भावांतर भुगतान योजना ऑनलाइन आवेदन: Bhavantar Bhugtan Yojana

मध्य प्रदेश की सरकार द्वारा राज्य के किसानों को उनके द्वारा उत्पादित की गई फसलों के बदले उन्हें उचित मूल्य लाभ प्रदान करने के लिए संचालित की गई है। राज्य में ऐसे बहुत से किसान है जिन्हें अपनी फसलों का निर्धारित मूल्य प्राप्त नहीं हो पाता है, उन्हें स्कीम के माध्यम से राहत पहुंचे जाती है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

राज्य सरकार द्वारा संचालित Bhavantar Bhugtan Yojana के अंतर्गत किसान अपनी फसल मंडी की जगह सीधे सरकार को बेच सकते है। योजना की सहायता से राज्य किसानों को आर्थिक तंगी की समस्या से मुक्त किया जा सकेगा। साथ ही राज्य के भोले-भाले किसानों को बिचोलियों द्वारा ठगे जाने से भी बचाया जा सकेगा। जिससे उनके पैसों की बचत हो सकेगी एवं किसानों को प्रेरित किया जा सकेगा।

भावांतर भुगतान योजना

भावांतर भुगतान योजना की शुरुआत मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी द्वारा राज्य के किसानों की आर्थिक रूप से सक्षम बनाने के लिए संचालित की गई है। जिसके तहत राज्य सरकार किसानों को उनकी फसल के मंडी निर्धारित मूल्य उपलब्ध करवाएगी।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

राज्य सरकार द्वारा स्कीम के ई-उपार्जन पोर्टल पर पिछले 5 वर्षों में कुल 118.57 लाख किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल के लिए पंजीकृत किया गया है। साथ ही इसके तहत 64.35 लाख उम्मीदवारों किसानों के लगभग 2415.62 लाख एम् टी अनाज को ख़रीदा गया है।

वर्तमान समय एक सरकार द्वारा 69111 करोड़ स्कीम को संचालित करने के लिए व्यय कर दिए गए है एवं यह अकड़ा प्रतिवर्ष बढ़ता जा रहा है। जिससे किसानों की आय दोगुनी हो सकेगी एवं उन्हें प्रतिवर्ष होने वाले ठगों से बचाया जा सकेगा।

योजना के माध्यम से राज्य के किसानों को प्रदान की जाने वाली राशि सरकार द्वारा लाभार्थियों के बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से जमा कर दिया जायेगा। जिससे उन्हें किसी सरकारी दफ्तरों में अपने रुपयों से संबंधित जानकारी प्राप्त करने नहीं जाना होगा।

Bhavantar Bhugtan Yojana Highlights

योजना भावांतर भुगतान योजना
किसके द्वारा शुरू किया गया है मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा
लाभार्थी राज्य के किसान
राज्य मध्यप्रदेश
आधिकारिक वेबसाइट E-Uparjan,Computerization of Foodgrain Procurement System (mpeuparjan.nic.in)

एमपी भावांतर भुगतान योजना के तहत चयनित फसलें

  • समर्थन मूल्य में आने वाली खरीफ की फसलें :- उड़द, मूंग, तुअर एवं धन इत्यादि
  • भावांतर योजना में शामिल निम्नलिखित फसलें :- सोयाबीन, ज्वार, मूंगफली मक्का रामतिल बाजरा एवं तिल इत्यादि। साथ ही भवान्तर योजना में नै 13 फसलों को सम्मिलित है जैसे :- कपास, मूंग, तूर की दाल, सोयाबीन, जवाहर, चावल, गेंहू, रामतिल, तिल, मूंगफली एवं बाजरा इत्यादि।

भावांतर भुगतान योजना लाभ

  • Bhavantar Bhugtan Yojana के माध्यम से राज्य के किसानों को लाभान्वित किया जाएगा।
  • लाभार्थियों को प्राप्त होने वाली वित्तीय सहायता DBT के माध्यम से लाभार्थी के बैंक खाते में जमा कर दी जाएगी।
  • स्कीम के माध्यम से राज्य के किसान अपनी फसल को विक्रय करके दोबारा से अपने खेतों में फसल उगा सकते है।
  • न्यूनतम समर्थन मूल्यों (MSP) के नीचे कृषि उत्पादन बेचते समय नुकसान झेलते है। जिससे किसानों को फसलों के विक्रय के दौरान होने वाले घाटों से बचाया जा सकेगा।
  • स्कीम में आवेदन करने की प्रक्रिया ऑनलाइन निर्धारित की गई है।

MP रबी की फसल की मूल्य सूची

  • मसूर – 4,250 रुपए प्रति क्विंटल
  • चना – 4,400 रुपए प्रति क्विंटल
  • लहसुन – 3200 रुपए प्रति क्विंटल (अनुमानित)
  • गेहूं का समर्थन मूल्य = 2000 रुपए/ क्विंटल
  • सरसों – 4,000 रुपए प्रति क्विंटल
  • तुअर मॉडल रेट = 3860 रु/ कुंतल (1 से 30 अप्रैल 2018 के लिए)
  • प्याज – 8 रुपए प्रति किलो (अनुमानित)

खरीफ की फसलों की मूल्य सूची

  • बाजरा – 1950 रुपए प्रति क्विंटल
  • मक्का – 1,700 रुपए प्रति क्विंटल (500 रु/ क्विंटल फ्लेट भावांतर मिलेगा)
  • धान – 1750 रुपए प्रति क्विंटल
  • धान ग्रेड ए – 1770 रुपए प्रति क्विंटल
  • ज्वार मालडंडी – 2450 रुपए प्रति क्विंटल
  • सोयाबीन – 3,399 रुपए प्रति क्विंटल (500 रु/ क्विंटल फ्लेट भावांतर मिलेगा)
  • ज्वार हाईब्रिड – 2430 रुपए प्रति क्विंटल
  • कपास लंबा रेसा – 5450 रुपए प्रति क्विंटल (500 रु/ क्विंटल फ्लेट भावांतर मिलेगा)
  • अरहर – 5675 रुपए प्रति क्विंटल
  • मूँग- 6,975 रुपए प्रति क्विंटल
  • कपास मध्यम रेसा – 5150 रुपए प्रति क्विंटल (500 रु/ क्विंटल फ्लेट भावांतर मिलेगा)
  • तुअर – 5675 रुपए प्रति क्विंटल
  • रामतिल – 5,877 रुपए प्रति क्विंटल
  • तिल – 5,675 रुपए प्रति क्विंटल
  • उड़द – 5,600 रुपए प्रति क्विंटल
  • मूँगफली – 4,890 रुपए प्रति क्विंटल
भावांतर भुगतान योजना मुख्य पात्रताएं
  • Bhavantar Bhugtan Yojana में आवेदन करने के लिए लाभार्थी मध्यप्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए।
  • स्कीम के तहत राज्य के किसान को लाभान्वित किया जायेगा।
मध्यप्रदेश भावांतर भुगतान योजना आवश्यक दस्तावेज
  • आधार कार्ड
  • स्थाई निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक खाते पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पास पोर्ट साइज़ फोटो
  • पहचान पत्र
  • किसान पंजीकरण प्रमाण पत्र
  • सिकमी / पट्टा भूमि के मामले में, प्राधिकरण का पत्र और मूल भूमि मालिक की ऋण पासबुक

भावांतर भुगतान योजना आवेदन प्रक्रिया

  • सर्वप्रथन आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट E-Uparjan,Computerization of Foodgrain Procurement System (mpeuparjan.nic.in) ओपन कर लीजिये।
  • अब वेबसाइट के होम पेज पर आपको खरीफ का विकल्प दिखाई देगा। उसे क्लिक कर लीजिये।भावांतर भुगतान योजना 2023: ऑनलाइन आवेदन Bhavantar Bhugtan Yojana
  • उसके बाद अगले पेज में आपको खरीफ उपार्जन वर्ष 2023 हेतु किसान पंजीकरण का विकल्प दिखाई देगा। उसे क्लिक का दीजिये।
  • अब आपसे कुछ निजी जानकारी पूछी जाएगी, उन्हें दर्ज कर लीजिये।
  • अब आपके सामने आवेदन फॉर्म ओपन हो जायेगा।
  • फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारियों को ध्यानपूर्वक पढ़कर दर्ज कर दीजिये।
  • अब आपको फॉर्म के नीचे दिए गए सबमिट के विकल्प पर क्लिक कर दीजिये।
  • इस प्रकार आपकी भावांतर भुगतान योजना आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

भावांतर भुगतान योजना से संबंधित प्रश्न उत्तर

MP Bhavantar Bhugtan Yojana की शुरुआत किसके द्वारा की गई है ?

Bhavantar Bhugtan Yojana की शुरुआत राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा की गई है।

एमपी भावांतर भुगतान योजना का मुख्य उद्देश्य क्या है ?

भावांतर भुगतान योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों की आय दोगुनी करना जिससे वह आर्थिक रूप से मजबूत हो सकेंगे।

Bhavantar Bhugtan Yojana के तहत लाभार्थी कौन है ?

Bhavantar Bhugtan Yojana के तहत लाभार्थी राज्य के किसान है।

भावांतर भुगतान योजना की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

भावांतर भुगतान योजना की आधिकारिक वेबसाइट E-Uparjan,Computerization of Foodgrain Procurement System (mpeuparjan.nic.in) है।

Leave a Comment