राजस्थान नवजात सुरक्षा योजना 2023: Apply ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म

राजस्थान राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के नवजात बच्चों को ध्यान में रखकर राजस्थान नवजात सुरक्षा योजना 2023 की शुरुआत की है। इस योजना के माध्यम से सरकार नवजात शिशुओं को बेहतर देखभाल हेतु चिकित्सा लाभ प्रदान करेगी। Rajasthan Navjaat Suraksha Yojana की शुरुआत की घोषणा 9 फरवरी 2020 राज्य के स्वास्थ्य मंत्री श्री रघु शर्मा द्वारा की गयी थी। इस योजना में वो शिशु जो कुपोषण के शिकार हैं, जिनका वजन कम है या फिर जिनका जन्म समय से पूर्व हुआ है, उनकी देखभाल की जाएगी। नवजात शिशु सुरक्षा योजना के जरिये सरकार राज्य के नवजात शिशुओं की मृत्यु दर में कमी लाने का प्रयास किया जाएगा।

राजस्थान नवजात सुरक्षा योजना
Rajasthan Navjaat Suraksha Yojana online awedan

Rajasthan Navjaat Suraksha Yojana राजस्थान नवजात सुरक्षा योजना

राजस्थान नवजात सुरक्षा योजना के माध्यम से राज्य सरकार प्रदेश के नवजात शिशुओं को कंगारू मदर केयर पद्धति के अंतर्गत देखभाल करेगी। वो शिशु जो कम वजन , कुपोषित या फिर समय से पूर्व जन्मे हैं उन्हें इस योजना के अंतर्गत लाभ दिया जाएगा। इस बात को सुनिश्चित करने के लिए कि राज्य में नवजात शिशुओं की मृत्यु दर में कमी आये इसके लिए जल्द ही ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू होंगे। इस योजना में मास्टर ट्रेनर्स तैयार किये जाएंगे। मास्टर ट्रेनर्स अलग अलग जिले और ब्लॉक स्तर पर जाकर नागरिकों में जागरूकता लाएंगे।

इस स्कीम के अंतर्गत समय समय पर नवजात शिशुओं की जांच की जाएगी जिससे बच्चे के स्वास्थ्य पर नजर रखी जा सके। बताते चलें कि इसमें बच्चे और उसकी माँ दोनों को लाभ मिलेगा। यदि प्रसव के दौरान शिशु की मौत हो जाती है तब भी माता को योजना के तहत योग्य माना जाएगा। योजना में वो महिलाएं जो ग्रामीण परिवेश से आती हैं उन्हें प्रसव के दौरान 1500 रूपए व शहरी क्षेत्र की महिलाओं को 1000 रूपए की धनराशि वित्तीय सहायता के तौर पर दी जाएगी।

(E Dharti) अपना खाता राजस्थान

यहाँ जानिये कंगारू मदर केयर तकनीक

राजस्थान नवजात सुरक्षा योजना के अंतर्गत शिशुओं को कंगारू मदर केयर के आधार पर चिकित्सीय सुविधा दी जाएगी। ये एक ऐसी तकनीक है जिसमें कम खर्च में बेहतर ढंग से इलाज किया जा सकता है। इस तकनीक में जैसे एक कंगारू अपने बच्चे की सुरक्षा करता है उसी तरह नवजात शिशु की सुरक्षा की जाएगी। इसमें नवजात बच्चे को पूरी तरह से सुरक्षा प्रदान किया जाएगा जिससे बच्चों की मृत्यु दर में कमी आएगी।

राजस्थान सरकार ने एक कैंप की शुरुआत की है जिसका नाम कंगारू मदर कैंप है। इसमें शिशुओं का इलाज किया जाता है। इसमें बेहतर इलाज मिलता है जिसे बच्चों की मृत्यु दर में बहुत कमी आ जाती है।

इन्हे मिलेगा योजना का लाभ

राजस्थान नवजात सुरक्षा योजना के अंतर्गत उन नवजात शिशुओं को लाभ मिलेगा जो कुपोषण के शिकार होंगे। इस के साथ ही वो बच्चे जो समय से पूर्व जन्मे हैं और जिनका वजन बहुत काम होगा वो भी इस स्कीम के तहत कंगारू मदर केयर पद्धति के माध्यम से स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान की जाएगी। इस योजना का लाभ लेने के लिए शिशु के माता पिता का राजस्थान का स्थायी निवासी होना आवश्यक है।

इसके अलावा जिन महिलाओं को प्रसव के समय अस्पताल में एडमिट कराया जाएगा, वो ही इसका लाभ ले सकेंगी। इसके अतिरिक्त ये आवश्यक होगा की गर्भवती महिला की उम्र कम से 18 वर्ष या उससे अधिक हो। इसमें ग्रामीण व शहरी दोनों ही परिवेश से आने वाली महिलाओं को लाभ प्रदान किया जाएगा।

नवजात सुरक्षा योजना से संबंधित लाभ

  • इस योजना में सरकार द्वारा नवजात शिशुओं की मृत्यु दर को कम करने का प्रयास किया जाएगा।
  • नवजात सुरक्षा योजना के जरिये महिलाओं को उचित पोषण और संतुलित आहार लेने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा जिससे उनके शिशु कुपोषण का शिकार ना हो।
  • ग्रामीण क्षेत्रों व शहरी क्षेत्रों की गर्भवती महिलाएं इसकी पात्र होंगी।
  • यदि कोई बच्चा कुपोषण , कम वजन और समय पूर्व जन्म ले लेता है तो उसके स्वास्थ्य की देखरेख करना और उसे स्वस्थ बनाना है।
  • कंगारू मदर केयर ट्रीटमेंट के माध्यम से शिशु का ट्रीटमेंट किया जाएगा।
  • महिलाओं को प्रसव के पश्चात 1400 रुपये की धनराशि दी जाएगी।
  • शहरी क्षेत्रों की महिलाओं को 1000 रुपये की वित्तीय सहायता मिलेगी।
  •  77 मास्टर ट्रेनर राज्य के लिए स्वास्थ्य कर्मचारियों को प्रशिक्षित करेंगे।
  • ये प्रशिक्षित स्वास्थ्य कर्मचारी जिले और ब्लॉक स्तर पर जाकर सभी लोगों को जागरूक करेंगे।
  • जो महिलाएं बीपीएल परिवारों से होंगी उन्हें घरेलु प्रसव होने पर उन्हें 500 रुपये की सहायता दी जाएगी।

ये हैं आवश्यक दस्तावेज

आवेदन हेतु ये आवश्यक दस्तावेज चाहिए होंगे –

  1. परिवार का राशन कार्ड
  2. निवास प्रमाण पत्र
  3. पैन कार्ड
  4. परिवार के सभी श्रोतो से आने वाली वार्षिक आय
  5. बैंक अकाउंट का विवरण
  6. शिशु जन्म प्रमाण पत्र
  7. मोबाइल नंबर
  8. शिशु के माता-पिता का आधार कार्ड

Rajasthan Navjaat Suraksha Yojana Apply

यदि आप भी राजस्थान के स्थायी निवासी हैं तो आप के शिशु को इस योजना का लाभ मिल सकता है। हालाँकि आप को जानकारी के लिए बता दें की इसके लिए अभी कोई आधिकारिक वेबसाइट की शुरुआत नहीं की गयी थी। आप को ऑनलाइन माध्यम के जरिये आवेदन करने के लिए अभी कुछ समय इंतज़ार करना होगा। जैसे ही इस योजना से जुडी कोई आधिकारिक वेबसाइट की शुरुआत की जाती है , आप इसमें आवेदन कर सकते हैं।

ऐसी ही अन्य सरकारी व गैर सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट mcpanchkula.org को बुकमार्क अवश्य करें ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Join Telegram