Wedding Party Law: बिना बुलाए शादी में घुसे तो क्या होगा, जान लें, वरना होगी दिक्कत

Wedding Party Law: 15 जनवरी, 2024 से खरमास खत्म हो गया। इसके साथ ही शुभ कार्यों की शुरुआत हो गई है। लोग एक महीने से पेंडिंग शादी-ब्याह की तैयारियों में जुट गए हैं। गृह-प्रवेश से लेकर तमाम तरह के शुभ कार्य अब किए जा रहे हैं। शादियों में खाने का जिक्र करना लाजमी है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

शादी में आमतौर पर बहुत ही स्वादिष्ट और विविध प्रकार के व्यंजन परोसे जाते हैं। लोग शादी में खाने के लिए भी जाते हैं। यूं तो शादियों में कई लोगों को न्योता दिया जाता है लेकिन कुछ ऐसे लोग भी शादी में आ जाते हैं, जिनका उनसे दूर-दूर तक कोई रिश्ता नहीं होता। यह लोग अक्सर रिश्तेदारों या दोस्तों के साथ आते हैं।

can-you-be-jailed-for-eating-free-food-at-a-wedding

वकील का वीडियो वायरल हुआ

सोशल मीडिया साइट इंस्टाग्राम पर एडवोकेट उज्वल त्यागी ने इस सवाल का जवाब दिया। बिना बुलाए शादी की पार्टी में खाना खाना एक अपराध है। यह भारतीय दंड संहिता की धारा 442 और 452 के तहत दंडनीय है। धारा 442 के तहत, बिना अनुमति के किसी भी स्थान पर प्रवेश करना या प्रवेश करने का प्रयास करना एक अपराध है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

इस अपराध के लिए दो साल तक की सजा या जुर्माना या दोनों हो सकते हैं। धारा 452 के तहत किसी भी स्थान पर अनाधिकृत रूप से प्रवेश करना और वहां पर चोरी, मारपीट या अन्य अपराध करना एक अपराध है। इस अपराध के लिए सात साल तक की सजा या जुर्माना या दोनों हो सकते हैं।

इसलिए अगर आप बिना बुलाए शादी की पार्टी में खाना खाते हैं तो आपको दो से सात साल तक की जेल की सजा हो सकती है।

यूजर्स ने अपने रिएक्शन दिए

वकील साहब का जवाब देखते ही देखते सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। कई लोगों ने इस पर हैरानी जताई। एक ने लिखा कि क्या मतलब कि हर हॉस्टल वाला जेल जाएगा? वहीं एक ने लिखा कि भारत में बिना बुलाए आने वाले गेस्ट को भी सम्मान दिया जाता है।

वहीं एक ने कमेंट किया कि अच्छा हुआ उसने वीडियो देख लिया। आगे से वो ऐसा कभी नहीं करेगा। इन प्रतिक्रियाओं से पता चलता है कि लोगों को इस कानून के बारे में पता नहीं था। वे सोचते थे कि बिना बुलाए शादी में खाना खाना एक सामान्य बात है। लेकिन अब वे इस कानून के बारे में जागरूक हो गए हैं।

बिना बुलाए शादी में जाने से बचे

बिना बुलाए शादी की पार्टी में खाना खाना एक सामाजिक अपराध भी है। यह शादी के घरवालों का अपमान है। यह दिखाता है कि आप उनकी मेजबानी का सम्मान नहीं करते हैं। इसलिए बिना बुलाए शादी की पार्टी में खाना खाने से बचना चाहिए।

अगर आपको शादी में खाने का मन है तो पहले से ही मेहमानों की सूची में शामिल होने का प्रयास करें। अगर आप शादी में शामिल नहीं हो सकते हैं तो घर पर ही खाना खाएं।

अन्य खबरें भी देखें:

Leave a Comment