Article

टीचर्स डे स्पीच इन हिंदी | Teacher’s Day Speech in Hindi

भारत में 5 सितंबर को डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी जयंती के अवसर पर शिक्षक दिवस मनाया जाता है।

टीचर्स डे स्पीच इन हिंदी– जैसे की आप सभी लोग जानते है की भारत में 5 सितंबर को डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी जयंती के अवसर पर शिक्षक दिवस मनाया जाता है। यह दिन सभी छात्र-छात्राओं एवं शिक्षकों के लिए एक विशेष दिन होता है। डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी हमारे देश के दूसरे राष्ट्रपति होने के साथ-साथ एक महान शिक्षक और दार्शनिक भी थे। इस लेख में हमने Teacher’s Day Speech से संबंधी जानकारी को साझा किया है। छात्र-छात्राएं शिक्षक दिवस के अवसर पर हमारे इस आर्टिकल में दी गयी जानकारी के अनुसार भाषण की तैयारी कर सकते है।

टीचर्स डे स्पीच इन हिंदी
टीचर्स डे स्पीच इन हिंदी

शिक्षक दिवस समारोह वर्ष 1962 में शुरू हुआ था जिसके बाद से यह हमारे देश में एक परंपरा बन गयी और इस दिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाने लगा। यह दिन विशेष रूप से हमारे जीवन में शिक्षकों की क्या महत्वपूर्ण भूमिका है उसको याद करने के लिए मनाया जाता है। स्कूलों और संस्थानों में बड़ी उत्साह के साथ इस दिवस को मनाया जाता है ,इस दिवस में सांस्कृतिक कार्यक्रमों में छात्र अपना प्रदर्शन करने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेते है।

टीचर्स डे स्पीच इन हिंदी

आदरणीय प्रधानाचार्य महोदय, शिक्षकों और मेरे प्यारे सभी दोस्तों आप सभी को शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनायें।

आज शिक्षक दिवस के इस शुभ अवसर पर यहाँ खड़े होकर हमारे सभी प्रतिष्ठित शिक्षकों का स्वागत करते हुए मैं सम्मानित मससूस कर रही हूँ। किसी छात्र के जीवन में शिक्षक की क्या भूमिका है इसका उल्लेख करने के लिए शायद शब्द कम पड़ सकते है। एक विद्यार्थी के जीवन में शिक्षक अपने आप में एक देवताओं का संकलन है जो जीवन में हमें निरंतर सफल होने के लिए मार्गदर्शक करते है।

इसीलिए हमारे समाज में शिक्षक का स्थान ईश्वर से ऊपर माना जाता है ,शिक्षक एक छात्र के जीवन में सफलता की सीढ़ी के लिए उन सभी मानवीय मूल्यों को आकार देता है जो मानवता के रूप में समाज को मजबूत और प्रगतिशील बनाने में मदद करता है। छात्रों को जीवन में अच्छे रास्ते पर ले जाने के लिए एक शिक्षक हजारों अवसरों की खिड़की खोलने अपना एक अहम योगदान देते है। कभी कभी एक शिक्षक हमारे जीवन में कठोर हो सकते है लेकिन वह अंत में यही चाहते है की उनका शिष्य जीवन में सर्वश्रेष्ठ संपादन बने।

गुरु बिन ज्ञान न होत है, गुरु बिन दिशा अजान,
गुरु बिन इन्द्रिय न सधें, गुरु बिन बढ़े न शान।
 
गुरु मन में बैठत सदा, गुरु है भ्रम का काल,
गुरु अवगुण को मेटता, मिटें सभी भ्रमजाल।

प्रिय शिक्षकों आप हमे ज्ञान बुनियादी मूल्यों और जीवन में समस्याओं का हिम्मत से कैसे समाना करना है उन सभी घटनाओं से रूबरू करवाते हो। जीवन में आपने हमे इस बात का एहसास कराया है की ना केवल अपने लिए बल्कि पुरे समाज के लिए मानव जीवन को बेहतर बनाने की अनंत संभावनाएं है। Teacher’s Day के इस शुभ अवसर पर मै आपको धन्यवाद कहती हूँ ,मैं जानती हूँ की आपके आशीर्वाद को चुकाने के लिए यह पर्याप्त नहीं होगा। लेकिन हम आज आपको यह विश्वास दिलाते है की आपके द्वारा दिखाए गए मार्ग पर हम चलेंगे एवं आपके द्वारा दिए गए ज्ञान का एक बड़ा हिस्सा इस दुनिया की सद्भावना के लिए योगदान देंगे।

यहाँ भी पढ़े भारतीय राष्ट्रीय ध्वज इतिहास महत्त्व निबंध

Teacher’s Day Speech in Hindi टीचर्स डे स्पीच इन हिंदी

एक विद्यार्थी के जीवन में उसका गुरु मोमबत्ती की तरह होता है जो शिष्य को रोशन करने के लिए खुद को जलाता है। जब हम दिशाहीन होते है तो वह हमे नेक मार्ग दिखाते है। शिक्षकों ने समाज को शिक्षित बनाने और दुनिया को एक बेहतर जगह बनाने के लिए अपना एक अहम योगदान दिया है। हमारा इतिहास भी हमे इस बात से रूबरू करवाता है की शिक्षकों को पूरी दुनिया में सबसे ऊपर माना जाता है। पौराणिक कथा के अनुसार आपने गुरु और शिष्य की कहानी के रूप में एकलव्य और द्रोणाचार्य जी की कथा तो सुनी ही होगी जिसमें एकलव्य ने बिना कुछ सोचे समझे गुरु दक्षिणा के रूप में द्रोणाचार्य जी को अपना दाहिना अंगूठा दे दिया।

 गुरु नानक देव जी ने इस संबंध में कहा है की गुरु गोविन्द दोऊ खड़े , काके लागू पाय. बलिहारी गुरु आपने , गोविन्द दियो बताय . इसका अर्थ है की यदि अगर किसी दिन भगवान और शिक्षक दोनों एक साथ खड़े हो तो मैं पहले अपने शिक्षक के पैर छुऊंगा ,क्युकी मेरे गुरु ही है जिन्होंने मुझे भगवान् की बारे में बताया है। हमारे जीवन में एक शिक्षक कोई भी हो सकता है ,माता -पिता भाई बहन जो हमें जीवन की सही दिशा में ले जाते है। शिक्षक दिवस केवल हमारे शिक्षकों को मानाने के बारे में नहीं है बल्कि उनके मूल्यों को विकसित करने और आने वाली पीढ़ियों तक उनके शिक्षण को आगे बढ़ाने के लिए भी है।

अंधकार से खींचकर, मन में भरे प्रकाश,
ज्यों मैली चुनरी धुले, सोहत तन के पास।
 
गुरु की कृपा हो शिष्य पर, पूरन हों सब काम,
गुरु की सेवा करत ही, मिले ब्रह्म का धाम।
 
गुरु अनंत तक जानिए, गुरु की ओर न छोर,
गुरु प्रकाश का पुंज है, निशा बाद का भोर।

टीचर्स डे स्पीच इन हिंदी

भारत प्राचीन काल से ही महान शिक्षकों का देश रहा है जिसमें आर्यभट्ट से लेकर डॉ अब्दुल कलाम तक कई महान शिक्षकों ने एक अच्छे शिक्षक के महत्व पर जोर दिया है। डॉ अब्दुल कलाम जी ने कहा है की “शिक्षक किसी भी देश की रीढ़ होते हैं, वह स्तंभ जिस पर सभी आकांक्षाओं को वास्तविकता में परिवर्तित किया जाता है”। इसी संबंध में डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी ने भी कहा है की “शिक्षकों का दिमाग हमारे देश में सबसे अच्छा होना चाहिए” जो आने वाली पीढ़ी को आगे बढ़ाने और उन्हें भविष्य के नेता बनाने में पूर्ण रूप में सहयोग प्रदान कर सके।

दुनिया के विकास में शिक्षकों के योगदान के लिए प्रत्येक वर्ष 5 सितंबर को टीचर्स डे मनाया जाता है। यह दिन सभी विद्यार्थियों और शिक्षकों के लिए एक खास दिन है जिसे बड़े उत्साह के साथ सेलेब्रेट किया जाता है। एक शिक्षक एक प्रगतिशील देश का बुनियादी ढाँचा होता है इसी कारण अध्यापन विश्व का श्रेष्ठतम पेशा है। एक विद्यार्थी के जीवन में शिक्षक की भूमिका माता-पिता के जैसे होती है। जो प्रकाश के स्रोत की तरह है जो ज्ञान के ज्ञान का उत्सर्जन करता है और अंधेरे के बीच सही रास्ता दिखाता है।

प्रिय शिक्षकों, हम आशा करते हैं कि एक दिन जब हम अपने-अपने जीवन की राहों पर चलेंगे, तो आपकी सीख हमेशा हमारा मार्गदर्शन करेगी। हम इस ज्ञान को दुनिया के साथ साझा करेंगे ताकि इस दुनिया को एक बेहतर जगह और अधिक सभ्य समाज बनाया जा सके। अब अंत में मैं अपने शब्दो को यही विराम देती हूँ आप सभी को शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।

शिष्य वही जो सीख ले, गुरु का ज्ञान अगाध,
भक्तिभाव मन में रखे, चलता चले अबाध।
 
गुरु ग्रंथन का सार है, गुरु है प्रभु का नाम,
गुरु अध्यात्म की ज्योति है, गुरु हैं चारों धाम।

टीचर्स डे स्पीच इन हिंदी | 10 लाइन (Teacher’s Day Speech in Hindi)

टीचर्स डे स्पीच इन हिंदी

  1. प्रत्येक वर्ष भारत में शिक्षक दिवस को 5 सितंबर को मनाया जाता है। यह दिवस भारत के दूसरे राष्ट्रपति डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी के जयंती के अवसर पर मनाया जाता है। यह एक सम्मान और उत्साह मनाने वाला दिन है।
  2. यह दिवस भारत के आलावा अन्य देशों में भी मनाया जाता है लेकिन शिक्षक दिवस को अलग-अलग देशों में तिथि के अनुसार अलग-अलग मनाया जाता है।
  3. टीचर्स डे के शुभ अवसर पर स्कूलों कॉलेजों में विभिन्न तरह के सांस्कृतिक समारोह में छात्रों द्वारा भाग लेकर अपनी प्रस्तुति दी जाती है।
  4. सर्वपल्ली राधाकृष्णनन जी के जयंती के अवसर पर मनाया जाने वाला दिन एक उत्सव का वह दिन है जिस दिन छात्र के जीवन में शिक्षक की क्या भूमिका है उससे संबंधी सभी योगदान को याद किया जाता है।
  5. भूटान और अर्जेंटीना जैसे देशों में भी शिक्षक दिवस को मनाया जाता है। अर्जेंटीना में यह दिवस 11 सितंबर को और भूटान में 2 मई को यह दिवस मनाया जाता है।
  6. Teacher’s Day के दिन सीनियर क्लास के छात्राओं के द्वारा शिक्षक के रूप में प्रतिभाग करके अपने जूनियर की क्लास ली जाती है।
  7. एक शिक्षक निस्वार्थ भाव के साथ अपने विद्यार्थियों को गुणवक्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करता है जिससे वह भविष्य में अपनी जीवन के राहों में एक सफल मार्ग के लक्ष्य को हासिल कर सके।
  8. Teacher’s Day को मिठाई एवं केक कट करके बड़ी उत्साह के साथ सेलेब्रेट किया जाता है।
  9. सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ में छात्राओं के द्वारा अपने गुरुजनों को सम्मान के रूप में उपहार भेंट किये जाते है।
  10. शिक्षक दिवस अपने गुरु के सम्मान में मनाया जाने वाला एक महत्व पूर्ण दिन है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button