99 साल की लीज के फ्लैट का क्या होगा, पता है क्या?

शहरों में बदलता नजारा -दिल्ली-एनसीआर और देश के अन्य बड़े शहरों में अब जमीन की जगह ऊंची इमारतों में लोग रहने लगे हैं. यहाँ के अधिकतर फ्लैट्स 99 साल की लीज पर मिलते हैं, जिसका मतलब है कि आप 99 साल तक इस फ्लैट का इस्तेमाल कर सकते हैं।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
99 साल की लीज पर फ्लैट: समय समाप्त होने पर आपके अधिकार क्या होंगे?
99 साल की लीज पर फ्लैट

फ्रीहोल्‍ड प्रॉपर्टी – अपना घर, अपनी जमीन

फ्रीहोल्‍ड प्रॉपर्टी का मतलब होता है “पूरी तरह से आपकी संपत्ति”. यह वो घर या जमीन होती है जिस पर आपका पूरा अधिकार होता है इसमें कोई भी समय सीमा नहीं होती, यानी आप और आपका परिवार इसे जब तक चाहे तब तक रख सकते हैं।

इस प्रकार की संपत्ति में आपको कई फायदे होते हैं:

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
  1. पूर्ण स्वामित्व: आप इस प्रॉपर्टी के पूरे मालिक होते हैं आप इसे बेच सकते हैं, विरासत में दे सकते हैं, या इस पर कुछ भी बना सकते हैं।
  2. कोई समय सीमा नहीं: फ्रीहोल्‍ड प्रॉपर्टी में कोई समय सीमा नहीं होती, इसलिए यह आपकी और आपके परिवार की पीढ़ियों तक बनी रहती है।
  3. नियंत्रण और सुरक्षा: आपके पास इस प्रॉपर्टी के उपयोग, विकास और बिक्री पर पूरा नियंत्रण होता है, जिससे आपको ज्यादा सुरक्षा और शांति मिलती है।
  4. निवेश में वृद्धि: फ्रीहोल्‍ड प्रॉपर्टी अक्सर बेहतर निवेश मानी जाती है क्योंकि इसकी कीमत समय के साथ बढ़ती रहती है।

इसलिए, अगर आप एक ऐसी प्रॉपर्टी चाहते हैं जिसमें पूरा अधिकार और नियंत्रण हो, तो फ्रीहोल्‍ड प्रॉपर्टी आपके लिए सही विकल्प हो सकता है।

लीजहोल्ड प्रॉपर्टी – 99 साल का समय

लीजहोल्ड प्रॉपर्टी वह संपत्ति होती है जिसे आप एक निर्धारित समय, अक्सर 99 साल के लिए, इस्तेमाल करने के लिए खरीदते हैं इसमें, आपको संपत्ति पर पूर्ण मालिकाना हक तो नहीं होता, पर आप उसे निर्धारित अवधि तक उपयोग कर सकते हैं। लीज की इस अवधि के बाद, आपको या तो लीज नवीनीकृत करनी पड़ सकती है, या संपत्ति मूल मालिक को वापस करनी पड़ सकती है।

लीज खत्म होने पर क्या होता है?

जब लीजहोल्ड प्रॉपर्टी की लीज अवधि, जैसे 99 साल, खत्म होती है, तो इसके बाद के कदम लीज एग्रीमेंट और स्थानीय कानूनों पर निर्भर करते हैं:

  1. लीज नवीनीकरण: अधिकतर मामलों में, लीज अवधि समाप्त होने पर लीजधारक लीज का नवीनीकरण कर सकता है. इसके लिए लीजधारक को नवीनीकरण शुल्क देना पड़ सकता है और नई शर्तों पर सहमत होना पड़ सकता है।
  2. संपत्ति वापसी: अगर लीज नवीनीकृत नहीं होती, तो संपत्ति मूल मालिक के पास वापस चली जाती है. इस स्थिति में, लीजधारक को संपत्ति छोड़नी पड़ती है।
  3. संपत्ति की खरीद: कुछ मामलों में, लीजधारकों के पास लीज अवधि के अंत में संपत्ति खरीदने का विकल्प होता है. इसके लिए उन्हें सहमत राशि का भुगतान करना पड़ सकता है।
  4. लीजहोल्ड से फ्रीहोल्ड में परिवर्तन: कुछ स्थानों पर, लीजधारकों को लीजहोल्ड प्रॉपर्टी को फ्रीहोल्ड में परिवर्तित करने का विकल्प मिलता है. यह आमतौर पर एक शुल्क और कुछ औपचारिकताओं के बाद संभव होता है।

इमारत गिरने पर क्या होगा?

अगर इमारत गिर जाती है या गिराई जाती है, तो फ्लैट मालिकों को जमीन के सर्किल रेट के आधार पर उनका हिस्सा मिलेगा। उसके बाद, यह कीमत फ्लैट मालिकों के बीच बराबर बांटी जाती है. इसके अलावा, फ्लैट मालिक बिल्डर से नई इमारत बनाने का अनुरोध कर सकते हैं, जिसके लिए उन्हें निर्माण लागत का भुगतान करना पड़ सकता है।

आपके हिस्से की जमीन

फ्लैट खरीदते समय, आपको जमीन में भी एक हिस्सा मिलता है. इसे ‘अनडिवाइडेट शेयर इन लैंड’ कहते हैं। इसका मतलब यह है कि इमारत के सभी फ्लैट मालिकों के पास जमीन का एक समान हिस्सा होता है. अगर किसी कारणवश इमारत को गिराया जाता है, तो जमीन की कीमत का आकलन किया जाता है और वह राशि सभी फ्लैट मालिकों के बीच उनके हिस्से के अनुसार बांटी जाती है। यह फ्लैट मालिकों को एक प्रकार का वित्तीय सुरक्षा कवच प्रदान करता है, इसलिए, लीजहोल्ड प्रॉपर्टी खरीदते समय, यह समझना जरूरी है कि आपके हिस्से का जमीन क्या होगा और इसका आपके निवेश पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

Leave a Comment