HDFC बैंक के शेयरों में भारी गिरावट: 8% नीचे आए दाम, 1 लाख करोड़ का नुकसान – क्या है वजह?

बुधवार को शेयर बाजार के निवेशकों के लिए एक चुनौतीपूर्ण दिन रहा, विशेषकर HDFC Bank के शेयरधारकों के लिए। बाजार में आई व्यापक गिरावट के बीच, HDFC Bank के शेयरों में 8% से अधिक की गिरावट दर्ज की गई, जिससे शेयर 1528 रुपये के निचले स्तर तक गिर गया। HDFC Bank के शेयर में गिरावट

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
HDFC बैंक का बुरा हाल, 8% गिरा शेयर… एक झटके में 100000 करोड़ रुपये साफ, जानिए कारण

Sensex में भारी गिरावट

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स सुबह 71,988 के स्तर पर खुला और दिन के अंत में 1628.02 अंकों की गिरावट के साथ 71,500.76 पर बंद हुआ। इसी तरह, NSE का निफ्टी भी 460.35 अंकों की गिरावट के साथ 21,571.95 पर बंद हुआ।

HDFC Bank के शेयर में गिरावट

HDFC Bank के शेयरों में आई इस भारी गिरावट से निवेशकों को लगभग 100,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। इस गिरावट का मुख्य कारण हाल ही में घोषित की गई कंपनी की तिमाही परिणामों को माना जा रहा है, जो बाजार की उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

अन्य कारक

विश्लेषकों का मानना है कि HDFC Bank के शेयरों में यह गिरावट अंतरराष्ट्रीय बाजारों में आई गिरावट के प्रभाव और नुवाना द्वारा बैंकिंग शेयर को डाउनग्रेड करने जैसे कारणों से भी प्रेरित है। इसके अतिरिक्त, फिलिप कैपिटल और मोतीलाल ओसवाल ने भी कंपनी के परिणामों पर अपनी चिंताएं व्यक्त की हैं।

मार्केट कैप में गिरावट

HDFC Bank का मार्केट कैपिटलाइजेशन भी एक दिन में ही 106740.22 करोड़ रुपये घटकर 11.68 लाख करोड़ रुपये रह गया। HDFC बैंक के शेयर में गिरावट से निवेशकों को 1 लाख करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है। HDFC बैंक का मार्केट कैपिटलाइजेशन 11.22 लाख करोड़ रुपये से घटकर 10.22 लाख करोड़ रुपये रह गया है।

इस घटना से यह स्पष्ट होता है कि बाजार में होने वाले बदलावों का प्रभाव तत्काल और व्यापक होता है, और इससे निवेशकों को बड़े पैमाने पर प्रभावित होने का जोखिम रहता है। HDFC Bank का यह अनुभव शेयर बाजार में निवेश के साथ जुड़े जोखिमों को रेखांकित करता है और निवेशकों को सावधानी बरतने की याद दिलाता है।

Leave a Comment