घर मकान या जमीन खरीदते वक्त रखें इन बातों का ध्यान वरना हो बड़ा नुकसान

अकसर लोग जब घर शिफ्ट करते हैं तो अपनी पुरानी प्रॉपर्टी बेच देते हैं। लेकिन प्रॉपर्टी बेचते समय कुछ बातों का ध्यान नहीं रखते हैं जिससे उन्हें भविष्य में नुकसान झेलना पड़ जाता है। इस लेख में हम आपको घर मकान या जमीन खरीदते-बेचते समय ध्यान रखने वाली 10 महत्वपूर्ण बातों के बारे में बताएंगे। तो चलिए सम्पूर्ण जानकारी के लिए लेख में आगे तक बने रहें।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
घर मकान या जमीन खरीदते वक्त रखें इन बातों का ध्यान वरना हो बड़ा नुकसान
Contents hide
1 घर मकान या जमीन खरीद रहे हैं तो इन 10 दस्तावेजों का ध्यान रखें –

घर मकान या जमीन खरीद रहे हैं तो इन 10 दस्तावेजों का ध्यान रखें –

प्रॉपर्टी खरीद या बेचते समय कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना जरूरी है। अगर इन बातों का ध्यान नहीं रखा जाता है, तो इससे आपको बड़ा नुकसान हो सकता है। यहां हम आपको कुछ ऐसी बातें बता रहे हैं, जिनका ध्यान आपको प्रॉपर्टी खरीद या बेचते समय जरूर रखना चाहिए।

1. प्रॉपर्टी के बारे में पूरी जानकारी लें

प्रॉपर्टी खरीद या बेचने से पहले उस प्रॉपर्टी के बारे में पूरी जानकारी लेना जरूरी है। इसमें प्रॉपर्टी का स्थान, आकार, मूल्य, आसपास का माहौल, आदि शामिल हैं। प्रॉपर्टी का स्थान और आसपास का माहौल खासतौर पर महत्वपूर्ण है। अगर प्रॉपर्टी का स्थान अच्छा नहीं है या आसपास का माहौल खराब है, तो इससे प्रॉपर्टी की कीमत कम हो सकती है। इससे आपको सही निर्णय लेने में मदद मिलेगी और आपको किसी भी तरह का नुकसान होने से बचाया जा सकेगा।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

2. प्रॉपर्टी के दस्तावेज अच्छी तरह से चेक करें

प्रॉपर्टी खरीदने से पहले उसके सभी दस्तावेज अच्छी तरह से चेक करें। इसमें रजिस्ट्री, खसरा, नक्शा, बिजली और पानी का कनेक्शन, आदि शामिल हैं। अगर दस्तावेज में कोई कमी या गलती है, तो इससे आपको बाद में परेशानी हो सकती है।

दस्तावेजों की जांच करते समय निम्नलिखित बातों पर ध्यान दें:

  • रजिस्ट्री: रजिस्ट्री में प्रॉपर्टी का मालिक कौन है, प्रॉपर्टी का क्षेत्रफल कितना है, आदि जानकारी शामिल होनी चाहिए।
  • खसरा: खसरा में प्रॉपर्टी की स्थिति, उसका नंबर, आदि जानकारी शामिल होनी चाहिए।
  • नक्शा: नक्शे में प्रॉपर्टी की सीमा, उसके आसपास की संपत्तियां, आदि जानकारी शामिल होनी चाहिए।
  • बिजली और पानी का कनेक्शन: बिजली और पानी के कनेक्शन के दस्तावेज भी जांच लें।

3. प्रॉपर्टी का निरीक्षण करवाएं

प्रॉपर्टी खरीदने से पहले उसका निरीक्षण करवाना बहुत जरूरी है। इससे आपको प्रॉपर्टी की वास्तविक स्थिति के बारे में पता चल सकेगा और आप बाद में किसी भी तरह के नुकसान से बच सकते हैं।

निरीक्षण करवाते समय निम्नलिखित बातों पर ध्यान दें:

  • प्रॉपर्टी की बाहरी स्थिति: प्रॉपर्टी की दीवारें, छत, दरवाजे, खिड़कियां, आदि की स्थिति की जांच करें।
  • प्रॉपर्टी की आंतरिक स्थिति: प्रॉपर्टी के फर्श, दीवारें, छत, बिजली और पानी के कनेक्शन, आदि की स्थिति की जांच करें।
  • प्रॉपर्टी की मरम्मत की आवश्यकता: अगर प्रॉपर्टी की मरम्मत की जरूरत है, तो उसकी लागत का अनुमान लगाएं।

4. प्रॉपर्टी की कीमत का सही आकलन करें

प्रॉपर्टी खरीदने से पहले उसकी कीमत का सही आकलन करना बहुत जरूरी है। इससे आपको बाद में किसी भी तरह की परेशानी से बचाया जा सकता है। इसके लिए आप किसी अनुभवी व्यक्ति या रजिस्ट्री ऑफिसर से सलाह ले सकते हैं। अगर आप प्रॉपर्टी की कीमत ज्यादा दे देते हैं, तो इससे आपको नुकसान हो सकता है।

कीमत का आकलन करते समय निम्नलिखित बातों पर ध्यान दें:

  • प्रॉपर्टी का स्थान: प्रॉपर्टी का स्थान सबसे महत्वपूर्ण कारक है। अगर प्रॉपर्टी का स्थान अच्छा है, तो उसकी कीमत अधिक होगी।
  • प्रॉपर्टी का आकार: प्रॉपर्टी का आकार भी एक महत्वपूर्ण कारक है। अगर प्रॉपर्टी का आकार बड़ा है, तो उसकी कीमत अधिक होगी।
  • प्रॉपर्टी का आसपास का माहौल: प्रॉपर्टी का आसपास का माहौल भी एक महत्वपूर्ण कारक है। अगर आसपास का माहौल अच्छा है, तो उसकी कीमत अधिक होगी।
  • प्रॉपर्टी का बाजार मूल्य: प्रॉपर्टी का बाजार मूल्य भी एक महत्वपूर्ण कारक है। आपको प्रॉपर्टी के समान क्षेत्र में स्थित समान प्रकार की संपत्तियों की कीमतों की जांच करनी चाहिए।

5. प्रॉपर्टी की खरीदारी के लिए एक समझौता लिखवाएं

प्रॉपर्टी खरीदने से पहले एक समझौता लिखवाएं। इस समझौते में प्रॉपर्टी की कीमत, भुगतान की शर्तें, कब्जे की तिथि, आदि शामिल हों। समझौता लिखवाने से बाद में किसी भी तरह के विवाद से बचा जा सकता है।

6. प्रॉपर्टी का भुगतान तुरंत न करें

प्रॉपर्टी का भुगतान तुरंत न करें। पहले प्रॉपर्टी के सभी दस्तावेज और समझौता अच्छे से देख लें। अगर सब कुछ सही है, तो ही भुगतान करें।

7. प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री करवाएं

प्रॉपर्टी खरीदने के बाद उसकी रजिस्ट्री करवाएं। रजिस्ट्री करवाने से प्रॉपर्टी की मालिकी आपके नाम हो जाएगी।

8. प्रॉपर्टी का बीमा करवाएं

प्रॉपर्टी का बीमा करवाना भी जरूरी है। इससे अगर प्रॉपर्टी को कोई नुकसान होता है, तो इससे आपको आर्थिक नुकसान से बचा जा सकता है।

9. प्रॉपर्टी को किराए पर देने से पहले सावधानी बरतें

अगर आप प्रॉपर्टी को किराए पर देने की सोच रहे हैं, तो पहले सावधानी बरतें। किरायेदार को अच्छी तरह से परख लें। किरायेदार का नाम, पता, फोन नंबर, आदि पता कर लें। किरायेदार को एक समझौता भी लिखवाएं।

10. प्रॉपर्टी को बेचते समय ध्यान रखें

प्रॉपर्टी को बेचते समय भी कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है। इसमें प्रॉपर्टी की कीमत, भुगतान की शर्तें, कब्जे की तिथि, आदि शामिल हैं। प्रॉपर्टी को बेचने से पहले एक समझौता भी लिखवाएं।

इन बातों का ध्यान रखकर आप प्रॉपर्टी खरीद या बेचते समय होने वाले नुकसान से बच सकते हैं

Leave a Comment