भारी डिमांड पर रामानंद सागर की Ramayana के टेलीकास्ट का ऐलान, जानें कब और कहां देख पाएंगे

रामानंद सागर की प्रिय टेलीविजन श्रृंखला रामायण भारी मांग के कारण भव्य वापसी के लिए तैयार है। प्रतिष्ठित शो, जो मूल रूप से 1987 में प्रसारित हुआ और पूरे भारत में दर्शकों के दिलों पर छा गया, टेलीविजन स्क्रीन पर वापसी कर रहा है। रामानंद सागर द्वारा बनाई गई रामायण श्रृंखला लाखों लोगों के दिलों में एक विशेष स्थान रखती है। यह 90 के दशक में ऐतिहासिक शो था और इसकी लोकप्रियता आज भी कायम है। सभी धर्मों के लोगों ने इस महाकाव्य गाथा को अपनाया और अब इसके प्रशंसकों के लिए अच्छी खबर है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
भारी डिमांड पर रामानंद सागर की Ramayana के टेलीकास्ट का ऐलान, जानें कब और कहां देख पाएंगे
भारी डिमांड पर रामानंद सागर की Ramayana के टेलीकास्ट का ऐलान, जानें कब और कहां देख पाएंगे

फिर से लौट रहा रामानंद सागार का रामायण

भगवान राम की मंत्रमुग्ध कर देने वाली कहानी को फिर से जीने के लिए तैयार हो जाइए क्योंकि कालजयी क्लासिक, रामायण, एक बार फिर से प्रसारित होने के लिए तैयार है। दूरदर्शन के आधिकारिक अकाउंट ने इसके बारे में ट्वीट किया, जिससे उत्साही लोगों के बीच हलचल मच गई।

जल्द ही डीडी नेशनल पर आ रहा है

दूरदर्शन ने दर्शकों के बीच पुरानी यादों को जगाते हुए एक वीडियो क्लिप भी पोस्ट किया है। कैप्शन में लिखा है,
“रिपु रेन जीति सुजस सुर गावत,
सीता सहित अंजू प्रभु आवत,”


एक बार फिर वापस आ गया है पूरे भारत का सबसे लोकप्रिय शो ‘रामायण’। रामानंद सागर की रामायण एक बार फिर #DDNational पर, जल्द देखिए!

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

ये थी शो की स्टारकास्ट

मूल श्रृंखला में भगवान राम के रूप में अरुण गोविल, माता सीता के रूप में दीपिका चिखलिया और लक्ष्मण के रूप में सुनील लहरी थे। इन अभिनेताओं ने किरदारों को जीवंत बना दिया और आज भी अपने किरदारों के लिए पूजनीय हैं। दरअसल, अरुण गोविल और दीपिका चिखलिया को लोग अक्सर भगवान राम और सीता के रूप में ही देखते हैं।

लॉकडाउन में भी खूब देखा गया रामायण

विशेष रूप से, रामायण ने हाल ही में COVID-19 महामारी के कारण लगे लॉकडाउन के दौरान महत्वपूर्ण ध्यान आकर्षित किया। इसके पुन: प्रसारण ने चुनौतीपूर्ण समय में लोगों को आराम और मनोरंजन प्रदान किया।

दिलचस्प बात यह है कि रामायण की वापसी अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के बाद हो रही है। मंदिर के प्रतिष्ठा समारोह में भगवान राम, सीता और लक्ष्मण की उपस्थिति ने इस महाकाव्य को एक बार फिर प्रसारित करने की इच्छा जगा दी थी।

अंत में, रामानंद सागर की रामायण आज भी हमारे दिलों में एक विशेष स्थान रखती है, और इसकी वापसी एक महत्वपूर्ण अवसर है। प्रसारण तिथि के अपडेट के लिए बने रहें

Leave a Comment