झारखण्ड मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना : दुधारू पशु खरीदने पर सब्सिडी

किसानों को आर्थिक रूप से संबल बनाने के लिए झारखंड सरकार द्वारा अनेक योजनाओं को लांच किया गया है। राज्य सरकार किसानों को आत्मनिर्भर बना कर उनकी जीवनशैली में सुधार करना चाहती है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

कृषि के साथ-साथ राज्य सरकार द्वारा अबकी बार झारखण्ड मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना की शुरुआत की है। इस योजना द्वारा किसान नागरिक पशुपालन के माध्यम से अपनी आय में वृद्धि कर सकेंगे।

झारखण्ड मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना आवेदन करें
झारखण्ड मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना

इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको झारखंड सरकार की मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना की जानकारी प्रदान करेंगें। आर्टिकल की सहायता से आप इस योजना का आवेदन कर सकते हैं।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
आर्टिकल मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना
राज्य झारखंड
विभाग कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता विभाग
उद्देश्य राज्य में पशुपालन को बढ़ावा प्रदान करने के लिए अनुदान प्रदान करना
लाभार्थी झारखंड के नागरिक
अनुदान राशि 75% से 90% तक
माध्यम ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइट mpvyjharkhand.in

Jharkhand Mukhyamatri Pashudhan Vikas Yojana

झारखण्ड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा राज्य के किसानों की आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए राज्य में मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना की शुरुआत की है।

इस योजना के अंतर्गत राज्य के महिला एवं विधवा, निःसहाय दम्पति, गरीब किसानों और निशक्तजनों को पशुपालन करने के लिए सब्सिडी प्रदान की जायेगी। इस योजना का संचालन कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता विभाग झारखंड सरकार द्वारा किया जाएगा।

इस योजना में गाय-भैंस पालन, बकरी पालन, सूअर पालन, कुक्कुट पालन एवं बत्तख पालन के लिए पात्र किसानों को सब्सिडी प्रदान की जाती है। इस योजना का संचालन करने के लिए राज्य सरकार द्वारा 660 करोड़ रूपये की बजट राशि निर्धारित की गयी है।

Mukhyamatri Pashudhan Vikas Yojana में प्रदान सब्सिडी/अनुदान

  • इस योजना के अंतर्गत विधवा महिला किसान एवं दिव्यांग महिला किसानों को दुधारू पशु के पालन के लिए 90% अनुदान प्रदान किया जाता है।
  • दुधारू पशु के अतिरिक्त किसी योजना में नामांकित किसी अन्य पशुपालन पर 75% अनुदान प्रदान किया जाता है।
  • वे पशुपालक जिनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं हैं उन्हें इस योजना से 75% अनुदान प्रदान किया जाता है। पहले इस योजना के अंतर्गत अनुदान 50% प्रदान किया जाता था।

मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना का उद्देश्य

झारखण्ड सरकार द्वारा इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य में पशुपालन को बढ़ावा देना है। इस योजना के द्वारा राज्य के पशुपालक किसानों की आय में वृद्धि होगी। वे पशुपालन से दूध, अंडे, मांस आदि का व्यवसाय कर पायेंगे।

राज्य के वे किसान जो पशुपालन हेतु पशु खरीदने में असमर्थ है उन्हें इस योजना द्वारा समर्थ बनाया जायेगा। वे पशुपालन कर अपनी एवं अपने परिवार की जीवनशैली को सुधार सकेंगे।

झारखण्ड मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना लाभ एवं विशेषताएं

  • इस योजना के द्वारा राज्य में पशुपालन को बढ़ावा प्राप्त होगा। पशुपालकों को आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य के गरीब किसानों, विधवाओं, दिव्यांगों, निःशक्तजनों एवं निःसहाय दम्पतियों को पशुपालन के लिए सब्सिडी प्रदान की जाएगी।
  • झारखण्ड मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना में महिला व विधवा, निःसहाय दम्पति एवं निःशक्त का चयन प्राथमिकता के आधार पर किया जाता है।
  • झारखण्ड सरकार द्वारा योजना से 75% से लेकर 90% तक अनुदान प्रदान किया जायेगा।
  • इस योजना द्वारा पशुपालक किसानों एवं खेती करने वाले किसानों के मध्य एक दूसरे की सहायता की जाएगी। इसमें खाद, उर्वरक एवं पशुओं के चारे का आदान-प्रदान किया जा सकता है।
  • योजना में प्रदान की जाने वाली अनुदान राशि पशुपालक के बैंक अकाउंट में डीबीटी की जाएगी।
  • इस योजना का आवेदन ऑफलाइन माध्यम से किया जाता है।
  • योजना के संचालन हेतु राज्य सरकार द्वारा 660 करोड़ रूपये की बजट राशि निर्धारित की गयी है।

Mukhyamatri Pashudhan Vikas Yojana पात्रता एवं शर्तें

  • इस योजना का आवेदनकर्ता झारखण्ड का मूल निवासी होना चाहिए।
  • आवेदनकर्ता किसान या पशुपालक होना चाहिए।
  • इस योजना का आवेदन महिलाएं एवं दिव्यांगजन भी कर सकते हैं।
  • आवेदनकर्ता के पास पशुपालक करने के लिए स्थान होना चाहिए।
  • आवदेक के नाम पर लिए गए गए ऋण पर बकाया बाकि नहीं होना चाहिए।

मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • दिव्यांग प्रमाण पत्र (यदि दिव्यांग आवेदक हों)
  • पति का मृत्यु प्रमाण पत्र (विधवा आवेदिका होने की स्थिति में)
  • बैंक पासबुक
  • पासपोर्टा साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

झारखण्ड मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना आवेदन करें

यदि आप झारखंड के पशुपालक निवासी है और योजना के आवेदन की अभी पात्रताएं पूर्ण करते हैं तो आप निचे दी गयी प्रक्रिया के अनुसार ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं:

  • सबसे पहले आप अपनी नजदीकी पशुपालन विभाग के कार्यालय में जाएँ।
  • कार्यालय में उपस्थित कर्मचारी से आप योजना का आवेदन फॉर्म प्राप्त करें।
  • अब आवेदन फॉर्म में मांगी गयी सभी आवश्यक जानकारी को ध्यानपूर्वक दर्ज करें।
  • मांगी गयी सभी आवश्यक जानकारी दर्ज करने के बाद सभी आवश्यक दस्तावेज संलग्न करें।
  • अब आवेदन फॉर्म को वापस पशुपालन विभाग के कार्यालय में जमा कर दें।
  • उपर्युक्त प्रक्रिया पूर्ण करने पर आवेदक द्वारा किये गए आवेदन का सत्यापन किया जायेगा एवं सत्यापन होने के बाद आपको इसका लाभ प्राप्त हो जायेगा।

उपर्युक्त प्रक्रिया के अनुसार आप झारखण्ड मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना का आवेदन कर सकते हैं।

झारखण्ड मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना से सम्बंधित प्रश्न एवं उत्तर

मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना किस राज्य सरकार द्वारा शुरू की गयी है?

मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना झारखंड सरकार द्वारा शुरू की गयी है।

Jharkhand Mukhyamatri Pashudhan Vikas Yojana द्वारा किसान को कितना अनुदान प्रदान किया जाता है?

Jharkhand Mukhyamatri Pashudhan Vikas Yojana द्वारा किसान को पशुपालन करने के लिए 75% से 90% तक अनुदान प्रदान किया जाता है।

झारखण्ड मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना से सम्बंधित जानकारी प्राप्त करने की आधिकारिक वेबसाइट क्या है?

झारखण्ड मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना से सम्बंधित जानकारी प्राप्त करने की आधिकारिक वेबसाइट mpvyjharkhand.in है।

झारखण्ड मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना के संचालन के लिए कितनी बजट राशि निर्धारित की गयी है?

झारखण्ड मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना के संचालन के लिए 660 करोड़ रूपये की बजट राशि निर्धारित की गयी है।

Jharkhand Mukhyamatri Pashudhan Vikas Yojana की चयन प्रक्रिया में किसे प्राथमिकता प्रदान की जाती है?

Jharkhand Mukhyamatri Pashudhan Vikas Yojana के की चयन प्रक्रिया में महिला किसान, विधवा, दिव्यांग, निःशक्त एवं निःसहाय दम्पति को प्राथमिकता प्रदान की जाती है।

झारखण्ड मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना किस विभाग द्वारा संचालोत की जा रही है?

झारखण्ड मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना राज्य के कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता विभाग द्वारा संचालित की जा रही है।

Leave a Comment