Poonam Gupta Success Story : जानिए कैसे रद्दी पेपर से खड़ा किया 800 करोड़ का Empire, ऐसी है इनकी सफलता की कहानी

Poonam Gupta Success Story : सफलता प्राप्त करने में, मेहनत और किस्मत दोनों का महत्वपूर्ण योगदान होता है, और आज हम एक कहानी सुनेंगे जो इस सत्य को प्रमाणित करती है। दिल्ली के कॉलेज से इकोनॉमिक्स में स्नातक की डिग्री प्राप्त करने वाली पूनम गुप्ता आज एक 800 करोड़ के एंपायर की स्वामित्वी महिला उद्यमिता हैं। उन्होंने रद्दी पेपर को आधार बनाकर एक विशाल उद्यम की स्थापना की है, जिससे वे आज समृद्धि और सफलता की ऊंचाइयों पर हैं। इसके पीछे उनकी अद्वितीय मेहनत, निरंतर प्रयास और सही समय पर उठाए गए निर्णयों का एक महत्वपूर्ण योगदान है। इसके रूप में, उनकी कहानी हमें यह सिखाती है कि सफलता का मार्ग सिर्फ मेहनत और साही दिशा में कदम रखने से ही मिलता है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
Poonam Gupta Success Story : जानिए कैसे रद्दी पेपर से खड़ा किया 800 करोड़ का Empire, ऐसी है इनकी सफलता की कहानी
Poonam Gupta Success Story : जानिए कैसे रद्दी पेपर से खड़ा किया 800 करोड़ का Empire, ऐसी है इनकी सफलता की कहानी

दिल्ली में निवास करने वाली उदाहरणीय महिला उद्यमिता पूनम गुप्ता ने अपनी कंपनी PG पेपर के साथ एक ऐतिहासिक सफलता प्राप्त की है, जिसने 800 करोड़ रुपये का सालाना कारोबार किया है और उनकी कंपनी 60 देशों में उपस्थित है। इसके पीछे उनकी कड़ी मेहनत, सही निर्णय, और संघर्ष की कहानी है.

कुछ वर्ष पहले, अपनी MBA की डिग्री के बावजूद, पूनम को रोजगार में रुकावटें आईं। जब उनके पति को स्कॉटलैंड ट्रांसफर हो गया, तो उन्हें नौकरी की तलाश में कई बाधाएं आईं। इसके बावजूद, पूनम ने अपनी करियर को स्वयं पर करने का निर्णय लिया और रद्दी पेपर से बना कर एक नई दिशा में कदम बढ़ाया।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

पूनम ने रीसाइक्लिंग के माध्यम से बेकार कागज को फिर से उपयोग किया जा सकने वाले कागज में बदलने का कारोबार शुरू किया। उन्होंने कुशलता से इस क्षेत्र में कदम बढ़ाया और कंपनी ने विश्वभर में अपने ऑपरेशन को बढ़ाया।

PG पेपर के CEO के रूप में कार्यररत, पूनम गुप्ता ने दिखाया है कि मेहनत, निर्णय, और उत्साह के साथ हर कठिनाई को पार किया जा सकता है। उनकी कहानी एक प्रेरणास्त्रोत है जो हमें यह सिखाती है कि सही दिशा और ठोस उद्देश्य के साथ, कोई भी मुश्किल हो मुमकिन है।

Leave a Comment