229 साल में भी गरीबी का अंत नहीं, धनी बन रहे और भी धनवान: ताज़ा रिपोर्ट से जताई चिंता

दुनिया भर में अमीर और गरीब के बीच की खाई को लेकर ऑक्सफैम की रिपोर्ट ने चिंता की नई लहरें फैला दी हैं। इस रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया के पांच सबसे अमीर व्यक्तियों की संपत्ति 2020 के बाद से अविश्वसनीय रूप से 1.4 करोड़ डॉलर प्रति घंटे की दर से बढ़ी है। इस बीच, ग़रीबों की संख्या और उनकी आय में गिरावट आ रही है, जो वैश्विक असमानता की एक गंभीर तस्वीर पेश करता है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
229 साल में भी गरीबी का अंत नहीं, धनी बन रहे और भी धनवान: ताज़ा रिपोर्ट से जताई चिंता
229 साल में भी गरीबी का अंत नहीं

ग़रीबी रेखा से नीचे होने होने का मुख्य कारण

रिपोर्ट के अनुसार, 2022 में दुनिया में 9.2 अरब लोग गरीबी रेखा से नीचे रहते थे। यह संख्या 2020 की तुलना में 5 अरब से अधिक है। गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों की संख्या में वृद्धि का सबसे बड़ा कारण कोविड-19 महामारी है। महामारी ने दुनिया भर में अर्थव्यवस्थाओं को नुकसान पहुंचाया है और लाखों लोगों को गरीबी में धकेल दिया है।

अमीर लोग और अमीर कैसे हो रहे है ?

दुनिया के सबसे अमीर 10 लोगों की संपत्ति 2022 में 1.5 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच गई है। यह संख्या 2021 की तुलना में 40% अधिक है। अमीर लोगों की संपत्ति में वृद्धि का एक कारण शेयर बाजारों में उछाल है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

अमीर लोग अपने धन को बढ़ाने के लिए प्रौद्योगिकी से भी लाभ उठा सकते हैं। प्रौद्योगिकी ने कई नए व्यवसायों के विकास को जन्म दिया है, जो अमीर लोगों को नए अवसर प्रदान करते हैं।

गरीबी ख़त्म करने के उपाय

रिपोर्ट में कहा गया है कि गरीबी को खत्म करने के लिए सरकारों और व्यवसायों को मिलकर काम करने की जरूरत है। सरकारों को सामाजिक सुरक्षा कार्यक्रमों को मजबूत करने और अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए नीतियों को लागू करने की जरूरत है। व्यवसायों को अपने कर्मचारियों को उचित वेतन और लाभ देने की जरूरत है।

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि गरीबी खत्म करने के लिए लोगों को सशक्त बनाने की जरूरत है। लोगों को शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल और अन्य बुनियादी सेवाओं तक पहुंच की जरूरत है। लोगों को अपने अधिकारों के बारे में जागरूक होने और अपने हितों की वकालत करने की जरूरत है।

Leave a Comment