उत्तराखंड पशु सखी योजना 2023 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, Pashu Sakhi yojana

उत्तराखंड सरकार के द्वारा राज्य की पशुपालक महिलाओं को लाभ प्रदान करने के लिए उत्तराखंड पशु सखी योजना को शुरू किया गया है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

स्कीम के माध्यम से उत्तराखंड राज्य सरकार द्वारा पशुओं की देखभाल के लिए राज्य से पशु सखी का चयन किया जायेगा।

Pashu Sakhi yojana के अंतर्गत पशुपालक महिलाओं को प्रशिक्षण कार्यक्रम के माध्यम से पशु सखी के रूप में चयनित किया जायेगा।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
उत्तराखंड पशु सखी योजना
उत्तराखंड पशु सखी योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

राज्य के विकास एवं महिलाओं को लाभ प्रदान करने के लिए उत्तराखंड सरकार कई योजनाए संचालित करती है, जिनमे से एक घसियारी कल्याण योजना भी है योजना के तहत राज्य की ग्रामीण महिलाओं को 3 रुपये प्रतिकिलों के आधार पर चारा उपलब्ध करवाया जायेगा।

उत्तराखंड पशु सखी योजना

उत्तराखंड पशु सखी योजना मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी के द्वारा राज्य की पशुपालक महिलाओं को लाभ प्रदान करने के लिए शुरू की गई है।

स्कीम के माध्यम से राज्य की ग्रामीण क्षेत्र की पशुपालक महिलाओं की आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने का प्रयास किया जा रहा है। इसके अंतर्गत पशुपालकों की आय में वृद्धि की जाएगी जिसके लिए राज्य में निरीक्षण के माध्यम से पशु सखी नियुक्त की जाएगी।

स्कीम के अंतर्गत पशु सखी का मुख्य कार्य पशुपालन विभाग और पशुपालक के बीच संयोजन के सभी कार्य करना होगा।

योजना के माध्यम से चयनित उम्मीदवार को राज्य सरकार के द्वारा संचालित की गई सभी योजनाओं की जानकारी उपलब्ध करवाई जाएगी। जैसे :- जानवरों के नियमित चिकित्सा के प्रति सुरक्षा।

राज्य सरकार योजना के तहत उम्मीदवार महिलाओं को पशु सखी बनने के लिए उचित प्रशिक्षण भी प्रदान किया जायेगा।

जिससे की राज्य की महिलाओं को पशुओं के स्वास्थ्य से जुड़ी आवश्यक जानकारी प्रदान की जा सके। उन्हें प्रशिक्षण के पश्चात अगर चुन लिया जाता है तो सरकार उन्हें प्रतिमाह वेतन भी प्रदान करेगी।

Pashu Sakhi yojana highlight

योजना उत्तराखंड पशु सखी योजना
किसके द्वारा शुरू की गई थी उत्तराखंड सरकार द्वारा
प्रारंभिक तिथि 16 अप्रैल 2023
लाभार्थी राज्य की महिलाएं
आधिकारिक वेबसाइट (uk.gov.in)

उत्तराखंड पशु सखी योजना का उद्देश्य

Pashu Sakhi yojana के माध्यम से उत्तराखंड राज्य सरकार का मुख्य उद्देश्य राज्य की ग्रामीण सेंटर की महिलाओं को पशुओं की देखभाल के लिए उचित वेतन प्रदान करना है जिससे राज्य की महिलाओं को रोजगार प्राप्त हो सके।

साथ ही पशुओं की अधिक देखभाल करने से पशुओं की घटती जनसंख्या को नियंत्रण में लाया जा सके और उनकी जनसंख्या में बढ़ोत्तरी हो सके।

योजना के माध्यम से न केवल महिलाओं को रोजगार मिलेगा बल्कि उनकी राज्य में महिलाओं को उचित सम्मान भी प्राप्त होगा।

राज्य की महिलाओं को निःशुल्क प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा। यदि महिलायें प्रशिक्षण लेने के बाद भी चयनित नहीं होती है तो वह पशुपालन के माध्यम से बेहतर दुग्ध उत्पादन से अपनी आय में वृद्धि कर सकते है।

उत्तराखंड पशु सखी स्कीम के तहत सखी के कार्य

  • पशुपालन विभाग और प्रदेश के पशुपालकों को पशुओं की देखभाल करने हेतु सूचना प्रदान करना।
  • पशु विभाग की जानकारी पशु राखी द्वारा राज्य के पशुपालकों को प्रदान की जाएगी।
  • उम्मीदवार को पशुओं का समय समय पर उपचार करना होगा।

पशु सखी योजना स्कीम के लाभ एवं विशेषताएं

  • Pashu Sakhi yojana के माध्यम से राज्य सरकार पशु की सेहत को बेहतर करने का प्रयास कर रही है।
  • राज्य सरकार द्वारा स्कीम का लाभ महिलाओं को प्रशिक्षण के माध्यम से प्रदान करेगी।
  • प्रशिक्षण के माध्यम से महिलाओं की उचित योग्यता के अनुसार ही उन्हें योजना के तहत लाभार्थी माना जायेगा।
  • स्कीम के माध्यम से महिलाये प्रशिक्षित होने के पश्चात आत्मनिर्भर और सशक्त हो सकेंगी।
  • स्कीम के माध्यम से राज्य की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने प्रेरित एवं नारी सशक्तिकरण को प्रोत्साहन प्रदान किया जायेगा।
  • स्कीम का निरिक्षण राज्य सरकार द्वारा किया जा रहा है, जिससे की महिलाओं को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।
  • योजना के माध्यम से निरिक्षण के पश्चात चयनित पशु सखी को राज्य सरकार अच्छा वेतन भी प्रदान करेगी।
  • योजना के तहत महिलाओं को प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए किसी भी प्रकार का प्रशिक्षण प्रदान नहीं करना पड़ेगा।
  • महिलाओं के पास योजना के माध्यम से रोजगार का साधन होगा, तो उनकी आय में भी वृद्धि होगी।
  • योजना के अंतर्गत राज्य की महिलाओं को ऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों ही माध्यम उपलब्ध कराये गए है।
  • स्कीम के अंतर्गत पशु सखी को समय पर सुझाव एवं प्राथमिक चिकित्सा का प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा।
  • योजना के माध्यम से पशुओं के लिए भी उत्तम श्रेणी का चारा उपलब्ध करवाया जायेगा जिससे दूध उत्पादन में भी वृद्धि होगी।
पशु सखी योजना उत्तराखंड हेतु आवश्यक पात्रताएं
  • आवेदन करने के लिए आवेदक का उत्तराखंड का मूल निवासी होना चाहिए।
  • स्कीम में आवेदन करने के लिए उम्मीदवार की न्यूनतम आयु 20 वर्ष होनी आवश्यक है एवं अधिकतम आयु 40 वर्ष होनी आवश्यक है।
  • स्कीम के तहत आवेदन करने वाली महिला कम से कम 8 कक्षा तक पढ़ी लिखी होनी चाहिए।
  • योजना का लाभ केवल राज्य की महिलाये ही प्राप्त कर सकती है।
  • आवेदन करने वाले उम्मीदवार स्वयं बैंक खाता धारक होना आवश्यक है।
  • स्कीम के अंतर्गत राज्य की उम्मीदवार महिलाओं को प्रदान किया जाने वाले प्रशिक्षण राज्य के अंदर एवं राज्य के बाहर भी हो सकता है।
  • आवेदक महिला को प्रशिक्षण में पास होने के लिए पशुपालन का ज्ञान होना आवश्यक है।
  • योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए उम्मीदवार का सहायता समूह का सदस्य होना आवश्यक है।
  • स्कीम में आवेदन कररने के लिए सभी दस्तावेजों का होना आवश्यक है।
  • योजना का पात्र बनने के लिए आवश्यक है की उम्मीदवार पशुपालक महिला को दुधारू पशुओं के विषय में सभी जानकारी ज्ञात हो।

आवेदन हेतु दस्तावेज

योजना में आवेदन करने के लिए कुछ आवश्यक दस्तावेजों की जरुरत होगी। जिनका स्पष्ट विवरण नीचे निम्नलिखित है :-

  • आधार कार्ड
  • आयु प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पैन कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • स्थाई निवास प्रमाण पत्र
  • शैक्षणिक योग्यता प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • पास पोर्ट साइज़ फोटो
  • राशन कार्ड
  • बैंक खाते की डिटेल्स
  • जमीन संबंधित दस्तावेज

उत्तराखंड पशु सखी योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया

यदि आप उत्तराखंड राज्य के मूल निवासी नागरिक है और पशुपालन के क्षेत्र में रोजगार करने के इच्छुक है तो आप पशु सखी योजना में आवेदन कर सरकार द्वारा दिए जाने वाले लाभ को प्राप्त कर सकते है।

Pashu Sakhi yojana में आवेदन करने के लिए इच्छुक उम्मीदवारों को अभी कुछ समय तक इंतजार करना होगा। क्योकि राज्य सरकार द्वारा अभी तक योजना की कोई आधिकारिक वेबसाइट लॉन्च नहीं हुई है। इसलिए हम आपको आवेदन प्रक्रिया बताने में असमर्थ है।

उत्तराखंड पशु सखी योजना से संबंधित प्रश्न एवं उत्तर

Pashu Sakhi yojana का मुख्य उद्देश्य क्या है ?

Pashu Sakhi yojana का मुख्य उद्देश्य राज्य की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना ही राज्य सरकार का लक्ष्य है।

उत्तराखंड पशु सखी योजना प्रदान किये जाने वाले प्रशिक्षण का शुल्क कितना है?

उत्तराखंड पशु सखी योजना प्रदान किये जाने वाला प्रशिक्षण निशुल्क है।

Pashu Sakhi yojana आवेदन करने की प्रक्रिया क्या है ?

Pashu Sakhi yojana आवेदन करने की प्रक्रिया ऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों है।

उत्तराखंड पशु सखी योजना की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

उत्तराखंड पशु सखी योजना की आधिकारिक वेबसाइट अभी राज्य सरकार द्वारा लॉन्च नहीं की गई है।

इस लेख में हमने आपके साथ उत्तराखंड की उत्तराखंड पशु सखी योजना से संबंधित जानकारी साझा की है। अगर आपको लिखित जानकारी के अलावा कोई अन्य जानकारी चाहिए तो आप कमेंट बॉक्स में मेसेज हमें सूचित कर सकते है हमारी टीम द्वारा आपके प्रश्नो के उत्तर अवश्य दिए जायेंगे। आशा करते है की आपको हमारे लेख के माध्यम से सहायता प्राप्त हुई होगी।

Leave a Comment