संत रविदास शिक्षा सहायता योजना आवेदन फॉर्म डाउनलोड

उत्तर प्रदेश की राज्य सरकार के द्वारा संत रविदास शिक्षा सहायता योजना की शुरुवात की गयी है। इस योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश राज्य के गरीब तख्ते के लोग जैसे श्रमिकों को तथा जो अपना जीवन यापन गरीबी रेखा से नीचे कर रहे हैं उनको कुछ आर्थिक सहायता प्रदान करना है। श्रमिक श्रेणी से संबंधित बच्चों को शिक्षा हेतु सहायता प्रदान करने के लिए केंद्रीय एवं राज्य सरकार के द्वारा कई तरह की योजनाओं को लॉन्च किया जाता है। ताकि आर्थिक रूप से कमजोर श्रेणी के बच्चों को शिक्षा से वंचित ना रहना पड़े।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

योजना के अंतर्गत शिक्षा ग्रहण कर विद्यार्थी अपने भविष्य को उज्वल बना सकते है। तो आइये जानते है संत रविदास शिक्षा सहायता योजना से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी को विस्तार रूप से।

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना :आवेदन प्रक्रिया व एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड
संत रविदास शिक्षा सहायता योजना :आवेदन प्रक्रिया व एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना केवल उन्हीं छात्रों के लिए है जो केंद्र तथा राज्य सरकार के किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से अपनी शिक्षा को पूरी कर रहे हैं। इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश राज्य के छात्रों जिनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है तथा गरीब रेखा के नीचे गुजर बसर कर रहे हो उनको सरकार की तरफ छात्रवृति के तौर पर कुछ धनराशि प्रदान की जाएगी।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

इस योजना के लिए केवल 1 से 12 तक के छात्र छात्राएँ ही अपना आवेदन दे सकते हैं साथ ही आईटीआई तथा पॉलिटेक्निकल के छात्र भी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। इस योजना के माध्यम से अब प्रदेश का हर छात्र अपनी प्रारम्भिक स्कूली शिक्षा पूरी कर सकता है।

योजना का नाम संत रविदास शिक्षा सहायता योजना
राज्य उत्तरप्रदेश
किसके द्वारा शुरू की गयी उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा
लाभार्थी उत्तर प्रदेश के श्रमिकों तथा गरीब तख्ते के नागरिको के बच्चे
वर्ष 2024
उद्देश्य राज्य के श्रमिकों के बच्चों की पढ़ाई के लिए आर्थिक सहायता करना
विभाग श्रम विभाग
आवेदन का प्रकार ऑनलाइन तथा ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइट upbocw.in
योजना से जुडी जानकारी upbocw.in/pdf

योजना का उद्देश्य

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना का मुख्य उद्देश्य यह है की राज्य की श्रमिकों के बच्चों को कुछ आर्थिक सहायता देकर उनकी प्रारम्भिक शिक्षा को पूरी कराना है। इसके तहत सरकार आर्थिक सहायता के तौर पर 100 रुपये से 5000 रुपये तक की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। इस योजना का लाभ परिवार में प्रथम दो बच्चे ही ले सकते हैं।

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना के तहत दी जाने वाली छात्रवृति

कक्षा 1 से 5 तक 100 रु प्रतिमाह
कक्षा 6 से 8 तक 150 रु प्रतिमाह
कक्षा 9 से 10 तक 200 रु प्रतिमाह
कक्षा 11 से 12 तक 250 रु प्रतिमाह
आईटीआई से सम्बंधित पाठ्यक्रम 500 रु प्रतिमाह
पॉलिटेक्निक से संबंधित पाठ्यक्रम 800 रु प्रतिमाह
इंजीनियरिंग से संबंधित पाठ्यक्रम 3000 रु प्रतिमाह
मेडिकल से संबंधित पाठ्यक्रम 5000 रु प्रतिमाह

लाभ एवं विशेषताएँ

  • संत रविदास शिक्षा सहायता योजना की शुरुआत उत्तर प्रदेश राज्य के द्वारा की गयी जिससे राज्य के श्रमिकों के बच्चों को थोड़ी आर्थिक सहायता मिल पाए।
  • प्रत्येक लाभार्थी को सरकार की तरफ से प्रतिमाह 100 रूपये से लेकर 5000 रुपये की धनराशि प्रदान की जाएगी।
  • आवेदन करने वाले बच्चों की उम्र अधिकतम 25 वर्ष तक होनी चाहिए।
  • जो छात्र किसी भी कारणवश अन्य छात्रवृति योजनाओं के साथ नहीं जुड़ पाए हैं तो वो इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • इस योजना में आवेदन करने के लिए बच्चे की न्यूनतम 60% उपस्थिति होनी अनिवार्य है।
  • उत्तर प्रदेश सरकार इंजीनियरिंग तथा मेडिकल की स्नातकोत्तर डिग्री लेने के लिए छात्र छात्रों को 8000 रूपये प्रदान करेगी। साथ में किसी अन्य विषय पर शोध करने के लिए 12000 हज़ार रुपए प्रतिमाह प्रदान करेगी। और इसका लाभ उठाने के लिए अधिकतम आयु सीमा 35 वर्ष रखी गयी है।
  • जो भी बच्चे केंद्र या राज्य के किसी मान्यता प्राप्त संस्थान अथवा स्कूल से अपनी शिक्षा प्राप्त कर रहा हो केवल उनको ही इसका लाभ दिया जाएगा।
  • संत रविदास शिक्षा सहायता योजना का लाभ परिवार के प्रथम दो बच्चो को ही दिया जाएगा।
  • जो भी छात्र किसी भी कक्षा में एक बार फेल हो गया हो तो उसे इस योजना का लाभ उसके बाद नहीं दिया जाएगा।
  • सभी लाभार्थी छात्रों को भुगतान तिमाही के आधार पर सीधे उनके बैंक खाते में कर दिया जाएगा।
  • इस योजना के लागू होने से राज्य में साक्षारता दर में वृद्धि हो जाएगा।

पात्रता मानदंड

  • सर्वप्रथम आपको उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • जिन छात्र छात्राओं के माता पिता बोर्ड में पंजीकृत कामगार हैं वो भी इस योजना के लिए अपना आवेदन कर सकते हैं।
  • जो भी छात्र छात्राएं आवेदन करना चाहते हैं उनकी उम्र प्रत्येक वर्ष की 1 जुलाई को 25 वर्ष से कम होनी चाहिए।
  • जो भी लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें केंद्र या राज्य के किसी मान्यता प्राप्त संस्थान अथवा स्कूल से अपनी शिक्षा प्राप्त करनी होगी केवल तभी आपको इसका लाभ दिया जाएगा।
  • उत्तर प्रदेश राज्य में रह रहे श्रमिक परिवार में से केवल दो बच्चों को ही इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • इस योजना के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थी का बैंक खाता होना अनिवार्य है जिससे प्रोत्साहन की राशि सीधे लाभार्थी के बैंक एअकाउंट में आ जाए।

आवेदन करने के लिए दस्तावेज

अगर आप भी संत रविदास शिक्षा प्रोत्साहन योजना (RSPY) में आवेदन करना चाहते हो तो आपको कुछ दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी जिनकी जानकारी हम नीचे दे रहें हैं।

  • आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ
  • आय प्रमाण पत्र
  • स्कूल का प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता विवरण
  • निवास प्रमाण पत्र
  • माता पिता का श्रमिक कार्ड
  • मोबाइल नंबर

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना को ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको श्रम विभाग की अधिकारी वेबसाइट upbocw.in पर जाना होगा।
  • आपके सामने होम पेज खुल जाएगा तथा जब आप नीचे स्क्रॉल करेंगे तो आपके सामने योजना आवेदन (आवेदन करें) का विकल्प दिखाई देगा आपको उसपर क्लिक करना होगा।
संत रविदास शिक्षा सहायता योजना एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड
संत रविदास शिक्षा सहायता योजना एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड
  • जैसे ही आप आवेदन करे के विकल्प पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा इसमें आपको अपना पंजीकृत मंडल, योजना, पंजीकृत आधार कार्ड तथा अपना पंजीकृत मोबाइल नंबर को डालना होगा।
संत रविदास शिक्षा सहायता योजना आवेदन प्रक्रिया
संत रविदास शिक्षा सहायता योजना आवेदन प्रक्रिया
  • अब आपको “आवेदन खोले” के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब स्क्रीन पर आपके सामने आपका आवेदन पत्र खुल जाएगा।
  • अब आपको अपने आवेदन पत्र में पूछी गयी सभी प्रकार की महत्वपूर्ण जानकारियों को डालना होगा।
  • अब आपसे मांगी गए दस्तावेजों को पीडीऍफ़ के फॉर्म में आपको उपलोड करनी होगी।
  • अब आपको अंत में सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह आपका आवेदन आसानी से सबमिट हो जाएगा।

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना को ऑफलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको अपने तहसील कार्यालय या लेबर ऑफिस जाना होगा।
  • उसके बाद आपको संत रविदास शिक्षा सहायता योजना का आवेदन पत्र मांगना होगा।
  • आवेदन फॉर्म मिल जाने के बाद आपको उसमे पूछी गयी सभी प्रकार की जानकारियों को भरना होगा।
  • तथा आवेदन पत्र में मांगी गए दस्तावेजों को उसके साथ सलंग्न करना होगा।
  • अब अंत में आपको इसे कार्यालय में जमा करना होगा।
  • इस तरह आपका आवेदन फॉर्म ऑफलाइन तरीके से आसानी से सबमिट हो जाएगा।

ऑनलाइन माध्यम से आवेदन पत्र की स्थिति जानने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट upbocw.in पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपको होम स्क्रीन पर “आवेदन की स्तिथि देखे” के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने नया पेज खुल जाएगा इसमें आपको अपना “पंजीकरण संख्या” तथा “आवेदन की संख्या” को डालना होगा।
  • अब आपको कैप्चा कोड को भरना होगा तथा सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके आवेदन की स्तिथि आपके स्क्रीन पर होगी।

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना क्या है?

इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश राज्य के छात्रों जिनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है तथा गरीब रेखा के नीचे गुजर बसर कर रहे हो उनको सरकार की तरफ छात्रवृति के तोर पर कुछ धन राशि प्रदान की जाएगी।

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना का उद्देश्य क्या है?

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना का मुख्य उद्देश्य यह है की राज्य की श्रमिकों के बच्चों को कुछ आर्थिक सहायता देकर उनकी प्रारम्भिक शिक्षा को पूरी कराना है।

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना तहत छात्रों को कितनी धनराशि छत्रवृति के तौर पर दी जाएगी?

इस योजना के तहत सरकार आर्थिक सहायता के तौर पर 100 रूपये से 5000 रुपये तक की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। साथ में सरकार इंजीनियरिंग तथा मेडिकल की स्नातकोत्तर डिग्री लेने के लिए छात्र छात्रों को 8000 रूपये प्रदान करेगी साथ में किसी अन्य विषय पर शोध करने के लिए 12000 हज़ार रुपए प्रतिमाह प्रदान करेगी।

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना की आधिकारिक वेबसाइट क्या है?

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना की आधिकारिक वेबसाइट upbocw.in है।

Leave a Comment