Health Insurance Plan: अपने परिवार के लिए बेस्ट हेल्थ इंश्योरेंस कैसे चुनें – इन बातों का विशेष ध्यान

आज के जमानें में, हेल्थ इंश्योरेंस आपके और आपके परिवार के लिए जरुरी सुरक्षा है। इस लेख में, हम आपको Health Insurance Plan के चुनाव से संबंधित बिंदुओं का विवरण दे रहे हैं, जिससे आप अपने और अपने परिवार के लिए सबसे अच्छा बीमा प्लान चुन सकें।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

जब आप हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी (Health Insurance Plans) लेते हैं, तो इस दौरान कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर विचार करना जरूरी होता है, जैसे कि प्रीमियम की राशि, प्लान के लाभ, और कवरेज की सीमा।

सबसे पहले, निर्णय लें कि आपको इंडिविजुअल प्लान चाहिए या फैमिली फ्लोटर प्लान। इंडिविजुअल प्लान तब उपयुक्त होते हैं जब आपके पास विशेष मेडिकल हिस्ट्री हो, जबकि फैमिली फ्लोटर प्लान में परिवार के सभी सदस्यों को एक ही प्लान के अंतर्गत कवर किया जा सकता है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

प्लान चुनते समय, इस बात का ध्यान रखें कि प्लान में कौन-कौन से सदस्य कवर होते हैं। कुछ प्लान केवल पति-पत्नी, तो कुछ पति-पत्नी और बच्चों को कवर करते हैं। इसके अलावा, कुछ प्लान में दादा-दादी भी शामिल होते हैं।

यह भी महत्वपूर्ण है कि प्लान में डे केयर प्रोसीजर्स, एंबुलेंस चार्जेज, और आउट-पेशेंट डिपार्टमेंट (OPD) खर्चों का कवरेज हो। कुछ प्लान में क्रिटिकल इलनेस कवर भी शामिल होता है, जो गंभीर बीमारियों के इलाज में मदद करता है।

तो आइये जानते हैं बेस्ट हेल्थ इंश्योरेंस में किन किन बातों का ध्यान रखें:

बेस्ट हेल्थ इंश्योरेंस कैसे चुनें

  1. पॉलिसी का प्रकार चुनें: सबसे पहले तय करें कि आपको व्यक्तिगत पॉलिसी चाहिए या परिवार के लिए फैमिली फ्लोटर प्लान। इंडिविजुअल प्लान तब बेहतर होते हैं जब आपकी या आपके परिवार के किसी सदस्य की विशेष मेडिकल हिस्ट्री हो। वहीं, फैमिली फ्लोटर प्लान में पूरे परिवार को एक साथ कवर किया जाता है।
  2. कवरेज का चयन: प्लान के चयन में यह ध्यान दें कि उसमें आपके परिवार के सभी सदस्यों को कवर किया जाए, जैसे कि पति-पत्नी, बच्चे, और बुजुर्ग माता-पिता। कुछ प्लान पति-पत्नी और बच्चों को ही कवर करते हैं, जबकि कुछ में बुजुर्ग माता-पिता भी शामिल होते हैं।
  3. सुविधाओं की जांच करें: जांचें कि प्लान में दिन देखभाल कवर, एंबुलेंस कवर, आउट पेशेंट डिपार्टमेंट (OPD) कवर और गंभीर बीमारियों के लिए सुरक्षा शामिल है या नहीं।
  4. कैशलेस सुविधा: कैशलेस सुविधा वाले प्लान आपको अस्पताल में भर्ती के समय वित्तीय सहायता प्रदान करते हैं। यह सुविधा आपातकालीन स्थितियों में बेहद उपयोगी होती है।
  5. नेटवर्क अस्पतालों की सूची: सुनिश्चित करें कि बीमा कंपनी के पास आपके शहर में अच्छे और प्रमुख नेटवर्क अस्पताल हों, जिससे आपको आवश्यकता पड़ने पर तुरंत और अच्छी सेवाएं मिल सकें।
  6. सेटलमेंट रेशियो: बीमा कंपनी के सेटलमेंट रेशियो की जांच करें। यह आंकड़ा बताता है कि कंपनी ने कितने प्रतिशत दावों का निपटारा किया है। उच्च सेटलमेंट रेशियो वाली कंपनी विश्वसनीयता का संकेत देती है।
  7. प्रीमियम और लाभों का मूल्यांकन: प्रीमियम की राशि और प्लान के तहत मिलने वाले लाभों की तुलना करें। सस्ते प्लान हमेशा बेहतर नहीं होते। महत्वपूर्ण यह है कि प्लान आपकी और आपके परिवार की जरूरतों को समझे और उनका ध्यान रखे।
  8. पॉलिसी की शर्तें : पॉलिसी की शर्तें और बहिष्करण (Exclusions) को ध्यानपूर्वक पढ़ें। जानें कि किन स्थितियों और बीमारियों को पॉलिसी कवर नहीं करती।
  9. वेटिंग पीरियड की जांच करें: कुछ बीमारियों के लिए पॉलिसी में एक ‘वेटिंग पीरियड’ होता है, जिसके दौरान आप उस बीमारी के लिए दावा नहीं कर सकते हैं.

इन सभी बिंदुओं पर विचार करके, आप अपने और अपने परिवार के लिए एक सुविचारित और उपयुक्त हेल्थ इंश्योरेंस प्लान का चयन कर सकते हैं।

Leave a Comment