DEBIT CARD: CVV छिपाना क्यों है जरूरी! एक गलती आपको पड़ सकती है महंगी

“अच्छे दोस्तों से कुछ नहीं छुपाया जाता” यह कहावत हम सभी ने सुनी है, लेकिन जब मामला आपके डेबिट कार्ड की जानकारी का हो, तो यह नियम भूल जाना चाहिए। आपके डेबिट कार्ड पर आपका नाम, कार्ड नंबर, समाप्ति तिथि और सुरक्षा कोड जैसी अहम जानकारियाँ होती हैं, जिन्हें सुरक्षित रखना जरूरी है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

आजकल डेबिट कार्ड का इस्तेमाल बहुत आम हो गया है। हम खरीदारी, ऑनलाइन लेनदेन, और एटीएम से पैसे निकालने के लिए डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करते समय कुछ सावधानियां भी बरतनी चाहिए? तो आइये विस्तार से जानते है।

DEBIT CARD: CVV छिपाना क्यों है जरूरी! एक गलती आपको पड़ सकती है महंगी
DEBIT CARD: CVV छिपाना क्यों है जरूरी! एक गलती आपको पड़ सकती है महंगी

CVV क्या है?

CVV का मतलब है Card Verification Value। यह तीन अंकों का एक नंबर होता है जो आपके डेबिट कार्ड के पीछे लिखा होता है। CVV, आपके डेबिट कार्ड की ऑनलाइन लेन-देन के लिए एक महत्वपूर्ण जानकारी है। यह नंबर बैंक द्वारा आपके कार्ड पर दिया गया है और इसे कभी भी किसी के साथ साझा नहीं करना चाहिए।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

CVV का इस्तेमाल क्यों होता है?

CVV का इस्तेमाल ऑनलाइन लेनदेन को सुरक्षित बनाने के लिए होता है। जब आप ऑनलाइन कोई लेनदेन करते हैं, तो आपको अपना डेबिट कार्ड नंबर, CVV, और expiry date डालनी होती है।

CVV छिपाना क्यों जरूरी है?

CVV एक बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी है। यदि यह गलत हाथों में पड़ जाए, तो आपके डेबिट कार्ड का इस्तेमाल धोखाधड़ी के लिए किया जा सकता है।

CVV के दो महत्वपूर्ण हिस्से

  1. मैग्नेटिक स्ट्रिप: यह कार्ड के पीछे की काली पट्टी है जिसमें आपके कार्ड का यूनिक डाटा छुपा होता है।
  2. ऑनलाइन पेमेंट्स के लिए अंक: यह कार्ड के पीछे लिखे हुए तीन अंक होते हैं, जिनका इस्तेमाल आप ऑनलाइन खरीदारी के समय करते हैं।

क्यों जरूरी है CVV?

CVV आपके कार्ड को अनधिकृत उपयोग से बचाता है। यहां तक कि अगर किसी को आपका कार्ड नंबर मालूम भी हो जाए, बिना CVV के वे ऑनलाइन लेन-देन नहीं कर सकते।

CVV और PIN में अंतर

CVV आपके कार्ड का ऑनलाइन उपयोग सुरक्षित करता है, जबकि PIN का इस्तेमाल आप एटीएम या भौतिक स्टोर में लेन-देन के लिए करते हैं। दोनों ही सुरक्षा के महत्वपूर्ण पहलू हैं।

इस तरह, जब आपके डेबिट कार्ड की बात आती है, तो अपनी जानकारी को सुरक्षित रखना और साझा न करना ही सबसे बेहतर है, भले ही बात आपके सबसे करीबी दोस्तों की ही क्यों न हो।

Leave a Comment