समग्र शिक्षा अभियान-2.0: Samagra Shiksha उद्देश्य, लाभ व कार्यान्वयन की प्रक्रिया

केंद्र सरकार द्वारा देश के बच्चों को बेहतर शिक्षा प्रणाली प्रदान करने के लिए समग्र शिक्षा अभियान-2.0 की शुरुआत की गई है। जिससे शिक्षा के क्रियान्वयन में सकारात्मक परिवर्तन किया जायेगा। साथ ही देश के प्रत्येक विद्यार्थी तक नई योजनाओं का लाभ पहुंचाया जायेगा।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

सरकार द्वारा शिक्षा नीतियों को बेहतर बनाने के लिए निरन्तर प्रयास किये जाते है, जिससे देश के प्रत्येक बच्चे को शिक्षित बनाने के लक्ष्य को पूरा किया जा सकेगा। शिक्षा प्रणाली मजबूत होने से समाज के देश का भविष्य भी सुरक्षित हो सकेगा एवं प्रत्येक विद्यार्थी अपना जीवन-यापन करने में सक्षम हो सकेगा।

आज हम आपके साथ Samagra Shiksha Abhiyan-2.0 से संबंधित सभी जानकारी साझा करने जा रहे है। प्रत्येक विद्यार्थी जो स्कीम का लाभ प्राप्त करना चाहते है, वह इस आर्टिकल को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़े।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

भारत सरकार द्वारा विद्यार्थियों को आर्थिक लाभ प्रदान करने के लिए सरकार कई योजनाओं की शुरुआत की जाती है। जिनमे से एक प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना भी शामिल है। जिसके माध्यम से लड़कों को – 2500 प्रति महीना एवं लड़कियों को – 3000 रूपये प्रति महीना छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी।

समग्र शिक्षा अभियान-2.0

समग्र शिक्षा अभियान-2.0 देश की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा 4 अगस्त 2021 में राज्य के छात्रों की शिक्षा के मध्य किसी प्रकार की आर्थिक एवं सामाजिक समस्या रूकावट न आने पाए इसलिए संचालित किया गया है।

Samagra Shiksha Abhiyan-2.0 के तहत देश के प्रत्येक आर्थिक रूप से गरीब विद्यार्थी को लाभ प्रदान किया जायेगा। जिससे उन्हें किसी भी प्रकार से शिक्षा की सुविधा से वंचित न रहना पड़े। योजना के माध्यम से भविष्य में आने वाले दिनों में विद्यार्थियों को आधुनिक माध्यम से शिक्षा का लाभ प्रदान किया जायेगा। जैसे :- बाल वाटिका, स्मार्ट क्लास एवं अत्यधिक शिक्षित एवं प्रशिक्षित अध्यापक इत्यादि।

साथ ही विद्यार्थियों को प्रतिमाह 500 रुपये की वित्तीय राशि प्रदान की जाएगी यह राशि सरकार द्वारा डीबीटी के माध्यम से सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में जमा कर दिया जायेगा।

केंद्र सरकार द्वारा वर्तमान समय में योजना की शुरुआत पंजाब राज्य में की गई है। जिसके लिए शिक्षा मंत्रालय ने 1102.91 करोड़ का वित्तीय बजट प्रस्तावित किया गया है। जिसमे केंद्र सरकार द्वारा 60% एवं पंजाब सरकार द्वारा 40% का वित्तीय सहयोग प्रदान किया गया है।

योजना को सुचारु रूप से क्रियान्वित करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा 2.94 लाख करोड़ रुपए का वित्तीय बजट निर्धारित किया गया है।

Highlight of Samagra Shiksha Abhiyan-2.0

आर्टिकल समग्र शिक्षा अभियान-2.0
किसके द्वारा शुरू की गई है भारत सरकार द्वारा
उद्देश्य शिक्षा प्रणाली में निरंतर विकास करना
लाभार्थी देश के विद्यार्थी
वित्तीय बजट 2.94 लाख करोड़ रुपए
आधिकारिक वेबसाइट PRABANDH (samagrashiksha.in)

समग्र शिक्षा अभियान-2.0 वित्तीय बजट

केंद्र सरकार द्वारा अभियान को संचालित करने के लिए 2.94 लाख करोड़ रुपये का वित्तीय बजट निर्धारित किया गया है। जिससे कई कार्यों को क्रियान्वित किया जायेगा। जैसे :- बालिकाओं को सेनेट्री पैड प्रदान करना इत्यादि कार्य, यह बजट 1 अप्रैल 2021 से लेकर 31 मार्च 2026 किर्यान्वित किया जायेगा।

समग्र शिक्षा अभियान-2.0 का कार्य

अभियान के माध्यम से प्रत्येक राज्य के सरकारी विद्यालयों में कार्यों की एक विधिवत सूची बनाकर उसे ऑनलाइन माध्यम से सरकार के पास जमा किया जायेगा। जिसके तहत विद्यालयों में होने वाले परिवर्तनों जैसे : – विज्ञप्तियों, udise के अनुसार कवरेज, अनुमोदित परिव्यय, अनुमोदन कि स्कूल वार सूची, स्कूल वार अंतराल, अनुमोदन आदि का लेखा-जोखा सम्मिलित होगा।

इस Samagra Shiksha Abhiyan-2.0 को कार्यरत करने के लिए डाटा विजुलाइजेशन डैशबोर्ड का निर्माण भी किया जायेगा। इससे स्कीम में पारदर्शिता का भाव आएगा।

समग्र शिक्षा अभियान-2.0 उद्देश्य

Samagra Shiksha Abhiyan-2.0 का मुख्य उद्देश्य देश में शिक्षा का विस्तार करना है। विद्यार्थियों को नए-नए शिक्षा प्रणालियों के माध्यम से आधुनिक शिक्षा प्रदान की जाएगी। विद्यार्थियों को आर्थिक एवं सामाजिक रूप से मजबूत बनाया जा सकता है। सरकार द्वारा इस अभियान को 6 वर्षों तक पूरी तरह से क्रियान्वित किया जायेगा।

जिससे प्रत्येक क्षेत्र के बच्चे शिक्षा प्राप्त करके अपने भविष्य को उज्जवल बना सकेंगे एवं अपने परिवार की आर्थिक स्तिथि में सकारात्मक सुधार कर सकेंगे।

समग्र शिक्षा अभियान-2.0 लाभ एवं विशेषताएं

  • Samagra Shiksha Abhiyan-2.0 की शुरुआत भारत सरकार द्वारा की गई है।
  • योजना के माध्यम से देश के विद्यार्थियों को लाभ प्रदान किया जायेगा।
  • अभियान की शुरुआत 4 अगस्त 2021 में की गई है।
  • केंद्र सरकार द्वारा निर्मित अभियान के दौरान शिक्षा के क्षेत्र में विकास करने के लिए कई लाभकारी कार्यों को किर्यान्वित किया जायेगा।
  • योजना को संचालित करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा 2.94 लाख करोड़ रुपये तक का वित्तीय बजट निर्धारित किया जायेगा।
  • सरकार द्वारा आर्थिक रूप से गरीब परिवार के विद्यार्थियों को प्रतिमाह 500 रूपये तक की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • इस अभियान को 1 अप्रैल 2021 से लेकर 31 मार्च 2026 तक संचालित किया जायेगा। जिसके तहत कई लाभकारी कार्यों को शुरू किया जायेगा।
  • स्कीम के तहत निर्धारित वित्तीय बजट दो भागो में विभाजित किया जायेगा। जिसके तहत केंद्र सरकार द्वारा 1.85 लाख करोड़ रुपये प्रदान किये जायेंगे।
  • देश के प्रत्येक छात्र को विद्यालय आने-जाने के लिए प्रतिवर्ष 6,000 रुपये की वित्तीय सहायता मुहैया करवाई जाएगी।
  • अभियान के माध्यम से देश में आधुनिक शिक्षा नीतियों का विस्तार किया जायेगा। जिससे शिक्षा प्रणाली की नीव मजबूत हो सकेगी।
  • बच्चों को उच्चस्तर की शिक्षा प्रदान करके उनके भविष्य को उज्जवल बनाया जा सकेगा।
  • आर्थिक रूप से गरीब परिवारों के छात्रों को स्कीम के माध्यम से आर्थिक लाभ पहुंचाया जायेगा।
  • विद्यालयों में प्रशिक्षित अध्यापकों को नियुक्त किया जायेगा।
  • अभियान के दौरान विद्यालयों का वातावरण अनुशासित बनाया जायेगा।
  • राज्य सरकार द्वारा संचालित योजना के लिए अनुमति एवं बजट प्रस्ताव को ऑनलाइन माध्यम से केंद्र सरकार तक पहुंचाई जाती है। जिससे निर्णयों में पारदर्शिता बनी रहेगी।
  • केंद्र सरकार द्वारा संचालित Samagra Shiksha Abhiyan-2.0 के माध्यम से राज्यों में निर्मित विद्यालयों में बाल वाटिका, स्मार्ट कक्षा, प्रशिक्षित शिक्षकों की व्यवस्था की जाएगी।
  • योजना के अंतर्गत आंगनवाड़ी के कर्मचारियों को उत्तम निःशुल्क प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा। हॉस्टल में रह रही बालिकाओं को प्रतिमाह सेनेट्री नेपकिन का वितरण एवं कस्तूरबा गांधी विश्वविद्यालय का विकास करना जैसे कार्यों को भी शामिल किया जायेगा।
समग्र शिक्षा अभियान-2.0 मुख्य बिंदु
  • वार्षिक कार्य योजना :- स्कीम के तहत केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार पोर्टल के माध्यम से वार्षिक कार्य योजना एवं बजट प्रस्ताव शिक्षा मंत्रालय को भेज सकते है। अभियान के तहत यह सभी कार्य करने के लिए किसी सरकारी दफ्तर में जाने की आवश्यकता नहीं होगी, ऑनलाइन माध्यम से ही सुझाव प्रस्तुत किया जा सकता है।
  • स्वीकृति आदेश का ऑनलाइन सर्जन :- योजना के माध्यम से अनुमति एवं प्रत्वों को ऑनलाइन माध्यम से स्वीकृति प्रदान की जाएगी। सभी राज्यों को ऑनलाइन माध्यम से केंद्र सरकार द्वारा आदेश प्रदान किये जायेंगे।
  • ऑनलाइन मासिक गतिविधियां :- अभियान के तहत राज्यों में प्रतिमाह होने वाली गतिविधियों का संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत किया जायेगा।
  • स्कूल वार प्रगति रिपोर्ट ऑनलाइन जमा करना :- शिक्षा प्रणाली में किया गया परिवर्तन एवं नए विद्यालयों के निर्माण संबंधित सभी जानकारी पोर्टल पर प्रस्तुत की जाएगी।
  • सक्रिय लॉगइन :- देश के सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशो, 740 जिले, 8100 ब्लॉक एवं 12 लाख स्कूलों को पोर्टल पर लॉगिन करवाया जायेगा।

समग्र शिक्षा अभियान-2.0 लॉगिन प्रोसेस

  • सर्वप्रथम आपको अभियान की आधिकारिक वेबसाइट PRABANDH (samagrashiksha.in) को ओपन करना होगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको लॉगिन फॉर्म दिखाई देगा।
  • फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे :- यूजर आईडी एवं पासवर्ड दर्ज कर दीजिये।
  • अब कैप्चा कोड दर्ज करके लॉगिन के विकल्प पर क्लिक कर दीजिये।
  • इस प्रकार आपका समग्र शिक्षा अभियान-2.0 लॉगिन प्रोसेस पूरा हो जायेगा।

समग्र शिक्षा अभियान-2.0 से संबंधित प्रश्न एवं उत्तर

Samagra Shiksha Abhiyan-2.0 की शुरुआत किसके द्वारा की गई हैं ?

Samagra Shiksha Abhiyan-2.0 की शुरुआत भारत सरकार द्वारा शुरू की गई है।

समग्र शिक्षा अभियान-2.0 के तहत लाभार्थी कौन है ?

समग्र शिक्षा अभियान-2.0 के तहत लाभार्थी देश के विद्यार्थी है।

Samagra Shiksha Abhiyan-2.0 का वित्तीय बजट क्या निर्धारित किया गया है ?

Samagra Shiksha Abhiyan-2.0 का वित्तीय बजट 2.94 लाख करोड़ रुपए निर्धारित किया गया है।

समग्र शिक्षा अभियान-2.0 की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

समग्र शिक्षा अभियान-2.0 की आधिकारिक वेबसाइट PRABANDH (samagrashiksha.in) है।

Leave a Comment