राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना को मिली मंजूरी, लाभ व पात्रता जाने

आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना के बारे में बताने जा रहें हैं। जानकारी के लिए बता दें राजस्थान सरकार की राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना को मंजूरी दी जा चुकी है। अब राज्य के दलित आदिवासी युवा इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत एससी/एसटी वर्ग के युवाओं को उद्यम स्थापित करने के लिए प्रोत्साहन दिया जाएगा। वे इच्छुक उम्मीदवार एवं पात्र युवा जो इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं वे आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

यहाँ हम आपको बतायेंगे राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना क्या है ? दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना के क्या लाभ है ? दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना आवेदन हेतु पात्रता क्या है ? दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना फॉर्म भरने के लिए जरूरी दस्तावेज क्या है ? योजना के अंतर्गत ब्याज अनुदान कितना है ? राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करें ? इन सभी के विषय में हम आपको विस्तारपूर्वक जानकारी देंगे। RJ Dalit Adiwasi Udhyam Protsahan Yojana 2023 संबंधित अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए इस लेख को ध्यानपूर्वक अंत तक पढ़िए –

राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना को मिली मंजूरी
राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना को मिली मंजूरी
Contents hide

राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना को मिली मंजूरी

जानकारी के लिए बता दें राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी ने RJ Dalit Adiwasi Udhyam Protsahan Yojana की शुरुआत की थी। हालाँकि हाल ही में इस योजना को मंजूरी मिली है। इस योजना के तहत अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के युवाओं को उद्यम स्थापित करने के लिए प्रोत्साहन दिया जाएगा और साथ ही युवाओं को कौशल सम्बन्धी प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। इस योजना का लाभ केवल राजस्थान के दलित आदिवासी युवाओ को ही मिलेगा। उम्मीदवारों को राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना का आवेदन करने के लिए फॉर्म भरकर आवेदन करना होगा। हालांकि अभी तक इस योजना की कोई आधिकारिक वेबसाइट जारी नहीं की गई है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

RJ Dalit Adiwasi Udhyam Protsahan Yojana 2023 Highlights

उम्मीदवार ध्यान दें यहाँ हम आपको राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना 2023 सम्बंधित कुछ विशेष जानकारी देने जा रहें हैं। इन जानकारियों को आप नीचे दी गई सारणी के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं। ये सारणी निम्न प्रकार है –

आर्टिकल का नाम राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना को मिली मंजूरी
साल 2023
राज्य का नाम RJ Dalit Adiwasi Udhyam Protsahan Yojana
उद्देश्य आदिवासी युवाओं को उद्योग हेतु वित्तीय सहायता प्रदान करना
लाभार्थी एससी, एसटी वर्ग के युवा
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट

भू नक्शा राजस्थान चेक एवं डाउनलोड कैसे करें

दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना के लाभ एवं विशेषताएं

यहाँ हम आपको RJ Dalit Adiwasi Udhyam Protsahan Yojana के लाभों एवं इसकी विशेषताओं के विषय में जानकारी देने जा रहें हैं। इन जानकारियों को आप नीचे दिए गए पॉइंट्स के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं। ये पॉइंट्स निम्न प्रकार हैं –

  • इस योजना का लाभ राज्य के अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के युवाओं को मिलेगा।
  • इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को उद्योग स्थापित करने के लिए वित्तीय सहायता दी जाएगी।
  • योजना के तहत भूमि आबंटन की देय राशि में ब्याज और भू-रूपांतर शुल्क में छूट मिलेगी।
  • इस योजना के अंतर्गत एससी/एसटी वर्ग के युवाओं को ट्रेनिंग भी दी जाएगी।
  • इस योजना के माध्यम से कमजोर वर्गो के युवाओं के लिए आर्थिक उन्नति के रास्ते खुलेंगे और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।
  • उद्यमियों को 7 वर्ष तक राज्य जीएसटी का 100 प्रतिशत पुनर्भरण होगा।
दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना
दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना

पात्रता

उम्मीदवारों को राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना ऑनलाइन आवेदन करने से पूर्व योजना हेतु तय की गई पात्रता पूरी करनी होगी। इन पात्रता को पूर्ण करने वाले उम्मीदवार ही योजना आवेदन करने के लिए पात्र माने जाएंगे। जानिए क्या है RJ Dalit Adiwasi Udhyam Protsahan Yojana के लिए पात्रता –

  • राजस्थान के अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग के उद्यमी इस योजना के पात्र होंगे।
  • आवेदन के समय उम्मीदवार की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • भागीदारी एवं एलएलपी फर्म, सहकारी समिति एवं कंपनी के मामलों में आवेदक संस्थान में अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग के व्यक्तियों का 51 प्रतिशत या अधिक स्वामित्व होना चाहिए।
  • राजकीय सेवा में कार्यरत, बैंक या वित्तीय संस्थानों से लिए गए ऋण के भुगतान में डिफाल्टर, मानसिक रूप से अस्वस्थ एवं दिवालिया घोषित व्यक्ति इस योजना के लिए अपात्र होंगे।

आवश्यक दस्तावेज

आवेदकों को दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना आवेदन फॉर्म भरने के लिए कुछ जरूरी दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। इन दस्तावेजों के आधार पर आप योजना हेतु फॉर्म भरकर आवेदन कर सकते हैं। ये जरूरी दस्तावेज निम्न प्रकार हैं –

  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आधार कार्ड
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता पासबुक
  • मोबाइल नंबर

राजस्थान घर घर औषधि योजना

दलित, आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना के तहत प्रशिक्षण

राज्य सरकार द्वारा डिक्की (दलित इंडियन चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स एवं इंडस्ट्री) के सहयोग से 100 करोड़ रूपये की लागत का इन्क्यूबेशन सेंटर स्थापित किया जाएगा, जिसमें युवाओं को उद्यम स्थापित करने संचालित करने सहित सभी जरूरी आवासीय प्रशिक्षण की सुविधाएँ उपलब्ध कराई जाएगी।

ब्याज अनुदान

जानकारी के लिए बता दें राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोस्ताहन योजना के तहत उद्यमियों को 25 लाख रूपये तक के ऋण पर 9 फीसदी और 5 करोड़ रूपये तक के ऋण पर 7 प्रतिशत ब्याज अनुदान दिया जाएगा। साथ ही 25 लाख रूपये तक की सीमा में प्रोजेक्ट लागत का 25 फीसदी तक मार्जिन मनी का भी प्रावधान किया गया है।

राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करें ?

उम्मीदवार ध्यान दें वे इच्छुक उम्मीदवार जो राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं उन उम्मीदवारों को इस योजना का आवेदन करने के लिए कुछ इंतज़ार करना होगा। हालांकि इस योजना के लिए मंजूरी मिल गई है लेकिन अभी तक योजना आवेदन के लिए कोई आधिकारिक वेबसाइट जारी नहीं की है। संभावित है जल्द ही आधिकारिक वेबसाइट और आवेदन प्रक्रिया जारी की जाएगी।

Dalit Adiwasi Udhyam Protsahan Yojana 2023 सम्बंधित प्रश्न/उत्तर

राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना की आधिकारिक वेबसाइट अभी तक जारी नहीं की गई है। जल्द ही इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट जारी की जाएगी।

राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना का लाभ किसे मिलेगा?

 राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना का लाभ राज्य के अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के युवाओं को मिलेगा।

राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना की शुरुआत किसने की?

राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना की शुरुआत राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा की गई थी।

दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना का उद्देश्य क्या है ?

दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना का उद्देश्य राज्य के अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के युवाओं को उद्यम शुरू करने के लिए प्रोत्साहन देना हैं।

इस लेख में हमने आपसे राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना और इससे सम्बंधित अनेक जानकारी साझा की है। अगर आपको इन जानकारियों के अलावा कोई अन्य जानकारी चाहिए तो आप नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में जाकर मैसेज करके पूछ सकते हैं। हमारी टीम द्वारा आपके सभी प्रश्नों के उत्तर अवश्य दिए जाएंगे। आशा करते हैं आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी से सहायता मिलेगी।

Leave a Comment