसा कि आप सभी जानते ही स्कूल, कॉलिज और अन्य संस्थानों पर किसी विशेष दिन पर भिन्न भिन्न प्रकार की प्रोग्राम का आयोजन किया जाता है। किसी मीटिंग या अन्य किसी इवेंट का जब भी आयोजन किया जाता है तो वहां पर जब किसी व्यक्ति को मुख्य अतिथि (Chief Guest) के रूप में बुलाया जाता है तो उनका स्वागत करने के लिए स्वागत भाषण दिया जाता है। यहाँ हम आपको बताएंगे मुख्य अतिथि के लिए स्वागत भाषण क्या है ? इन सभी के बारे में हम आपको विस्तारपूर्वक जानकारी देंगे। Welcome Speech for Chief Guest in Hindi से सम्बंधित अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए इस लेख को ध्यानपूर्वक अंत तक पढ़िए –

मुख्य अतिथि के लिए स्वागत भाषण – Welcome Speech for Chief Guest in Hindi
मुख्य अतिथि के लिए स्वागत भाषण

स्वागत भाषण क्या है ?

किसी भी समारोह में उपस्थित सभी दर्शको और अतिथियों को सम्बोधन के माध्यम से शुरू किया जाता है। भाषण में उपस्थित सभी लोगो को सम्मान देने के लिए भाषण शुरू होने से पहले कुछ पंक्तियाँ लोगो के लिए बोली जाती है जिसे स्वागत भाषण कहा जाता है। स्वागत भाषण में आप अलग-अलग प्रकार के सम्बोधन का प्रयोग कर सकते है।

विदाई समारोह पर भाषण 2023 – Best Farewell Speech In Hindi

मुख्य अतिथि के लिए स्वागत भाषण की आवश्यकता

आयोजित कार्यक्रम में आये हुए मुख्य अतिथि और अन्य अतिथियों को कार्यक्रम के शुरूआती समय से समाप्ति तक सभी लोगो को आनंदित और जोश से परिपूर्ण बनाये रखने के लिए मुख्य अतिथि जी के स्वागत में एक जोरदार भाषण देने की आवश्यकता होती है। सम्मान देने के लिए स्वागत भाषण बहुत जरूरी है। इससे मुख्य अतिथि का मन बहुत ही प्रफुल्लित होगा। न केवल भाषण ही बल्कि कुछ कविताओं और हास्य पद भी आपको अपने भाषण में बोलने की जरूरत होती है। इससे सभी लोगो का मन तो आनंदित होगा ही बल्कि कोई आपने द्वारा दिए गए भाषण से बोर भी नहीं होगा। आपको सभी लोग सुन्ना पसंद करेंगे।

मंच पर भाषण देते समय ध्यान रखने योग्य बातें

यदि आप मंच पर किसी प्रकार का कोई भाषण देना चाहते है तो यहाँ हम आपको मंच पर भाषण देते समय ध्यान रखने योग्य बातें बताने जा रहें है। भाषण देने समय आपको इन बातों का विशेष रूप से ध्यान रखना होगा। ये विशेष बातें निम्न प्रकार है –

  • मंच पर भाषण देते समय किसी भी नाकारात्मक शब्द का प्रयोग न करें।
  • भाषण देते समय आप के अंदर आत्मविश्वास की परिपूर्णता होनी चाहिए।
  • भाषण के बीच कुछ हास्य पद और कुछ कविताएं भी बोलें।
  • मंच पर पहुँचते ही आपको अपना भाषण शुरू कर देना चाहिए।
  • भाषण के दौरान बीच-बीच में लोगो से सवाल पूछते रहना चाहिए।

भाषण की शुरुआत कैसे करें ?

जानकारी के लिए भाषण देना एक बहुत ही कठिन काम माना जाता है लेकिन अगर आपके भाषण की शुरुआत अच्छी हो और आप नपे-तुले शब्दों में भाषण दें, आपका सम्बोधन अच्छा हो तो निश्चित रूप से सभी लोग आपका भाषण बहुत ही ध्यान से सुनेंगे। ध्यान दें अगर आप भाषण देना चाहते है तो जब भी आपका नंबर आये तो मंच पर बहुत ही शालीनता के साथ बहुत ही धीरे-धीरे जाएँ। आपको हड़बड़ाहट में चलने की जरूरत नहीं है और अगर आपको भाषण की शुरुआत करने में संकोच होता है तो शुरुआत की कुछ पंक्तियाँ बिना किसी से नजर मिलाएं कहें। इस आपके भाषण की शुरुआत हो जाएगी।

सबसे पहले भाषण में होता है सम्बोधन। आपका सम्बोधन जितना अच्छा होगा, आपका भाषण भी उतना ही अच्छा होगा। मंच पर भाषण बोलने से पहले आपको भाषण को लिखकर बोलने की अच्छे प्रक्टिस कर लेनी चाहिए। मुख्य रूप से कुछ जरूरी की नोट्स लिख कर रखें जिससे आपको याद रहें कि आपको किन किन बारे में बोलना है। कभी कभी ऐसा होता है कि हम बोलते समय बाते भूल जाते है। अगर आप कुछ नोट्स लिखकर रखेंगे तो आप भूलेंगे नहीं। इसमें सबसे पहले बोला जाता है सम्बोधन ! सम्बोधन कैसे बोला जाता है। सबसे पहले बोले – मैं सम्माननीय मंच को नमन करता हूँ। यह बहुत कम लोग बोलते है। अगर आप ऐसा बोलेंगे तो सामने वाले को ऐसा ही लगेगा की आपको अनुभव है। उसके बाद – हमारे परम आदरणीय महोदय क्योंकि जो कार्यक्रम की अध्यक्षता कर्रा होता है वह सबसे प्रमुख होता है। उसके बाद – हम सभी के चहेते व समाज के लोक प्रिय माननीय मुख्य अतिथि जी – ऐसा बोलेंगे तो उनको अच्छा लगेगा। इस कार्यक्रम को विशिष्टता प्रदान कर रहें विशिष्ट अतिथि जी व इस कार्यक्रम के महत्वपूर्ण अंग हमारे दर्शक आप सभी को मैं हार्दिक नमन करता हूँ। आपका अभिनन्दन करता हूँ। आपको सादर वंदन करता हूँ।

उसके बाद सम्बोधन के साथ ही वक्ता को भाषण के विषय पर आ जाना चाहिए। भाषण बोलने से पहले भाषण बोलने के अवसर मिलने के लिए धन्यवाद बोलना चाहिए। और उसके बाद अपने भाषण का विषय बताते हुए कहें कि आज मैं इस विषय पर भाषण देने जा रहा हूँ। उसके बाद आपने भाषण में बीच बीच में शायरियां बोले।

मुख्य अतिथि के स्वागत के लिए कुछ ख़ास शायरी

अगर आप भी किसी प्रोग्राम में मुख्य अतिथि के स्वागत में भाषण देना चाहते है आप इन शायरी से अपने भाषण की शुरुआत कर सकते है। यहाँ हम आपको नीचे दी गई सारणी के माध्यम से कुछ शायरी उपलब्ध कराने जा रहें है। ये सारणी निम्न प्रकार है –

क्रम संख्या स्वागत शायरी
1 खुशियों के सागर के पार आ गए
लगता है मेरे गले के हार आ गए
करतल ध्वनि से गुंजा दो प्रांगण को
आज की खुशियों के सूत्रधार आ गए।
2 हार को जीत की एक दुआ मिल गई
तपन मौसम में एक ठंडी हवा मिल गई
आप आये श्री मान जी यूँ लगा
जैसे तकलीफ को कुछ दवा मिल गई।
3 आपका स्वागत करने हम सब मिलकर आये है,
चेहरे पर मुस्कान और हाथो में फूलो की माला लाये है।
4 वो खुद ही नाप लेते है बुलंदी आसमानो की,
परिंदो को नहीं तालीम दी जाती उड़ानों की,
महकना और महकाना तो काम है खुशबू का
खुशबू नहीं मौहताज होती कद्रदान होती।

मुख्य अतिथि के लिए स्वागत भाषण

Welcome Speech for Chief Guest in Hindi यहाँ हम आपको चीफ गेस्ट के लिए वेलकम स्पीच कैसे दें इसके बारे में कुछ उदाहरण के माध्यम से बताने जा रहें है। ये उदहारण निम्न प्रकार है –

वार्षिकोत्स्व पर मुख्य अतिथि के लिए स्वागत भाषण

चंदन की खुशबू चौखट पर बिछाते है,
पवित्र भाव से ख़ुशी के दीप जलाते है,
मेरे अतिथि आये है आज भगवान् बनकर,
हमारे भगवान् हो ह्रदय से तिलक लगाते है।

माननीय मुख्य अतिथि जी, अध्यक्ष महोदया, सम्मानित शिक्षकगण, और मेरे प्यारे दोस्तों आप सभी को मेरी नमस्कार।

मैं_____ कक्षा 12 वीं की छात्रा हूँ। मुझे आज बहुत ही हर्ष महसूस हो रहा है। कि इस वार्षिकोत्स्व में मुझे एंकरिंग करने का मौका दिया गया है। यह एक कठिन कार्य है। परन्तु इन कठिन कार्यों को धीरे धीरे इस विद्यालय से सीखकर हम अपने भविष्य में अग्रसर हुए है। मुझे बेहद ख़ुशी महसूस होती है। जब में यह सोचती हूँ कि इस विद्यालय में मुझे अध्ययन करने का अवसर प्राप्त हुआ है। विद्यालय की प्रगति से पूरा जिला परिचित है। यहाँ कि शिक्षण सम्बंधित गतिविधियां साथ ही साथ पढ़ाई के माहौल को देखकर अभिभावक बेहद खुश हो जाते है।

अब मैं आपको यह बताना चाहूंगा कि इस वार्षिकोत्स्व की संध्या में हमारे विद्यालय में मुख्य अतिथि के रूप में हमारे जिले के माननीय सासंद जी उपस्थित है। उनके सम्मान में कुछ लाइने कहना चाहूंगा कि –

ईश्वर ने भी कीमती रत्न,
गिनती के ही बनाये है,
उन रत्नो में सबसे कीमती,
आज हमारे बीच में आये है।

मैं आप सभी से विनम्र निवेदन करूंगा कि जब वह इस मंच पर उपस्थित हो तो आप सभी अपने स्थान पर खड़े होकर उनका तालियों से स्वागत करें। अब मैं हमारे माननीय अथिति जी से विनती करूंगा कि वे माननीय माँ शारदे की प्रतिमा के सामने दीप प्रज्वलित करें। और साथ ही साथ पुष्प अर्पित करें। और अब मैं अपनी वाणी को विराम देते हुए माननीय अतिथि जी के स्वागत में यही कहना चाहूंगा कि –

दिल का सुकून मिलता है मुस्कुराने से,
दिल का सुकून मिलता है मुस्कुराने से,
महफ़िल में रौनक आ गई श्रीमान आपके आने से।

धन्यवाद !

चीफ गेस्ट के लिए स्वागत भाषण

खुशियां नग्मे बिखेर रही है
दबे दबे पाँव से कुछ कह रही है
आज दिन कुछ ख़ास है
पधारे आज प्रांगण में ख़ास मेहमान आये है
तालियों के साथ स्वागत करो इनका
क्योंकि यह हमारी महफ़िल की जान है।

माननीय प्रधानाचार्या जी, महोदया जी और पधारे गए अतिथिगण का सादर अभिनंदन।

आज इस दिन की सबको हार्दिक शुभकामनाएं देती हूँ और इस शुभ दिन पर मुझे अपने विचार प्रकट करने का अवसर देने के लिए मैं आप सभी का तहदिल से शुक्रिया अदा करती हूँ।

जिस दिन से इस विद्यालय की नीव रखी गई थी तब से ही शिक्षा का बेहतरीन संचार और व्यावहारिक परीक्षण का सामंजस्य और अन्य कलाओ को ध्यान में रखा गया है और स्पोर्ट्स को तो विशेष महत्व दिया गया है। ताकि बच्चे जिस भी क्षेत्र में अपनी कला को बिखेरना चाहते है वे उस क्षेत्र में जा सकते है। इतना ही नहीं गुरु के सानिध्य में ज्ञान का निरंतर और सतत विकास होता रहा है ताकि इस विद्यालय के विद्यार्थी सक्षम नागरिक बनके उभरे। इसलिए यह विद्यालय एक शिक्षित समाज की नीव रखने की पाठशाला है। मैं कहना चाहूंगी कि-

हम तो कोरे कागज़ थे, किनारा आपने दिखाया,
हर एक फूल को पल्वित आपने बताया,
यह सिर्फ पाठशाला नहीं शिक्षा का मंदिर है
यहाँ हर एक फूल का अपना अलग ही अस्तित्व है।

अब सरस्वती पूजन और दीप प्रज्वलन के लिए मैं आज के मुख्य अतिथि सर को मंच पर आमंत्रित करती हूँ और सब विद्यार्थी से निवेदन करती हूँ कि वो अपने स्थान पर खरे होकर माननीय मुख्य अतिथि का जोरदार तालियों से स्वागत करें।

क्या तारीफ़ करूं मैं सर आपकी, अल्फाज भी कम पड़ जाएंगे आपकी उपलब्धि को बताने लगी तो सुबह से शाम हो जाएगी। बस इन्ही शब्दों के साथ मैं अपनी वाणी को विराम देती हूँ –

न समुन्द्र में मोती सदा खिलते है,
न हर मंजर में दीप सदा जलते है,
पर जिनके खिलने से समस्त उपवन खिल उठे,
ऐसे पुष्प उपवन में सर्दियों बाद ही खिलते है।

Welcome Speech for Chief Guest in Hindi सम्बन्धित कुछ प्रश्न/उत्तर

अतिथिगण कब स्वागत कैसे करें ?

मुख्य अथिति जी, अध्यक्ष महोदया, सम्मानित शिक्षकगण और मेरे दोस्तों, आप सभी को मेरी तरफ से प्यार भरा नमस्कार। जैसा कि आप सभी जानते है आज हमारे बीच मुख्य अतिथि के रूप मे ______ जी उपस्थित हुए है। मैं आपका हार्दिक अभिनंदन करता हूँ।

स्वागत भाषण की शुरुआत किन शब्दों से करनी चाहिए ?

आपको स्वागत भाषण मंच पर बोलने से पहले ही भाषण की तैयारी कर लेनी चाहिए। आपको अपने स्वागत भाषण की शुरुआत सम्बोधन से करनी चाहिए जैसे – सुप्रभात, नमस्कार, आदि।

मुख्य अतिथि कौन है ?

किसी भी प्रोग्राम या मीटिंग में आमंत्रित प्रदान व्यक्ति जो उस प्रोग्राम की औपचारिक रूप से शुरुआत करता है। वह उस प्रोग्राम का मुख्य अतिथि होता है।

जैसे की इस लेख में हमने आपसे मुख्य अतिथि के लिए स्वागत भाषण – Welcome Speech for Chief Guest in Hindi से सम्बंधित समस्त जानकारी साझा की है। अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी के अलावा कोई अन्य जानकारी चाहिए तो आप नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में जाकर मैसेज करके पूछ सकते है। आपके सभी प्रश्नो के उत्तर अवश्य दिए जाएंगे। आशा करते है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी से सहायता मिलेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Join Telegram