Ajab gajab : भिखारी या लखपति? झारखंड के इस शख्स की कहानी आपको हैरान कर देगी!

Ajab gajab : कहते हैं कि किस्मत कभी भी पलट सकती है। यह बात उस भिखारी के लिए बिल्कुल सच साबित हुई है जो रेलवे स्टेशन पर भीख मांगता था। पहली नज़र में, आपको उस पर दया आ जाएगी, लेकिन सच जानकर आप हैरान रह जाएंगे।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
Ajab gajab : भिखारी या लखपति? झारखंड के इस शख्स की कहानी आपको हैरान कर देगी!
Ajab gajab : भिखारी या लखपति? झारखंड के इस शख्स की कहानी आपको हैरान कर देगी!

झारखंड अपनी प्राकृतिक संपदा और प्रतिभाशाली लोगों के लिए जाना जाता है। आज हम एक ऐसे व्यक्ति के बारे में बात करेंगे जो न तो अपनी प्रतिभा और न ही किसी नेक काम के लिए प्रसिद्ध है। यह व्यक्ति है झारखंड का सबसे अमीर भिखारी!

भारत में हर सड़क चौराहे पर भिखारी दिखते हैं। उनकी गरीबी देखकर मन में दया उमड़ती है और हम अपनी हालत के लिए भगवान का शुक्रिया करते हैं। लेकिन झारखंड का छोटू बड़ाइक आपको चौंका देगा। छोटू कोई साधारण भिखारी नहीं है, वह राज्य का सबसे अमीर भिखारी है। उसकी सालाना कमाई चार लाख रुपये से भी अधिक है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

दिव्यांग है छोटू 

चक्रधरपुर रेलवे स्टेशन पर भिखारी बने छोटू बड़ाइक की चर्चा सोशल मीडिया पर व्यापक रूप से हो रही है। यहां तक कि उसकी मेहनती प्रेरणादायक कहानी वायरल वीडियो बन चुकी है। छोटू का कमर का हिस्सा काम नहीं करने के कारण, उसने रेलवे स्टेशन पर भिख मांगना शुरू किया। लेकिन परिवार को चलाना मुश्किल हो जाने पर, उसने एक कंपनी के प्रॉडक्ट की बिक्री करना शुरू कर दिया। अब छोटू की सालभर की कमाई चार लाख से अधिक हो चुकी है और वह अब ठाठ की जीवनशैली का आनंद ले रहा है।

संभालता है तीन बीवियां

अब मैं आपको छोटू के एक विशेष पहलुओं के बारे में बताता हूं। हालांकि छोटू दिव्यांग हैं, उन्होंने अद्वितीय रूप से तीन शादियां की हैं। यह बात उनकी अनोखी और असामान्य जीवनशैली को चिरपिंग बनाती है। उनकी तीनों पत्नियां भी सकारात्मक रूप से योगदान दे रही हैं और अपनी कमाई का पूरा हिस्सा पति को समर्पित कर रही हैं। इसके बाद, छोटू तीनों पत्नियों को बराबरी से सैलरी भी प्रदान करते हैं। जब इस रेखांकित भिखारी की कहानी सोशल मीडिया पर सामने आई, तो लोगों ने इस पर हैरानी व्यक्त की, और कई लोगों ने इसे एक अद्वितीय पहलुओं वाला उदाहरण माना।

Leave a Comment