केंद्र सरकार ने राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के दिन देशभर में आधे दिन की छुट्टी का आदेश दिया

Ramlala Pran Pratishtha: अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा समारोह की तैयारी जोरशोर से चल रही है। केंद्र सरकार ने अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर देशभर में आधे दिन की छुट्टी का आदेश दिया है। यह छुट्टी 22 जनवरी, 2024 को रहेगी।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

सभी संस्थान 2:30 बजे तक बंद होंगे

सरकार ने एक आदेश जारी कर कहा है कि सभी सरकारी कार्यालय, स्कूल, कॉलेज और अन्य संस्थान दोपहर 2:30 बजे तक बंद रहेंगे। हालांकि आवश्यक सेवाओं, जैसे कि स्वास्थ्य सेवा, आपातकालीन सेवाएं और सुरक्षा सेवाएं, नियमित रूप से संचालित रहेंगी।

पीएम मोदी सहित गणमान्य होंगे

रामलला की मूर्ति राम मंदिर परिसर में पहुंच गई है। इस छुट्टी का उद्देश्य लोगों को राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के कार्यक्रम में भाग लेने और इस ऐतिहासिक अवसर को मनाने का अवसर प्रदान करना है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी, 2024 को सुबह 12:20 बजे से शुरू होगी। इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत देश के कई गणमान्य व्यक्ति शामिल होंगे।

दीवाली जैसे दीपक जलाने का आदेश

प्रधानमंत्री मोदी (Narendra Modi) म मंदिर के उद्घाटन की तैयारियों में सभी मंत्रियों से फीडबैक लेकर इस मौके पर मंत्रियों को दीवाली जैसे उत्सव के आदेश दिए है। मंत्रियों से कहा है कि प्राण प्रतिष्ठा के दिन वे अपने घर पर दीप जलाकर गरीबों को भोजन करवाए। साथ ही सबकुछ सादगी से करके सौहार्द बनाकर रखना है।

बार काउंसिल का CJI को पत्र

बार काउंसिल ऑफ इंडिया (BCI) ने सीजेआई डीवाई चंद्रचूड़ को मंदिर को लेकर पत्र भी लिखा है। इस पत्र में BCI ने मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के दिन देशभर के सभी कोर्ट में छुट्टी करने की बात कही है। यह पत्र BCI के अध्यक्ष मनन कुमार मिश्रा ने चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया को लिखा है।

Temple Pran Pratistha leave letter
Temple Pran Pratistha leave letter

राम मंदिर की विशेषताएं

  • मंदिर लगभग 110 फीट ऊंचा, 235 फीट चौड़ा और 235 फीट लंबा है।
  • मंदिर का निर्माण नागर शैली में किया गया है।
  • मंदिर का मुख्य गर्भगृह 60 फीट ऊंचा है और इसमें भगवान राम की मूर्ति स्थापित है।
  • मंदिर के चारों ओर एक विशाल परिसर है।
  • मंदिर के निर्माण में लगभग 1,000 कारीगर शामिल थे।
  • मंदिर के निर्माण में लगभग 50,000 टन पत्थर का उपयोग किया गया था।
  • मंदिर के निर्माण में लगभग 1,000 करोड़ रुपये की लागत आई थी।

राम मंदिर का महत्व

राम मंदिर हिंदुओं के लिए एक पवित्र स्थल है। राम हिंदू धर्म के सबसे महत्वपूर्ण देवताओं में से एक हैं। राम मंदिर का निर्माण एक ऐतिहासिक घटना है। यह मंदिर हिंदुओं के लिए एक आशा और शांति का प्रतीक है।

अन्य खबरें भी देखें:

Leave a Comment