उद्योग लगाओ आय बढ़ाओ योजना क्या है ? | लाभ ,उद्देश्य , पात्रता ,पंजीकरण प्रक्रिया

राजस्थान राज्य सरकार ने राज्य के किसानो की आर्थिक सहायता के लिए उद्योग लगाओ आय बढ़ाओ योजना संचालित की है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

जिसके माध्यम से राज्य के किसान कृषि संबंधित बिजनेस सेटअप कर सकते है। इसके लिए सरकार किसानो को सब्सिडी की सहायता प्रदान करेगी।

किसानों को आर्थिक रूप से सक्षम बनाने के लिए कई तरह की उद्योग योजनाओं को शुरू किया जाता है जिसमें से राजस्थान मुख्यमंत्री लघु उद्योग प्रोत्साहन योजना भी एक है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
उद्योग लगाओ आय बढ़ाओ योजना क्या है ? |
उद्योग लगाओ आय बढ़ाओ योजना

राजस्थान योजना में राज्य के सभी नागरिक आवेदन करके लाभ प्राप्त कर सकते है।

उद्योग लगाओ आय बढ़ाओ योजना क्या है ?

राजस्थान के मुख्यमंत्री द्वारा राज्य के नागरिकों और खास तौर पर किसानो को आर्थिक रूप से सक्षम बनाने के लिए संचालित की गई है।

योजना के अंतर्गत सरकार आवेदक को फ़ूड प्रोसेसिंग का बिजनेस सेटअप करने के पर 50% रुपयों की सब्सिडी प्रदान करेगी।

किसानों के हिट के लिए संचालित की गई इस योजना को कृषि प्रसंस्करण कृषि व्यवसाय एवं कृषि निर्यात द्वारा शुरू किया गया है।

योजना की सहायता से राज्य के किसान वेयरहाउस, कोल्ड स्टोरेज हाउस, मिल्क प्लांट इत्यादि बिजनेस प्रारम्भ कर सकते है।

 Udyog Lagao Aay Badhao Yojana 2023 के अंतर्गत सरकार द्वारा अधिकतम 1 करोड़ रुपए तक का अनुदान प्रदान किया जाएगा। यह योजना किसानों की आय में वृद्धि करने में कारगर साबित होगी।

इसके अलावा इस योजना के अंतर्गत बैंक से ऋण लेने पर किसानों को 5 साल के लिए 6% की दर से ₹1 करोड़ तक तक का ब्याज अनुदान भी प्रदान किया जाएगा। जिसका तात्पर्य यह है कि एग्री बिजनेस के लिए दो करोड़ रुपए तक के पंजीकृत अनुदान का प्रावधान सरकार द्वारा किया गया है।

योजना के आवश्यक बिंदु

योजना उद्योग लगाओ आय बढ़ाओ योजना
किसके द्वारा शुरू की गई है केंद्रीय राज्य सरकार द्वारा
राज्य राजस्थान
उद्देश्य राज्य किसानो की आय में वृद्धि करना
लाभार्थी राजस्थान के किसान नागरिक
हेल्पलाइन नंबर  0141-2927047
0141-2922613
0141-2922614

स्कीम के महत्वपूर्ण उद्देश्य

  • योजना के माध्यम से राजस्थान की सरकार राज्य के किसानों को स्वयं का उद्योग स्थापित करने में आर्थिक सहायता प्रदान करने का प्रयास कर रही है।
  • राज्य सरकार किसानों को उद्योग स्थापित करने में लगने वाले कुल लागत का 50% सब्सिडी के रूप में प्रदान करेगी।
  • स्कीम के माध्यम से किसानों को आर्थिक रूप से आत्मनिभर बनाने का प्रयास किया जायेगा।
  • योजना के तहत किसानो की आय में वृद्धि होगी।
  • स्कीम की सहायता से किसानो को केवल फसलों पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा।

योजना की विशेषताऐं एवं लाभ

  • उद्योग लगाओ आए बढ़ाओ योजना रास्थान राज्य की है।
  • योजना के अंतर्गत राज्य सरकार किसानो को उद्योग स्थापित करने के लिए अधिकतम 1 करोड़ रुपये की राशि का अनुदान प्रदान करेगी।
  • स्कीम के अंतर्गत अगर किसान फ़ूड प्रोसेसिंग का व्यवसाय शुरू करता है तो सरकार द्वारा लागत की 50% सब्सिडी सीधे किसान के बैंक खाते में जमा करवा दी जाएगी।
  • यह योजना 2019 में राजस्थान कृषि प्रसंस्करण कृषि व्यवसाय एवं कृषि निर्यात प्रोत्साहित नीति द्वारा संचालित की गई है।
  • योजना के अंतगत किसान निम्न उद्योगों को शुरू कर सकते है जैसे – वेयरहाउस, मिल्क प्लांट एवं कोल्ड स्टोरेज हाउस इत्यादि।
  • योजना के माध्यम से किसानों की आय में वृद्धि होगी।
  • योजना के अंतर्गत अगर कोई किसान ऋण लेकर अपना उद्योग स्थापित करना चाहता है तो उसे 5 साल के लिए 6% की दर से 1 करोड़ तक का ब्याज मिल सकता हैं।
  • योजना के अंतर्गत किसानों को प्रधानता दी गई है लेकिन राज्य के अन्य गरीब वर्गीय व्यक्ति भी योजना का लाभ प्राप्त करके अपना एग्री फूड प्रोसेसिंग बिजनेस शुरू कर सकते है।
  • लेकिन अन्य नागरिको को केवल 25 % सब्सिडी ही प्रदान की जाएगी।
  • योजना के माध्यम से नागरिको को 5000000 रुपये तक का लाभ प्राप्त हो सकता है।
स्कीम की पात्रताएं
  • योजना में आवेदन करने के लिए आवेदक राजस्थान का मूल निवासी होना आवश्यक है।
  • स्कीम के तहत राज्य के किसान, किसान उत्पादक संगठन के लोग एवं सहकारी समितियां इत्यादि पात्र बन सकते है।
  • योजना का लाभ राज्य के सभी नागरिकों को दिया जाएगा।
  • योजना के तहत आवेदन करने की आयु 18 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए तभी वह के नागरिक योजना का लाभ प्राप्त कर सकते है।
  • आवेदक केवल एक बार ही इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकता है।
  • आवेदक को योजना का लाभ राज्य की स्वयं सहायता समूह द्वारा प्रदान किया जायेगा।

उद्योग लगाओ आय बढ़ाओ योजना की आवेदान प्रक्रिया

योजना में आवेदन करने के लिए आपको कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों की आवश्यकता होगी दस्तावेजों का विवरण नीचे निम्नलिखित है :-

  • आधार कार्ड
  • स्थाई निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • मोबाईल नंबर
  • बैंक खाते की डिटेल्स
  • पास पोर्ट साइज़ फोटो
  • ईमेल आईडी
  • कृषि भूमि के दस्तावेज
  • आयु प्रमाण पत्र
  • वोटर आईडी कार्ड

सभी दस्तावेजों के पुरे हो जाने पर आवेदान कर सकते है आवेदन करने की प्रक्रिया नीचे निम्नलिखित है :-

  • आवेदन हेतु उद्योग लगाओ आय बढ़ाओ योजना की आधिकारिक वेबसाइट (rajasthan.gov.in) में प्रवेश करें।
  • होम पेज पर आपको किसान /नागरिक लॉग इन में क्लिक करना है। उद्योग लगाओ आय बढ़ाओ योजना क्या है ? | लाभ ,उद्देश्य , पात्रता ,पंजीकरण प्रक्रिया
  • आगे दी गयी जानकारी को दर्ज करें और सबमिट में क्लिक करें। उद्योग लगाओ आय बढ़ाओ योजना
  • इसके पश्चात “उपयोगकर्ता मार्गदर्शिका के सेक्शन में कृषि प्रसंस्करण के तहत सब्सिडी के लिए आवेदन करें” में क्लिक करें।
  • अब “चयन करें” के विकल्प में क्लिक करें।
  • उसंबंधित कैटेगिरी का चयन करें
  • आधार नंबर दर्ज करके ओटीपी भी दर्ज करें।
  • अब प्राप्त आवेदन फॉर्म में दी गयी सभी जानकारी को दर्ज करके सबमिट में क्लिक करें।
  • इस प्रकार आपकी उद्योग लगाओ आय बढ़ाओ योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

उद्योग लगाओ आय बढ़ाओ योजना से संबंधित प्रश्न-उत्तर

उद्योग लगाओ आय बढ़ाओ योजना किस राज्य में संचालित की गई है ?

उद्योग लगाओ आय बढ़ाओ योजना राजस्थान राज्य में संचालित की गई है।

योजना का मुख्य उद्देश्य क्या है ?

योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के किसानों को आत्मनिर्भर बनाना है।

किसानो को ऋण लेने पर कितने प्रतिशत की दर से ब्याज देना होगा ?

किसानो को ऋण लेने पर 6 % प्रतिशत की दर से ब्याज देना होगा।

राज्य सरकार द्वारा किसानों को अधिकतम कितने रुपयों का अनुदान प्रदान किया जायेगा ?

राज्य सरकार द्वारा किसानों को अधिकतम 1 करोड़ रुपयों तक का अनुदान प्रदान किया जाएगा।

इस लेख में हमने आपके साथ राजस्थान की उद्योग लगाओ आय बढ़ाओ योजना से संबंधित जानकारी साझा की है। अगर आपको लिखित जानकारी के अलावा कोई अन्य जानकारी चाहिए तो आप कमेंट बॉक्स में मेसेज हमें सूचित कर सकते है हमारी टीम द्वारा आपके प्रश्नो के उत्तर अवश्य दिए जायेंगे। आशा करते है की आपको हमारे लेख के माध्यम से सहायता प्राप्त हुई होगी।

Leave a Comment