Gold Price: सोने और चांदी की इंपोर्ट ड्यूटी पर सरकार का बड़ा फैसला, नोटिफिकेशन जारी

Gold Price :इस खबर में हम बात कर रहे हैं वित्त मंत्रालय के उस नए फैसले की, जिसमें सोने और चांदी पर लगने वाली इंपोर्ट ड्यूटी को 10% से बढ़ाकर 15% कर दिया गया है। इस फैसले के अनुसार, सोने और चांदी की धातुओं पर अब 15% का आयात शुल्क लागू होगा। यह बदलाव 22 जनवरी 2024 से प्रभावी हो चुका है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
Gold Price: सोने-चांदी के आयात शुल्क पर सरकार का बड़ा फैसला, अधिसूचना जारी
Gold Price

सोने की इंपोर्ट ड्यूटी 10% से बढ़कर 15% हुई

वित्त मंत्रालय ने जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक, सोने की आयात शुल्क को 10% से बढ़ाकर 15% कर दिया गया है। इससे पहले, सोने पर आयात शुल्क 7.5% था।

चांदी की इंपोर्ट ड्यूटी 12.5% से बढ़कर 15% हुई

चांदी की आयात शुल्क भी 12.5% से बढ़ाकर 15% कर दी गई है। इससे पहले, चांदी पर आयात शुल्क 10% था।यह एक महत्वपूर्ण वृद्धि है जिसका उद्देश्य चांदी के आयात को नियंत्रित करना और स्वदेशी चांदी के उत्पादकों को समर्थन देना है। इसका मतलब है कि अब चांदी की खरीदारी करते समय आपको 15% की अतिरिक्त ड्यूटी चुकानी होगी, जो पहले 12.5% थी।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

सोने और चांदी की कीमतों में तेजी की संभावना

सोने और चांदी की आयात शुल्क में बढ़ोतरी से इनकी कीमतों में तेजी आने की संभावना है। सोने की कीमतें पहले से ही ऊंची हैं और इस बढ़ोतरी से और बढ़ सकती हैं।

विशेषज्ञों का कहना है कि सोने की कीमतें 5000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक बढ़ सकती हैं।

इस बदलाव का मुख्य उद्देश्य क्या है?

इसका मुख्य उद्देश्य भारतीय सोने के वितरकों को स्थानीय बाजार को समृद्धि देने और स्वदेशी सोने की खरीदारी को प्रोत्साहित करने का प्रयास करना है। इसके अलावा, सरकार इसे वित्तीय स्थिति को सुधारने के लिए भी एक उपाय के रूप में देख रही है।

सोने की इंपोर्ट ड्यूटी में इस बढ़ोतरी के परिणामस्वरूप, सोने के उत्पादों की मूल्यांकन में एक छोटी सी वृद्धि दर्ज की जा सकती है। इससे सोने के खरीदारों को अधिक खर्च करना पड़ सकता है।

चांदी की कीमतों में भी तेजी की संभावना

चांदी की कीमतें भी पहले से ही ऊंची हैं और इस बढ़ोतरी से और बढ़ सकती हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि चांदी की कीमतें 500 रुपये प्रति किलो तक बढ़ सकती हैं।

सरकार का फैसला रुपये को मजबूत करने के लिए

सरकार का यह फैसला रुपये को मजबूत करने के लिए लिया गया है। आयात शुल्क में बढ़ोतरी से आयात महंगा हो जाएगा, जिससे रुपये की मांग बढ़ेगी और उसकी कीमत मजबूत होगी।

हालांकि, कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि यह फैसला सोने और चांदी के आयात पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है।

Leave a Comment