CIBIL Score: लोन की EMI नहीं भर पा रहे तो जरूर कर लें ये 4 काम, सिबिल स्कोर नहीं होगा खराब, उपाय भी जाने

आज के समय में लोन लेना एक आम बात है। लोग अपनी आर्थिक जरूरतों को पूरा करने के लिए लोन लेते हैं। लेकिन कई बार ऐसा होता है कि किसी कारण से लोन की EMI नहीं भर पाते हैं। ऐसे में EMI बाउंस होने पर सिबिल स्कोर खराब हो सकता है। सिबिल स्कोर खराब होने से भविष्य में लोन लेने में परेशानी हो सकती है। अब प्रत्येक व्यक्ति के मन में यह सवाल आता है कि इस स्थिति में लोन लेने के लिए क्या ऑप्शन है कि वो अपना सिबिल स्कोर खराब होने से बचा ले। 

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
CIBIL Score: लोन की EMI नहीं भर पा रहे तो जरूर कर लें ये 4 काम, सिबिल स्कोर नहीं होगा खराब, उपाय भी जाने

EMI बाउंस होने पर सिबिल स्कोर खराब होने के कारण:

  • EMI बाउंस होने पर बैंक लोन देने वाले व्यक्ति की क्रेडिट हिस्ट्री खराब हो जाती है।
  • EMI बाउंस होने पर बैंक को पेनल्टी देनी पड़ती है, जिससे बैंक को नुकसान होता है।
  • EMI बाउंस होने से लोन देने वाले व्यक्ति के भविष्य में लोन लेने की संभावना कम हो जाती है।

लोन EMI नहीं भरे रहें हैं तो करें ये चार काम

चलिए हम यहाँ आपको लोन EMI नहीं भरे रहें हैं तो करें ये चार काम, की जानकारी दे रहें हैं।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

1. बैंक मैनेजर से बातचीत करें

EMI बाउंस होने पर बैंक की तरफ से पेनल्टी लगाई जाती है। लेकिन अगर आपने EMI बाउंस जानबूझकर नहीं की है, तो बैंक मैनेजर से बात करके आप इस समस्या का समाधान कर सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले आपको बैंक की शाखा में जाना है जहाँ से आपने लोन प्राप्त किया है। वहां आपको बैंक मैनेजर से मिलना है और उन्हें इस समस्या के बारे में बताना है। उन्होंने विश्वास दिलाए की वे भविष्य में ऐसी गलती नहीं करेंगे।

2. सिबिल स्‍कोर के लिए बात करें-

अगर आपने लोन की EMI बाउंस कर दी है, तो आपको तुरंत कार्रवाई करने की आवश्यकता है। EMI बाउंस होने से आपका सिबिल स्कोर खराब हो सकता है, जिससे भविष्य में लोन लेने में परेशानी हो सकती है।

EMI बाउंस होने पर बैंक मैनेजर तीन महीने तक इंतजार करता है। अगर EMI बाउंस होने की संख्या तीन महीने के भीतर दो से अधिक होती है, तो बैंक मैनेजर सिबिल को एक निगेटिव रिपोर्ट भेजता है। इस रिपोर्ट के आधार पर सिबिल स्कोर को कम किया जा सकता है।

3. EMI को होल्‍ड करने के लिए आवेदन

अगर आप लोन की EMI नहीं भर पा रहे हैं, तो घबराएं नहीं। आप बैंक मैनेजर से बात करके EMI होल्ड करने के लिए आवेदन कर सकते हैं। EMI होल्ड करने से आपको कुछ समय के लिए राहत मिल जाएगी।

EMI होल्ड करने के लाभ:

  • आपको EMI बाउंस होने से बचने में मदद मिलेगी।
  • आपको बैंक से पेनल्टी से बचने में मदद मिलेगी।
  • आपको EMI को समय पर भुगतान करने की सुविधा मिल जाएगी।

EMI होल्ड करने के लिए आवेदन कैसे करें:

  1. अपने बैंक शाखा में जाएं।
  2. बैंक मैनेजर से मिलें।
  3. उन्हें अपनी समस्या बताएं।
  4. EMI होल्ड करने के लिए आवेदन पत्र भरें।
  5. आवेदन पत्र में अपनी मजबूरी का स्पष्टीकरण दें।
  6. आवेदन पत्र के साथ आवश्यक दस्तावेज संलग्न करें।

4. एरियर EMI का विकल्‍प चुने

सैलरी लेट आने पर EMI बाउंस होने से बचने के लिए एरियर EMI का विकल्प चुनना एक अच्छा उपाय है। एरियर EMI का मतलब है कि आप महीने की आखिर में ईएमआई का भुगतान कर सकते हैं। यह विकल्प उन लोगों के लिए फायदेमंद है जिनकी सैलरी लेट आती है या निर्धारित तिथि तक उनके पास ईएमआई के पैसों का इंतजाम नहीं हो पाता है।

एरियर EMI का विकल्प चुनने से आपको ईएमआई बाउंस होने से बचने में मदद मिल सकती है। ईएमआई बाउंस होने से सिबिल स्कोर खराब हो सकता है, जिससे भविष्य में लोन लेने में परेशानी हो सकती है।

कुछ अतिरिक्त सुझाव:

  • EMI भरने के लिए एक बजट बनाएं और उस पर टिके रहें।
  • EMI भरने के लिए एक अलग खाता खोलें और उसमें हर महीने समय पर पैसे जमा करें।
  • अपने सिबिल स्कोर की नियमित रूप से जांच करें।

अच्छा सिबिल स्कोर कितना होता है?

अच्छा सिबिल स्कोर 750 से अधिक होता है। 750 से अधिक सिबिल स्कोर वाले लोगों को लोन लेने में आसानी होती है और उन्हें कम ब्याज दर पर लोन मिल सकता है। 800 से अधिक सिबिल स्कोर को बहुत अच्छा माना जाता है।

सिबिल स्कोर 300 से 900 के बीच होता है। 300 से 579 तक का सिबिल स्कोर बहुत खराब माना जाता है। 580 से 669 तक का सिबिल स्कोर खराब माना जाता है। 670 से 739 तक का सिबिल स्कोर मध्यम माना जाता है। 740 से 799 तक का सिबिल स्कोर अच्छा माना जाता है। 800 से 900 तक का सिबिल स्कोर बहुत अच्छा माना जाता है।

सिबिल स्कोर आपकी क्रेडिट हिस्ट्री के आधार पर निर्धारित किया जाता है। इसमें आपकी लोन भुगतान की स्थिति, क्रेडिट कार्ड भुगतान की स्थिति, क्रेडिट कार्ड उपयोग की मात्रा, क्रेडिट रिपोर्ट में विलंब या बकाया राशि, आदि शामिल हैं।

सिबिल स्कोर को बेहतर बनाने के उपाय

सिबिल स्कोर को बेहतर बनाने के लिए आप निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं:

  • समय पर लोन और क्रेडिट कार्ड की EMI का भुगतान करें।
  • क्रेडिट कार्ड का उपयोग सीमित करें और अपनी लिमिट से अधिक न खर्च करें।
  • अपने क्रेडिट कार्ड बिल को समय पर भुगतान करें।
  • अपने क्रेडिट रिपोर्ट की नियमित रूप से जांच करें और किसी भी त्रुटि या विसंगति को ठीक करवाएं।

सिबिल स्कोर आपकी क्रेडिट हिस्ट्री का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसलिए, इसे बेहतर बनाने के लिए उचित प्रयास करें।

Leave a Comment