तीसरे विश्व युद्ध शुरू करने वाले 6 देशो के नाम बता रहा ChatGPT

ChatGPT On World War 3: रूस-यूक्रेन और इजराइल-हमास युद्ध के बाद दुनिया तीसरे विश्व युद्ध की आशंका से डरने लगी थी। लेकिन आर्टिफ‍िशियल इंटेल‍िजेंस (AI) की दुनिया में सर्वशक्तिमान माने जा रहे एआई बॉट चैटजीपीटी ने खौफनाक भव‍िष्यवाणी की है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
ChatGPT On World War 3

ब्रिटिश सेना प्रमुख जनरल स्टाफ पैट्रिक सैंडर्स और नाटो जनरल के बयानों से दुनिया में हड़कंप मच गया था। इन बयानों से लगा था कि शायद अमेर‍िका और नाटो देश तृतीय विश्व युद्ध की तैयारी कर रहे हैं। ChatGPT ने उन 6 देशों के नाम बताए हैं जहां से तृतीय विश्व युद्ध शुरू हो सकता है।

ChatGPT ने युद्ध की भविष्यवाणी की

इसी के बाद ChatGPT से तृतीय विश्व युद्ध के संभाव‍ित स्‍थलों के बारे में बताने को कहा गया तो उसने 6 हॉटस्‍पॉट गिनाए। डेली स्टार की रिपोर्ट के मुताबिक, ये 6 जगहें विश्वयुद्ध के घर्षण बिंदु हैं, जो दुनिया को कभी भी आग की लपटों में बदल सकते हैं।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

कोरियाई प्रायद्वीप

कोरियाई प्रायद्वीप तीसरे विश्व युद्ध की शुरुआत के लिए एक संभावित हॉटस्पॉट है। उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के बीच तनाव चरम पर है। इन दोनों देशों के बीच युद्ध की स्थिति बनी हुई है। उत्तर कोरिया एक परमाणु शक्तिशाली देश है। उसने कई बार अपने परमाणु हथियारों का परीक्षण किया है।

मध्य पूर्व

मध्य पूर्व एक ऐसा क्षेत्र है जहां दशकों से संघर्ष चल रहा है। इजरायल-फिलिस्तीनी के बीच संघर्ष लगातार बुरे दौर से गुजर रहा है। इन दोनों देशों के बीच शांति समझौता नहीं हो पाया है। इजरायल एक यहूदी देश है जबकि फिलिस्तीन एक अरब देश है। इन दोनों देशों के बीच जमीन और अधिकार के मुद्दों को लेकर विवाद चल रहा है।

ईरान एक शक्तिशाली शिया देश है जबकि इस क्षेत्र के अधिकांश देश सुन्नी हैं। ईरान और सऊदी अरब के बीच शिया-सुन्नी विवाद को लेकर तनाव चल रहा है।

ताइवान जलडमरूमध्य

चीन और ताइवान के बीच तनाव एक दिक्कतभरा क्षेत्र है और इसमें विभिन्न राजनीतिक और सुरक्षा समस्याएं शामिल हैं। चीन ने ताइवान को अपना एक हिस्सा मानता है जबकि ताइवान ने अपनी स्वतंत्रता और अपने व्यवस्थापन की स्वतंत्रता की रक्षा करने का प्रयास किया है।

पूर्वी यूरोप

इस लिस्ट में पूर्वी यूरोप के इलाके चौथे नंबर पर हैं। रूस, यूक्रेन और नाटो के विवादों से पूर्वी यूरोप में टेंशन बढ़ने लगा है। ये किसी भी समय पर एक बड़ा संघर्ष बन सकता है।

दक्षिण चीन सागर

दक्षिण चीन सागर को लेकर चीन और पड़ोसी देशों के बीच विवाद लगातार बना हुआ है। चीन दक्षिण चीन सागर के अधिकांश हिस्से पर अपना दावा करता है जबकि अन्य देश चीन के दावे का विरोध करते हैं।

इस विवाद में अमेरिका भी शामिल है। अमेरिका दक्षिण चीन सागर में स्वतंत्र नौवहन के अधिकार का समर्थन करता है। अमेरिका ने इस क्षेत्र में अपने युद्धपोतों को भेजा है।

भारत-पाकिस्तान बॉर्डर

भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव दशकों से रहा है। इन दोनों देशों के बीच सीमा पर गोलीबारी होती रही है। दो बार युद्ध भी हो चुका है, लेकिन कभी दूसरे देशों तक इसका असर नहीं हुआ। बीते 4 साल साल से सीमा पर शांति है।

इसके बावजूद ChatGPT का मानना है कि यहां से भी विश्व युद्ध की शुरुआत हो सकती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि दोनों देशों के पास परमाणु क्षमता है।

अन्य खबरें भी देखें:

Leave a Comment