राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा को लेकर नेपाल की अपने नागरिकों को सख्‍त ह‍िदायत, कहा-भूलकर भी न करें 22 जनवरी को ये काम

राम मंदिर अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाली प्राण प्रतिष्ठा के लिए नेपाल ने अपने नागरिकों को कुछ विशेष हिदायतें दी हैं। इस ऐतिहासिक आयोजन के मद्देनजर, नेपाल ने अपने नागरिकों से 22 जनवरी को आरती और विशेष पूजा करने के साथ ही शराब और मांसाहारी भोजन की बिक्री और खपत पर प्रतिबंध लगाने का आग्रह किया है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा को लेकर नेपाल की अपने नागरिकों को सख्‍त ह‍िदायत, कहा-भूलकर भी न करें 22 जनवरी को ये काम

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने नेपाली पुजारी आचार्य दुर्गा प्रसाद गौतम को इस विशेष धार्मिक समारोह का नेतृत्व करने के लिए आमंत्रित किया है। गौतम, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित हजारों हिंदू भक्तों के सामने वैदिक मंत्रों का पाठ करेंगे।

इस अवसर पर, नेपाल के जनकपुर से 500 से अधिक सजी हुई उपहार टोकरियां अयोध्या भेजी गई हैं। जनकपुर को माता सीता का जन्मस्थान माना जाता है, और ये उपहार टोकरियां इस आयोजन में नेपाल की भागीदारी और इसके धार्मिक महत्व को दर्शाती हैं।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

इसके अलावा, नेपाल के बीरगंज मेट्रोपॉलिटन सिटी ने भी 22 जनवरी को मांसाहारी भोजन और शराब की बिक्री और खपत पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया है। इस दिन शहर के घड़ियारवा पोखरी में एक विशेष समारोह भी आयोजित किया जाएगा।

इन प्रयासों से यह स्पष्ट है कि नेपाल भी अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के इस ऐतिहासिक आयोजन में अपनी धार्मिक और सांस्कृतिक भागीदारी को महत्व दे रहा है।

Leave a Comment