स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध, Essay on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi

जैसे कि आप सभी जानते है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने देश में साफ-सफाई को बढ़ावा देने के लिए स्वच्छ भारत अभियान चलाया जा रहा है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध कैसे लिख सकते है। इसके बारे में बताने जा रहें है। आप सभी जानते है स्वच्छता का हमारे जीवन में विशेष महत्व है।

स्वच्छता न केवल हमारे घरो के लिए बल्कि सम्पूर्ण देश के लिए भी बहुत आवश्यक है। यदि हमारे घरो के आंगन की तरह सम्पूर्ण देश स्वच्छ रहेगा तो हमारा प्यारा भारत देश स्वर्ग समान बन जाएगा।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध
स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध से सम्बंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए इस लेख को ध्यानपूर्वक अंत तक पढ़िए। इसके साथ ही प्रदूषण की समस्या पर निबंध भी देख सकते हैं, आर्टिकल देखने के लिए यहाँ क्लिक करें।

प्रस्तावना

जैसे कि आप सभी जानते है भारत देश को सोने की चिड़िया के नाम से भी पुकारा गया है और भारत देश को अपने वैभव और संस्कृति के लिए भी जाना जाता था।

लेकिन समय बदलता गया और हमारे देश पर की बाहरी ताकतों ने अपना अधिकार जमाया जिससे हमारे देश की हालत खराब हो गई। हालांकि हमारे देश में स्वच्छता की ओर बिलकुल ध्यान नहीं दिया जाता था।

जबकि स्वच्छता न केवल हमारे घर के लिए ही जरूरी है बल्कि सम्पूर्ण देश एवं राष्ट्र की आवश्यकता भी है। स्वच्छता रखने से हमारा पूरा देश रोग मुक्त होगा।

मन में रखो एक ही सपना,
स्वच्छ बनाना है भारत अपना।

स्वच्छता अच्छे स्वास्थ्य तथा अच्छे संस्कार का प्रतीक है। ऐसा कहा जाता है जहाँ स्वच्छता रहती है लक्ष्मी का वास होता है। साफ-सफाई अच्छे स्वास्थ्य को बढ़ावा देती है।

मानव जब से धरती पर जन्म लेता है वह तरह-तरह की गंदगी और प्रदूषण फैलाता है। मानव द्वारा फैलाए गए प्रदूषण और गंदगी के कारण ही आज पृथ्वी की दशा खराब हो गई है।

ब्रिटिश काल में भारत को साफ एवं स्वच्छ बनाने का सपना महात्मा गांधी जी ने देखा था। हालांकि गांधी जी ने अनेक सम्मेलनो में भारत को स्वच्छ बनाने के नारे दिए।

परन्तु अधिक संख्या में जनसमर्थन न मिलने के कारण उनका स्वच्छ भारत बनाने का सपना पूरा न हो सका। सम्पूर्ण भारत देश स्वतंत्रता आंदोलन में लग गया। स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद स्थापित सरकारें विकास व अन्य कार्यों में लगी रही।

गांधी जी का मत था कि जब तक समस्त देश वासी स्वच्छता के प्रति जागरूक नहीं होंगे तब तक हमारा देश स्वच्छ एवं साफ़-सुथरा नहीं बन सकता है। हालांकि आपकी जानकारी के लिए बता दें स्वच्छ भारत अभियान को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य सम्पूर्ण देश को स्वच्छ एवं साफ़-सुथरा बनाना है।

स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत

गांधी जयंती के शुभ अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 2 अक्टूबर, 2014 को स्वच्छता एवं साफ़-सफाई के प्रति जागरूकता सर्जित कर देश को साफ़-सुथरा और गंदगी से मुक्त बनाने के लिए राष्ट्रव्यापी स्वच्छ भारत अभियान का औपचारिक शुभारम्भ नई दिल्ली में एक वाल्मीकि बस्ती में झाड़ू लगाकर की थी।

विभिन्न मंत्रियों एवं मुख्यमंत्रियों ने अलग-अलग शहरों में इस कार्यक्रम की औपचारिक शुरुआत की। स्वच्छता के प्रति जागरूकता सृजित करने के लिए ही इससे पहले 26 सितंबर – 2 अक्टूबर को पंचायत सप्ताह के रूप में देशभर में मनाया गया है।

स्वच्छ भारत अभियान को सम्पूर्ण भारत देश में लागू किया गया। बड़े-बड़े शहरों, राजधानियों, राज्यों के जिले एवं सभी स्तर पर सफाई अभियान को चलाया गया।

भारत की विभिन्न हस्तियों ने स्वच्छ भारत अभियान से जुड़कर अपना साथ और समर्थन दिया। सचिन तेंदुलकर सहित कई फ़िल्मी हस्तियों ने भी स्वच्छ भारत अभियान के तहत सफाई कार्य किये और स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए लोगो को जागरूक किया।

यहाँ तक की राज्य सरकारों ने अपने स्तर पर सफाई कार्य किये। यूपी की योगी सरकार ने सरकारी कार्यालयों में पान, तम्बाकू व अन्य नशीले उत्पादों के सेवन पर रोक लगा दी। ऐसा करने से साफ़-सफाई की ओर तो ध्यान दिया ही गया है बल्कि ऐसी नशीले पदार्थो के सेवन से होने वाली घातक बीमारियों से भी मुक्ति दिलाने में सहायक है।

साफ़ सफाई हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण पहलू है। यह हमारे जीवन की प्राथमिकता भी है स्वच्छता जरूरी है क्योंकि साफ़-सफाई से हम जीवन में आने वाली की परेशानियों से मुक्ति पा सकते है। स्वच्छता का अर्थ है सफाई से रहने की आदत। साफ़-सफाई रखने से हमारा शरीर तो स्वस्थ रहता ही है बल्कि मन भी खुश रहता है। इसलिए स्वच्छता बहुत जरूरी है।

आखिर स्वच्छ भारत अभियान की जरूरत क्यों पड़ी ?

स्वच्छ भारत अभियान सभी भारतवासियों के लिए बेहद जरूरी है। इसके तहत भारत के हर घर में शौचालय होने से लोगो में खुले में शौच से होने वाली हानियों से भी बचा जा सकेगा।

और स्वच्छता भी बनी रहेगी नगर निगम के कचरे का पुनर्चक्रण और दुबारा इस्तेमाल, सुरक्षित निस्तारण, वैज्ञानिक तरीके से मल प्रबंधन का होना भी स्वच्छता और हरियाली हेतु अति आवश्यक है।

गंदगी जानलेवा है, यह की प्रकार की बीमारियों का कारण बनती है। अतः लोगो में खुद के स्वास्थ्य के प्रति सकारात्मक रवैया और साफ़-सफाई की प्रक्रियाओ का पालन करना उन्हीं के लिए हितकर होगा।

स्वच्छता ही सेवा है,
गंदगी जानलेवा है।

स्वच्छ भारत अभियान के उद्देश्य

स्वच्छ भारत का लक्ष्य प्राप्त करना समस्त भारत के लिए एक बड़ी चुनौती है। यह अभियान तभी संभव होगा जब भारत का प्रत्येक नागरिक इस अभियान के लिए अपनी जिम्मेदारी को समझे और इस अभियान को इसका लक्ष्य प्राप्त करने के लिए हर संभव प्रयास करें।

स्वच्छ भारत अभियान एक राष्ट्रीय स्तर का अभियान है जिसके अंतर्गत हमारे सम्पूर्ण देश को स्वच्छ बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। स्वच्छ भारत अभियान को शुरू करने के उद्देश्य निम्न प्रकार है –

  • स्वच्छ भारत अभियान का मुख्य उद्देश्य भारत देश के कोने-कोने को स्वच्छ बनाना है।
  • लोगो को खुले में शौच करने से रोकना ताकि बीमारियों और रोगो से मुक्ति मिल सके।
  • देश के प्रत्येक शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर शौचालय का निर्माण करवाना।
  • शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों की प्रत्येक सड़क, गली, मोहल्ले साफ़-सुथरे होने चाहिए।
  • प्रत्येक गली में कम से कम एक डस्टबिन की सुविधा आवश्यक रूप से उपलब्ध करवाना।
  • स्वच्छता के प्रति लोगो को जागरूक करना।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाना।

स्वच्छता का महत्व

जैसे कि आप सभी जानते है गत वर्षो में कोरोना काल में रोगियों की बढ़ती जनसंख्या एवं अस्पतालों में साफ़-सफाई को ध्यान देने की आवश्यकता से यह बात और भी स्पष्ट हो गई है कि जीवन में स्वच्छता का कितना अधिक महत्व है।

जीवन में स्वच्छता से तातपर्य स्वस्थ होने की अवस्था से भी है। स्वच्छता एक अच्छी आदत है जो हमारे जीवन की गुणवत्ता को बढ़ाती है। यह हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण अंग है। हमारे लिए शरीर की भी स्वच्छता बहुत जरूरी है।

जैसे रोज स्नान करना, स्वच्छ कप्पड़े पहनना, दांतो की सफाई करना, नाख़ून काटना, आदि। इसके लिए प्रतिदिन हमे सुबह जैसे ही हम सोकर उठते है, अपने दांतो को साफ़ करना चाहिए। साथ ही स्नान आदि और दैनिक क्रियाओं को समय पर पूरा करना चाहिए।

अस्वच्छता से हानियां

जब तक हम स्वच्छता के महत्व को नहीं समझेंगे तब तक हम अपने आपको सभ्य और सुसंस्कृत नहीं कह सकते है। आज के समय में 60 फीसदी से ज्यादा लोग खुले शौच करने जैसी बुरी आदतों की वजह से अनेक खतरनाक बीमारियों के शिकार हो रहे है।

अच्छे स्वास्थ्य के लिए शरीर की सफाई बहुत आवश्यक है। जब लोग ऐसे स्थानों पर रहते है जहाँ पर चारो तरफ कूड़ा-कचरा फैला रहता है और नालियों में गंदा पानी और गली सड़ी चीजे पड़ी रहती है जिसकी वजह से उस क्षेत्र में बदबू उत्पन्न हो जाती है, वहां से गुजरना भी बहुत मुश्किल हो जाता है।

ऐसे स्थानों पर लोग अनेक प्रकार की संक्रामक बीमारियों से ग्रस्त हो जाते है। वहां की गंदगी से जल, थल और वायु आदि पर भी बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है।

स्वच्छ रहने के कुछ उपाय

स्वच्छ रहने के लिए सबसे पहले हमे प्लास्टिक को अपने जीवन से निकालकर बाहर फेकना होगा। प्लास्टिक पर्यावरण, पशु-पक्षी और इंसान सभी के लिए घातक है।

साथ ही प्रकृति में संतुलन बनाए रखने के लिए अधिक से अधिक मात्रा में पेड़ व पौधे लगाए जाने चाहिए। गंदगी से होने वाली बीमारियां हम मनुष्यो के विकास में बाधक है। अतः हम साफ़-सुथरा रहना चाहिए हमे अपने शरीर, अपने घर के अलावा आस-पास के क्षेत्र को भी स्वच्छ रखें चाहिए।

स्वच्छ भारत अभियान का क्रियान्वयन

इस अभियान के जितने उद्देश्य निर्धारित किये गए थे उन सभी का जमीनी स्तर पर क्रियान्वयन होता हुआ साफ दिखाई दे रहा है। सरकारी आंकड़ों की बात करें तो इस अभियान के तहत अब तक लगभग 101964757 घरो में शौचालयों का निर्माण किया जा चुका है।

603055 गाँव ओपन डिफेकेशन फ्री हो चुके है। 706 जिले इसकी श्रेणी में आ चुके है 36 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश मिलकर इस मुहीम को सफल बना रहे है। इस अभियान का प्रतीक चिह्न गांधी जी का चश्मा है। इसे भारत सरकार मंत्रालय के ‘जल शक्ति मंत्रालय” के अधीन “पेयजल एवं स्वच्छता विभाग” को सौंपा गया है।

प्रधानमंत्री जी की अपील को सम्पूर्ण देश ने सहमति दी और यह अभियान राष्ट्रव्यापी आंदोलन बनकर उभरा। यहाँ तक कि बड़े बड़े फ्लिम कलाकारों ने इस अभियान में सहयोग किया। सफाई आंदोलन के दौरान सभी पीएम मोदी जी के साथ सफाई के लिए सड़को पर उतरे।

उपसंहार

“जहां स्वच्छता वहां ईश्वर” भारत में इस प्रथा को माना जाता है। इसलिए हमे भी स्वच्छता को अपनाना चाहिए। इसकी शुरुआत हमे और आपको मिलकर ही करनी होगी।

किसी एक अकेले व्यक्ति के प्रयास करने से कुछ संभव नहीं है। हमे स्वयं साफ़-सफाई की ओर ध्यान देना चाहिए और साथ ही लोगो को भी स्वच्छता के लिए जागरूक करने का निरंतर प्रयास करना चाहिए।

एक दिन हमारा भारत देश बिलकुल स्वच्छ और स्वस्थ भारत बन जाएगा। अगर भारत की जनता द्वारा प्रभावी रूप से स्वच्छ भारत अभियान का अनुसरण किया गया तो आने वाले समय में इस अभियान के चलते सम्पूर्ण देश भगवान का निवास स्थल बन जाएगा।

स्वच्छता है जरूरी,
न समझे इसे मजबूरी।

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध से सम्बंधित (FAQ)

स्वच्छता अभियान की शुरुआत किसके द्वारा की गई थी?

स्वच्छता अभियान की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा की गई थी।

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध कैसे लिखें?

अगर आप भी स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध लिखना चाहते है तो आप हमारे इस लेख में दी गई जानकारी को पढ़कर आसानी से स्वच्छ भारत अभियान पर हिंदी में निबंध लिख सकते है।

स्वच्छ भारत अभियान से सम्बंधित नारे क्या है?

स्वच्छ भारत अभियान से सम्बंधित नारे निम्न प्रकार है –
आओ मिलकर सबको जगाये, स्वच्छता से गंदगी को दूर भगाए।
एक कदम स्वच्छता की ओर।
स्वच्छता देश का सौंदर्य, स्वच्छता हमारा कर्त्तव्य।

क्या साफ- सफाई रखना एक बुरी आदत है?

जी नहीं, साफ-सफाई रखना बुरी आदत नहीं बल्कि एक बहुत अच्छी आदत है।

क्या गंदगी से बिमारी उतपन्न होती है?

जी हाँ अगर आपके आस-पास गंदगी का माहौल है तो वहां पर बिमारी होने की सम्भावना अधिक रहती है। ऐसी स्थिति में आपको कई प्रकार की गंभीर बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है।

स्वच्छ भारत अभियान कब और किसके द्वारा शुरू किया गया?

सार्वभौमिक स्वच्छता प्राप्त करने के लिए किए जा रहे प्रयासों में तेजी लाने के लिए और स्वच्छता पर ध्यान केंद्रित करने हेतु भारत के प्रधान मंत्री ने 2 अक्टूबर 2014 को स्वच्छ भारत मिशन का आरंभ किया था। वर्ष 2014 से 2019 के दौरान इस मिशन को राष्ट्रव्यापी अभियान / जनांदोलन के रूप में लागू किया गया 

स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश्य क्या है?

स्वच्छ भारत अभियान मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में खुले में शौच करने की प्रथा को खत्म करना है और देश के कोने कोने को साफ एवं स्वच्छ बनाना है।

जैसा कि इस लेख में हमने आपको स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध के बारे में जानकारी प्रदान की है। अगर आपको इन जानकारियों के अलावा कोई अन्य जानकारी चाहिए तो आप नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में जाकर मैसेज करके पूछ सकते है। आपके सभी प्रश्नो के उत्तर अवश्य दिए जाएंगे। आशा करते है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी से सहायता मिलेगी।

Leave a Comment