One Time Password (OTP) क्या है?

One Time Password (OTP)– आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) के बारे में जानकारी देने जा रहे है। की कैसे इसका इस्तेमाल किया जाता है। जैसे की आप सभी लोगो को पता है की आज के समय में ऑनलाइन पेमेंट से लेकर लॉगिन तक सभी चीजों में ओटीपी का उपयोग किया जाता है। तो आइये जानते है हमारे इस आर्टिकल में की ओटीपी की शुरुआत क्यों की गयी है और ओटीपी को कैसे जनरेट किया जा सकता है।

One Time Password (OTP) क्या है?

ओटीपी का अर्थ है one time password यानी की एक बार में प्रयोग होने वाला एक सुरक्षा कोड ,एक बार इस कोड का इस्तेमाल होने पर इसे दोबारा से उपयोग नहीं किया जा सकता है। यह एक ऑनलाइन सिक्योरटी के रूप में उपयोग किया जाने वाला एक कोड है। ऑनलाइन पेमेंट की सुरक्षा के लिए इसके लिए एक तय सीमा लिमिट की जाती है। जिसका उपयोग समय खत्म होने के बाद दोबारा नहीं किया जा सकता है। समय सीमा खत्म होने के बाद यह ओटीपी एक्सपायर हो जाता है। OTP 4 और 6 नंबर का कोड होता है जो सिक्योरिटी के लिए यूज किया जाता है। यह ऑनलाइन संबंधी कार्य को करने के लिए एक प्रूफ के तौर पर इस्तेमाल किया जाने वाला एक कोड है जिसके वेरिफिकेशन होने के बाद यह साबित होता है की वह कार्य आपके द्वारा ही किया गया है।

One Time Password केवल आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर एवं रजिस्टर्ड ईमेल आईडी में प्राप्त होगा। आज के समय में इंटरनेट बैंकिंग एवं ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। ओटीपी वेरिफाई होने के बाद ही आप इन सुविधाओं का लाभ ऑनलाइन प्रणाली के आधार पर प्राप्त कर सकते है।

ओटीपी का इस्तेमाल

आज के इस तकनीकी क्षेत्र के विकास में अधिकतर लोग इंटरनेट एवं कंप्यूटर का इस्तेमाल गलत काम के लिए भी उपयोग करते है। ऐसे में तकनीकी क्षेत्र में क्राइम और अधिक बढ़ गए है। जिसे साइबर अपराध के नाम से जाना जाता है। इन सभी अपराधों को कम करने के लिए ही ओटीपी का इस्तेमाल किया जाता है।

अधिकतर लोगो किसी भी ऑनलाइन अकाउंट के लिए अपना मनचाहा पासवर्ड बनाते है। उसमें अपना नाम या डेट ऑफ़ बर्थ डाल देते है। या फिर अन्य कोई ऐसा पासवर्ड बनाते है जो आसानी से याद हो। लेकिन यह पासवर्ड किसी भी व्यक्ति के अकाउंट के लिए सुरक्षित नहीं है। इसे सुरक्षित बनाने के लिए ओटीपी लोगो की एक विशेष सहयोग करता है जिसके अंतर्गत आप अपने पासवर्ड को सिक्योर बना सकते है। क्युकी ओटीपी आपके बनाए गए पासवर्ड से बिल्कुल अलग होता है। जो हर बार अलग-अलग अनुक्रम में जनरेट हो कर आता है।

ईमेल और मोबाइल नंबर में कहाँ से प्राप्त होता है ओटीपी

आप लोगो के मन में यह सवाल होगा की यह One Time Password ओटीपी आपके मोबाइल नंबर या फिर ईमेल में कैसे प्राप्त होता है। सभी डिवाइस के लिए कुछ Authentification Server (प्रमाणीकरण सर्वर) होते है जिनके तहत हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर होते है जो हमारे ओटीपी को क्रिएट करने एवं हम तक पहुंचाने का कार्य करते है।

OTP के फायदे (Advantages of OTP in Hindi)

ओटीपी उपयोग करने के विभिन्न फायदे है। यह एक सिक्योरिटी बढ़ाने का जरिया है ,जो सुरक्षा को मजबूत करने का काम करता है। क्योंकी ओटीपी केवल पंजीकृत मोबाइल नंबर में ही आता है। जिसकी जानकारी केवल उसी व्यक्ति को पता होती है जो ऑनलाइन सर्विस का उपयोग कर ओटीपी का इस्तेमाल कर रहा है। इसकी मदद से व्यक्ति का अकाउंट सिक्योर होता है। भले ही यदि किसी को आपका पासवर्ड पता भी लग जाता है तो बिना किसी ओटीपी के वह लॉगिन नहीं कर सकता है।

कुछ साइट में ओटीपी को Two-Step-Verification के नाम से भी जाना जाता है। जिसे सेटअप करना काफी आसान होता है। अधिकतर ऐसी साइट होती है जिनमे आपकी पर्सनल इन्फॉर्मेशन होती है। जिसमें पहले से ही यह इनेबल रहता है। यदि नहीं तो आप उसके सेटिंग में जाकर फोन को वेरिफाई करने के बाद इनेबल कर सकते है।

ओटीपी इस बात का प्रूफ है की यदि आप किसी साइट में या फिर अकाउंट में लॉगिन करना चाह रहे है या फिर कोई ऑनलाइन ट्रांजैक्शन कर रहे है वह एक्टिविटी आप ही कर रहे है। यह उपयोगकर्ता के प्रमाण के लिए एक बेहतर सबूत है। ओटीपी प्राप्त होने पर यह भी लिखा होता है की इसे किसी के साथ शेयर ना करे ऐसा इसलिए की आपके साथ किसी भी तरह का कोई फ्रॉड ना हो।

कभी कभी अचानक से भी Two-step-Verification का ऑप्शन आ जाता है जब कोई इनवैलिड एक्टिविटी होती है। ऐसे में ओटीपी के जरिये वेरिफिकेशन करने के बाद आप अकाउंट का उपयोग कर पाते है।

AVVNL Bill) Ajmer Vidyut Vitran Nigam Ltd Bill Status Check, Bill Payment

हैकिंग से बचाव

आज के समय में हैकिंग से बचाव के लिए ओटीपी सबसे बेहतर ऑप्शन है। ओटीपी की एक सबसे बेहतर सुविधा यह है की हमें हैकिंग से सुरक्षा मिल जाती है क्योंकी हैकर किसी भी तरह से आपका यूज़र नेम और पासवर्ड निकाल सकता है। इसके लिए उनके पास कई तरह के टूल्स होते है। इसी तरह ओटीपी पहले से ही सेट नहीं की जाती है। इसके लिए एक समय सीमा तय की जाती है। जो हर बार अलग-अलग डिजिट के रूप में प्राप्त होता है।

NREGA Job Card List Haryana 2022 – नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट हरियाणा

ऐसी ही अन्य सरकारी व गैर सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट mcpanchkula.org को बुकमार्क अवश्य करें ।

Leave a Comment