पढ़ाई के लिए भारत आते हैं सबसे ज्यादा विदेशी छात्र, जानिए कौन सा राज्य है सबसे पसंदीदा

विश्वभर से छात्र उच्च शिक्षा की खोज में भारत का रुख कर रहे हैं, जिसमें नेपाल, अफगानिस्तान, और अमेरिका से आये छात्रों की संख्या उल्लेखनीय है। वर्ष 2021-22 में, नेपाल से आए 13,126 छात्रों ने भारतीय विश्वविद्यालयों में दाखिला लिया, जो यह दर्शाता है कि भारतीय शिक्षा प्रणाली अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त कर चुकी है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
पढ़ाई के लिए भारत आते हैं सबसे ज्यादा विदेशी छात्र, जानिए कौन सा राज्य है सबसे पसंदीदा
पढ़ाई के लिए भारत आते हैं सबसे ज्यादा विदेशी छात्र, जानिए कौन सा राज्य है सबसे पसंदीदा

किस राज्य में सबसे ज्यादा विदेशी छात्र पढ़ते हैं

ऑल इंडिया सर्वे फॉर हायर एजुकेशन के आँकड़ों के अनुसार, कर्नाटक भारत में सबसे अधिक विदेशी छात्रों को आकर्षित करने वाला राज्य है। इस राज्य में 6,004 विदेशी छात्र अध्ययनरत हैं, जबकि पंजाब इस सूची में दूसरे स्थान पर है। इसके बाद महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश भी विदेशी छात्रों के लिए पसंदीदा राज्यों में शामिल हैं।

भारत की ओर आकर्षण क्यों है ?

भारतीय विश्वविद्यालयों की विश्व स्तरीय शिक्षा, अनुसंधान के अवसर, और सांस्कृतिक विविधता विदेशी छात्रों को भारत की ओर आकर्षित करती है। भारत में शिक्षा की लागत भी अन्य पश्चिमी देशों की तुलना में कम है, जो इसे एक आकर्षक विकल्प बनाती है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

भारतीय छात्र भी जाते हैं विदेश

इसी तरह, भारतीय छात्र भी उच्च शिक्षा के लिए विदेश जा रहे हैं। कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, यूके, और यूएस भारतीय छात्रों के लिए लोकप्रिय गंतव्य हैं। 2022 में, 7.5 लाख भारतीय छात्रों ने विदेशी शिक्षा की राह चुनी, जो वैश्विक शिक्षा क्षेत्र में भारतीय युवाओं की सक्रिय भागीदारी को दर्शाता है।

निष्कर्ष

भारत में उच्च शिक्षा की ओर बढ़ती वैश्विक रुचि न केवल देश के शैक्षणिक मानकों को मजबूती प्रदान करती है, बल्कि यह विद्यार्थियों के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान और अंतरराष्ट्रीय सहयोग के नए अवसर भी खोलती है। भारतीय छात्रों का विदेशों में उच्च शिक्षा हासिल करना इस बात का संकेत है कि शिक्षा के क्षेत्र में वैश्विक स्तर पर एक अंतर्संबंधित दुनिया की ओर बढ़ रहे हैं। अंततः, भारत और भारतीय छात्र दोनों ही वैश्विक शिक्षा क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं, जो शिक्षा के विकास में उनकी सहभागिता और योगदान को दर्शाता है।

Leave a Comment