Central Government Scheme: ‘नारी शक्ति योजना’: महिलाओं को 2.20 लाख रुपये देने का दावा गलत, PIB ने किया फैक्ट चेक

Central Government Scheme: समय-समय पर, केंद्र सरकार देश की महिलाओं की आर्थिक और सामाजिक स्थिति को सुधारने के लिए विभिन्न स्कीमों की शुरुआत करती रहती है। हाल ही में, सोशल मीडिया पर एक स्कीम के वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि केंद्र की मोदी सरकार ने महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए एक नई योजना शुरू की है। इस स्कीम का नाम ‘प्रधानमंत्री नारी शक्ति योजना’ है। इस योजना के अंतर्गत, सरकार हर महिला को 2.20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान कर रही है। सरकार ने इस स्कीम को महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से शुरू किया है। इसके माध्यम से, महिलाओं को स्वतंत्रता मिलेगी ताकि वे अपने जीवन को स्वतंत्रता से जी सकें।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
Central Government Scheme: 'नारी शक्ति योजना': महिलाओं को 2.20 लाख रुपये देने का दावा गलत, PIB ने किया फैक्ट चेक
Central Government Scheme: ‘नारी शक्ति योजना’: महिलाओं को 2.20 लाख रुपये देने का दावा गलत, PIB ने किया फैक्ट चेक

सोशल मीडिया पर वीडियो हो रहा है वायरल
‘इंडियन जॉब’ नामक एक यूट्यूब चैनल द्वारा एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार देश की हर महिने हर महिला को 2.20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान कर रही है। हालांकि, इस दावे की सच्चाई यह है कि केंद्र सरकार ने ऐसी कोई योजना नहीं शुरू की है जिसमें हर महिला को 2.20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जा रही हो। इसलिए, यदि आपको ऐसा कोई वीडियो मिलता है, तो आपको इसे गलत सूचना के रूप में देखना चाहिए।

PIB वीडियो की पता लगाई सच्चाई-
वायरल वीडियो की सच्चाई को जाँचने के लिए पीआईबी ने फैक्ट चेक किया है। उनके फैक्ट चेक में पता चला है कि केंद्र सरकार ने ‘प्रधानमंत्री नारी शक्ति योजना’ नाम की किसी भी योजना की शुरुआत नहीं की है। वायरल हो रही वीडियो पूरी तरह से फर्जी है और इंडियन जॉब का दावा गलत है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

इस तरह के फर्जी खबरों पर न करें विश्वास-
साइबर अपराध करने वाले लोग आजकल अक्सर फर्जी योजनाओं के दावे करके लोगों से उनकी व्यक्तिगत और वित्तीय जानकारी हासिल करते हैं। इसके बाद, वे इस जानकारी का दुरुपयोग करके लोगों के बैंक खातों को नुकसान पहुंचाते हैं। ऐसे में, इस प्रकार की फर्जी खबरों पर भरोसा न करें। किसी भी योजना के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए उसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं। साथ ही, अगर आपके पास ऐसा कोई संदेश आता है, तो आप उसकी सच्चाई की जांच के लिए फैक्ट चेक कर सकते हैं। आप इसके लिए पीआईबी के जरिए फैक्ट चेक करा सकते हैं। इसके लिए, आपको ऑफिशियल लिंक https://factcheck.pib.gov.in/ पर जाना होगा। इसके अतिरिक्त, आप वीडियो को +918799711259 पर वाट्सएप करके या [email protected] पर ईमेल करके भेज सकते हैं।

Leave a Comment