आयुष्मान कार्ड बनवाने की संपूर्ण जानकारी: नाम कैसे जोड़ें और लिस्ट में अपना नाम कैसे चेक करें ?

भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही आयुष्मान भारत योजना ने देश के स्वास्थ्य क्षेत्र में एक नई क्रांति की शुरुआत की है। इस योजना को लगभग सभी राज्यों में लागू दिया गया है, आयुष्मान कार्ड का लाभ अब हर किसी को मिलेगा, जिससे ₹5,00,000 तक का मुफ्त इलाज सुनिश्चित हो सकेगा।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
आयुष्मान कार्ड बनवाने की संपूर्ण जानकारी: नाम कैसे जोड़ें और लिस्ट में अपना नाम कैसे चेक करें
आयुष्मान कार्ड बनवाने की संपूर्ण जानकारी: नाम कैसे जोड़ें और लिस्ट में अपना नाम कैसे चेक करें

क्या होता है आयुष्मान कार्ड ?

आयुष्मान कार्ड एक ऐसी योजना है जो भारत के नागरिकों को वित्तीय बोझ के बिना, उचित और गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करती है। इस कार्ड के जरिए, व्यक्ति देश के किसी भी कोने में मौजूद अस्पतालों में ₹5,00,000 तक का इलाज मुफ्त में करवा सकते हैं।

कैसे बनवाएं आयुष्मान कार्ड?

आयुष्मान कार्ड बनवाने की प्रक्रिया अत्यंत सरल है। इसके लिए आपको अपने निकटतम पोस्ट ऑफिस या आयुष्मान मित्र केंद्र पर जाकर अपनी बुनियादी जानकारी और आवश्यक दस्तावेज प्रदान करने होंगे। आवेदक के पास एक सक्रिय मोबाइल नंबर और आधार कार्ड होना चाहिए, जिससे आवेदन प्रक्रिया को पूरा किया जा सके।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

लिस्ट में नाम कैसे जोड़ें?

आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी सूची में नाम जोड़ने के लिए, आपको आयुष्मान भारत पोर्टल पर जाना होगा। वहां आपको अपने राज्य, जिला, और गांव का चयन करके लाभार्थी सूची में अपना नाम खोजना होगा। यदि आपका नाम पहले से सूची में है, तो आप सीधे आयुष्मान कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं।

फ्री इलाज की सुविधा

आयुष्मान कार्ड धारकों को फ्री में इलाज की सुविधा प्रदान की जाती है, जिसमें आपातकालीन सेवाएं, गैर-संचारी रोगों का उपचार, और चिकित्सा सर्जरी शामिल हैं। यह सुविधा सरकारी और निजी दोनों प्रकार के अस्पतालों में उपलब्ध है, जिन्हें योजना के तहत पंजीकृत किया गया है।

आयुष्मान कार्ड पर अपना नाम कैसे चेक करें

आयुष्मान कार्ड पर अपना नाम चेक करना कुछ ही सरल कदमों में संभव है:

  1. सबसे पहले आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PM-JAY) की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  2. वेबसाइट के होम पेज में “Am I Eligible?” or “Beneficiary Verification” विकल्प पर क्लिक करे।
  3. इस सेक्शन में, आपको अपना मोबाइल नंबर, आधार कार्ड नंबर, या अन्य पहचान विवरण देने के लिए कहा जाएगा।
  4. आवश्यक जानकारी दर्ज करने के बाद, ‘सबमिट’ या ‘सत्यापित करें’ बटन पर क्लिक करें।
  5. अगर आप पात्र हैं और आपका नाम आयुष्मान भारत योजना से जुड़ा हुआ है, तो आपकी जानकारी स्क्रीन पर दिख जाएगी।

ई-केवाईसी करवाने की प्रक्रिया

  1. आपको अपना आधार नंबर उस संस्थान को प्रदान करना होगा जहाँ आप ई-केवाईसी करवाना चाहते हैं।
  2. आपके आधार से लिंक मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) भेजा जाएगा। आपको यह ओटीपी वेरिफिकेशन के लिए प्रदान करना होगा।
  3. कुछ मामलों में, आपको अपने बायोमेट्रिक डेटा (फिंगरप्रिंट्स या आईरिस स्कैन) का उपयोग करके वेरिफिकेशन पूरा करना पड़ सकता है।
  4. ओटीपी या बायोमेट्रिक डेटा के सफल वेरिफिकेशन के बाद, UIDAI आधार डेटाबेस से आपकी पहचान और पते की जानकारी उस संस्थान के साथ साझा करेगा।
  5. जानकारी सही पाए जाने पर, ई-केवाईसी प्रक्रिया सफल मानी जाती है, और आप उस सेवा या उत्पाद के लिए पात्र होंगे जिसके लिए आपने आवेदन किया था।

निष्कर्ष

आयुष्मान भारत योजना भारतीय नागरिकों को एक बेहतर और स्वस्थ जीवन प्रदान करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। इसके जरिए, सरकार ने स्वास्थ्य सेवाओं को हर व्यक्ति की पहुंच में लाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। आयुष्मान कार्ड के माध्यम से, लाखों लोगों को वित्तीय बोझ के बिना उचित चिकित्सा सेवाएं मिल रही हैं, जिससे उन्हें एक सुरक्षित और स्वस्थ भविष्य की ओर अग्रसर किया जा रहा है।

Leave a Comment