4078 करोड़ का घर, 8 प्राइवेट जेट, 700 कारें… जानिए इस परिवार के पास क्या-क्या है

दुनिया में कई अमीर परिवार हैं, लेकिन सबसे अमीर परिवार का नाम है अल नाहयान परिवार। ये परिवार संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान का परिवार है। अल नाहयान परिवार के पास दुनिया भर में कई संपत्तियां हैं, जिनमें अबू धाबी में एक 4078 करोड़ रुपये का राष्ट्रपति महल, 8 प्राइवेट जेट और एक लोकप्रिय फुटबॉल क्लब शामिल हैं।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
World's Richest Family: 4078 करोड़ का घर, 8 प्राइवेट जेट और... कौन है दुनिया का सबसे अमीर परिवार?
World’s Richest Family

अल नाहयान परिवार का इतिहास काफी पुराना है। 1760 के दशक में, अल नाहयान परिवार के पूर्वज अबू धाबी में आकर बसे थे। तब से, अल नाहयान परिवार ने अबू धाबी के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

कुल सम्पत्ति का भंडार

ब्लूमबर्ग के अनुसार, यह एक ऐसा परिवार है जिसके पास 25,38,667 करोड़ रुपये की संपत्ति है। अल नाहयान परिवार के पास दुनिया भर में कई संपत्तियां हैं, जिनमें अबू धाबी में एक 4078 करोड़ रुपये का राष्ट्रपति महल, 8 प्राइवेट जेट और एक लोकप्रिय फुटबॉल क्लब शामिल हैं और उनकी कार का संग्रह तो इतना विशाल है कि जिसमें सैकड़ों कारें शामिल हैं। शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान, जिन्हें MBZ के नाम से भी जाना जाता है

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

2023 में दुनिया की सबसे अमीर परिवारों की सूची में पहला स्थान इसी परिवार का था, उनकी दौलत का एक बड़ा हिस्सा तेल भंडार से आता है। न्यूयॉर्कर के अनुसार, इस परिवार के पास दुनिया का लगभग छह प्रतिशत तेल भंडार है। इसके अलावा, उन्होंने विभिन्न वैश्विक बिज़नेस में भी निवेश किया है।

परिवार की संख्या और उनका विशाल संग्रह कितना है ?

उनके पास ऐसे लक्जरी संपत्तियां हैं जो आपको चकित कर देंगी। GQ मैगज़ीन के अनुसार, इस परिवार के पास सोने से बना कसर अल वतन राष्ट्रपति महल है, जो यूएई के बड़े महलों में से एक है। इस परिवार में शेख मोहम्मद के 18 भाई-बहन हैं और उनके पास दुबई, पेरिस, और लंदन में भी संपत्तियां हैं। उनके छोटे भाई के पास 700 कारों का विशाल संग्रह है। इस परिवार की तुलना ब्रिटेन के शाही परिवार से की गई है।

अल नाहयान परिवार दुनिया के सबसे अमीर परिवारों में से एक है। अल नाहयान परिवार की संपत्ति इतनी है कि वह दुनिया के कई छोटे देशों की जीडीपी से भी अधिक है।

Leave a Comment