Central government scheme

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना: ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म, PMKSY 2022

देश के किसान नागरिकों को प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के माध्यम से सिंचाई उपकरण सब्सिडी के रूप में उपलब्ध करवाएं जायेंगे।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना– कृषि के क्षेत्र में बढ़ावा करने के लिए केंद्र सरकार के द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाएं संचालित की जाती है। उन्हीं योजनाओं में से एक महत्वपूर्ण योजना PMKSY 2022 भी है, जिसमें देश के सभी किसान नागरिकों को लाभान्वित करने के लिए योजना (Pradhan Mantri Krishi Sinchai Yojana) को शुरू किया गया है। केंद्र सरकार की इस स्कीम का मुख्य उद्देश्य हर खेत को पानी पहुँचाना है। देश के किसान नागरिकों को प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के माध्यम से सिंचाई उपकरण सब्सिडी के रूप में उपलब्ध करवाएं जायेंगे। ताकि किसान नागरिक सिंचाई के लिए किसी भी तरह की परेशानी का सामना न कर सके।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना
प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना

आज हम आपको अपने इस लेख के अंतर्गत प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना ऑनलाइन आवेदन से संबंधित जानकारी को साझा करने जा रहे है। अतः PMKSY 2022 से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी के लिए आप हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना

PMKSY 2022– केंद्र सरकार के द्वारा ‘हर खेत को पानी’ बढ़ाने  और जल उपयोग दक्षता में सुधार लाने की दृष्टि से प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना (PMKSY) को सिंचाई योजना का आरम्भ किया गया है। यह योजना जल संरक्षण और उसके प्रबंधन को उच्च प्राथमिकता देने के लिए प्रतिबद्ध है। सरकार के द्वारा Pradhan Mantri Krishi Sinchai Yojana में स्रोत निर्माण, वितरण, प्रबंधन, क्षेत्र अनुप्रयोग एवं विस्तार से संबंधी सभी गतिविधियों को शामिल किया गया है। माननीय प्रधनमंत्री की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति (cabinet committee on economic affairs) ने 1 जुलाई 2015 को हुई बैठक में पीएमकेएसवाई को मंजूरी दे दी गयी।

PMKSY 2022 केंद्र सरकार के द्वारा इस योजना को मिलकर तैयार किया गया है जिसमें जल संसाधन ,नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्रालय (MoWR,RD&GR), एकीकृत वाटरशेड प्रबंधन कार्यक्रम (IWMP), भूमि संसाधन विभाग (DoLR) कृषि और सहकारिता विभाग (DAC) ,त्वरित सिंचाई लाभ कार्यक्रम (AIBP) और कृषि जल प्रबंधन (OFWM) आदि शामिल है। केंद्र सरकार के द्वारा इस योजना के लिए 50 हजार करोड़ रूपये का बजट निर्धारित किया गया है। यह योजना देश के सभी राज्यों में लागू की गयी है।

Pradhan Mantri Krishi Sinchai Yojana 2022 

योजना का नामप्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना
योजना आरंभ की गयी देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा
वर्ष 2022
संबंधित मंत्रालय कृषि मंत्रालय भारत सरकार
पंजीकरण प्रक्रिया ऑनलाइन
योजना के लाभार्थीदेश के सभी किसान व्यक्ति
योजना से संबंधी सेवाएं ऑनलाइन उपलब्ध
उद्देश्यहर खेत को पानी पहुँचाना
लाभ कृषि हेतु पानी की व्यवस्था के साथ-साथ कृषि
उपकरणों की खरीद पर सब्सिडी का लाभ
आधिकारिक वेबसाइटpmksy.gov.in

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना 2022

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना
प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2022 क्या है ?

यह एक केंद्रीय स्तर योजना है जो किसान नागरिकों को फसलों में पानी की व्यवस्था उपलब्ध करवाने के लिए शुरू की गयी है। इस योजना के अंतर्गत किसानों को सिंचाई हेतु पानी की कमी से बर्बाद होने वाली फसल के लिए चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। क्युकी अब किसानों को योजना के अंतर्गत फसलों के लिए सही समय पर पानी की व्यवस्था उपलब्ध करवाई जाएगी। साथ ही सरकार के द्वारा किसानों को फसलों में सिंचाई करने के लिए एक विशेष सुविधा प्रदान की गयी है इस सुविधा के आधार पर किसान सिंचाई से संबंधी उपकरणों को अब सब्सिडी के रूप में खरीद सकते है।

जैसे की आप सभी लोग जानते है की कृषि सिंचाई यंत्र अत्यधिक महंगे होने के कारण किसान व्यक्ति इनकी खरीद नहीं कर पाते है। ऐसे में उन्हें अपनी फसलों में पानी पहुंचाने के लिए किसानों को कई प्रकार की समस्याओं से गुजरना पड़ता था लेकिन प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2022 के अंतर्गत सभी किसानों को सिंचाई हेतु एक विशेष प्रकार की सुविधा प्राप्त होगी। सब्सिडी के रूप में सिंचाई यंत्रों की खरीद करने पर किसान सही समय से अपने खेतों में पानी को पहुँचा सकते है।

पीएम कृषि सिंचाई योजना अवयव (Component)

  • AIBP
  • हर खेत को पानी
  • प्रति बूंद अधिक फसल-सूक्ष्म सिंचाई (एमआई) (Per Drop More Crop-Micro Irrigation (MI)
  • प्रति बूंद अधिक फसल-अन्य हस्तक्षेप (एसडब्ल्यूएमए) Per Drop More Crop-Other Interventions (SWMA)
  • जल विभाजन
  • मनरेगा के साथ अभिसरण

Pradhan Mantri Krishi Sinchai Yojana के उद्देश्य

PMKSY 2022 का मुख्य उद्देश्य हर खेत में पानी की व्यवस्था उपलब्ध करवाना ताकि किसी भी किसान व्यक्ति की फसल पानी की कमी से बर्बाद ना हो। केंद्र सरकार के द्वारा किसानों के हित के लिए यह एक अहम योजना आरंभ की गयी है। जिसमें अब किसानों को खेतों में पानी पहुंचाने के लिए किसी भी प्रकार की कोई दिक्क्त नहीं होगी। इस योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए केंद्र सरकार के द्वारा 50 हजार करोड़ रूपये का बजट निर्धारित किया गया है। ड्रिप इरीगेशन, स्प्रिंकलर के अंतर्गत किसानों को अब सिंचाई करने का अवसर मिलेगा।

आधुनिकी यंत्रों के उपयोग से सिंचाई करने पर किसानों की फसल उत्पादन में वृद्धि होगी। जिससे किसानों की आय सुदृढ़ होगी और वह आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर और सशक्त बनेंगे। जल संरक्षण परियोजना द्वारा भी उनके खेतो में सिंचाई के लिए पानी पहुंचाकर किसानों का विशेष रूप से सहयोग किया जायेगा।

प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना

PMKSY 2022 सब्सिडी

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2022 के अंतर्गत किसान नागरिकों को यंत्रों की खरीद करने पर केंद्र एवं राज्य सरकार के अंतर्गत सब्सिडी का लाभ प्रदान किया जाता है। सब्सिडी में 25 प्रतिशत भागीदारी राज्य की एवं 75 प्रतिशत भागीदारी केंद्र सरकार की होती है। सरकार के अंतर्गत भूजल विकास, संचयन, जल संरक्षण योजनाओं के निर्माण कार्य की शुरुआत की गयी है। ताकि यह किसानों को सिंचाई के लिए जल उपलब्ध करवाने में मदद कर सके। सब्सिडी के रूप में मिलने वाले उपकरणों से अब किसान व्यक्ति अपने लिए सिंचाई उपकरण खरीदने में समर्थ हो पाएंगे।

पीएम कृषि सिंचाई योजना की विशेषताएँ एवं लाभ

  • कृषि में सिंचाई करने वाले किसानों को योजना के अंतर्गत बेहतर लाभ प्राप्त होंगे।
  • सिंचाई उपकरणों की व्यवस्था उपलब्ध होने से किसान नागरिक सही समय पर अपने खेतों में पानी पहुँचा सकते है।
  • खेतों में सिंचाई करने के लिए किसान व्यक्ति प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2022 के अंतर्गत अपने लिए सब्सिडी के रूप में कृषि यंत्रों को खरीद कर इसका लाभ उठा सकते है।
  • सूखे के कारण अब किसानों की फसल में कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।
  • इस योजना के अंतर्गत सही समय पर खेतों में पानी की पहुंचाया जा सकता है। इस प्रक्रिया के अनुसार फसलों के उत्पादन में वृद्धि होगी जिससे किसानों की आर्थिक स्थिति में बेहतर सुधार होगा।
  • ड्रिप इरीगेशन, स्प्रिंकलर सिंचाई को PMKSY 2022 के अंतर्गत बढ़ावा मिलेगा।
  • जल परियोजनाओं के माध्यम से खेतो तक पानी पहुंचाने के लिए किसानों का विशेष रूप से सहयोग किया जायेगा।
  • Pradhan Mantri Krishi Sinchai Yojana के तहत रुकी हुई जल परियोजनाओं पर भी तेजी से काम होगा।
  • कृषि क्षेत्र में इस योजना के अंतर्गत एक बेहतर बदलाव आएगा।
  • किसान अब कम लागत में उपकरणों की खरीद कर अधिक मुनाफा कमाने में लाभ प्राप्त कर पाएंगे।
  • सेल्फ हेल्प ग्रुप ,कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग करने वाले किसान एवं अन्य संस्थाओं के द्वारा भी इस योजना का लाभ प्राप्त किया जा सकता है
  • 50000 करोड़ रूपये का बजट PMKSY 2022  के लिए निर्धारित किया गया है।
  • राज्य एवं केंद्र दोनों सरकार के सहयोग से किसानों को सिंचाई यंत्र खरीदने के लिए सब्सिडी प्रदान की जाती है जिसमें से राज्य की भागीदारी 25 प्रतिशत एवं केंद्र की 75 प्रतिशत है।
प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना

पीएमकेएसवाई हेतु पात्रता

  • PMKSY 2022 के अंतर्गत किसान व्यक्ति के पास कृषि योग्य भूमि होनी चाहिए।
  • Pradhan Mantri Krishi Sinchai Yojana के अंतर्गत 7 वर्ष से Lease Agreement पर जो किसान खेती करते है उन्हें भी कॉन्ट्रेक्ट फार्मिंग के जरिये इस योजना का लाभ प्राप्त होगा।
  • सेल्फ हेल्प ग्रुप्स, ट्रस्ट, सहकारी समिति, इंकॉर्पोरेटेड कंपनियां,आदि संस्थाएं भी योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने हेतु योग्य है।
  • कृषि कार्य करने वाले सभी किसान नागरिक इस योजना में आवेदन करने के पात्र है।

PM कृषि सिंचाई योजना 2022 के दस्तावेज़

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • किसानों की कृषि योग्य भूमि से संबंधित दस्तावेज
  • वोटर आईडी कार्ड
  • जमीन की जमा बंदी (खेत कि नकल)
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक अकाउंट  पासबुक
  • मोबाइल नंबर

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना एप्लीकेशन फॉर्म ऐसे भरें

यदि आप एक किसान नागरिक है पीएम कृषि सिंचाई योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते है तो आप नीचे दिए गए स्टेप्स के अनुसार योजना में आवेदन प्रक्रिया को पूरा कर सकते है।

  • किसान व्यक्ति प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना एप्लीकेशन फॉर्म भरने के लिए अपने खेत एवं क्षेत्र की आवश्यकताओं को ग्राम पंचायत के माध्यम से संबंधित ब्लॉक एवं जिला सिंचाई योजना में सम्मिलित करवा कर इस योजना का लाभ उठा सकते है।
  • इस योजना से संबंधी आवेदन की जानकारी के लिए किसान व्यक्ति अपने जिले /ब्लॉक को कृषि अधिकारी से संपर्क करके या किसान टोल फ्री नंबर 1800-180-1551 से जानकारी हासिल कर सकते है।
  • संबंधित अधिकारी से संपर्क करके ही आप प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना में आवेदन कर सकते है।

सम्पर्क डिटेल्स (Contact Details)

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना से संबंधी सहायता के लिए आप नीचे दिए गए अधिकारीयों से संपर्क कर सकते है।

सचिव

श्री मनोज आहूजा कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय,
कृषि एवं किसान कल्याण विभाग,
कृषि भवन, नई दिल्ली-110001
ई-मेल आईडी :[email protected]

संयुक्त सचिव (आरएफएस)

श्रीमती शोमिता बिस्वास
कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय,
कृषि एवं किसान कल्याण विभाग,
कमरा नं. 189,कृषि भवन, नई दिल्ली-110001
ई-मेल आईडी :[email protected]

निदेशक (आरएफएस)

श्री. पंकज त्यागी,
कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय,
कृषि और किसान कल्याणविभाग,
कमरा नंबर 216,कृषि भवन,
नई दिल्ली-110001
ई-मेल आईडी :[email protected] No: 4829

उपायुक्त (आरएफएस)

श्री. आरएएस पटेल
कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय,
कृषि एवं किसान कल्याण विभाग,
कमरा नं. 118-बी,शास्त्री भवन,
नई दिल्ली-110001
ई-मेल आईडी :[email protected] No: 5025

पीएम कृषि सिंचाई योजना से संबंधित प्रश्न एवं उनके उत्तर

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना कब आरंभ की गयी ?

केंद्र सरकार के द्वारा 1 जुलाई 2015 को प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना को आरम्भ किया गया।

पीएम कृषि सिंचाई योजना के क्या लाभ है ?

पीएम कृषि सिंचाई के कई लाभ है अब इस योजना के तहत किसान नागरिक खेतो में छोटे तालाब ,सूक्ष्म सिंचाई के साधन स्प्रिंकलर ,ड्रिप इरिगेशन के उपकरण प्राप्त करके अपनी फसलों तक पानी पहुँचा सकते है। इसके अतिरिक्त जल संचयन प्रबंधन विधियों आदि के बारे में प्रशिक्षण भी प्राप्त कर सकते है।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के अंतर्गत कौन-कौन से कार्य किये जायेंगे ?

केंद्र सरकार के द्वारा इस योजना में नए जल स्रोतों का निर्माण ,जल संचयन के साधनो का निर्माण ,पुराने जल स्रोतों को ठीक कराकर कारागार बनाना ,ग्रामीण स्तर पर परम्परागत जल तालाबों आदि की क्षमताएं बढ़ाने जैसे कार्य किये जायेंगे।

पीएम कृषि सिंचाई योजना को क्यों शुरू किया गया है ?

केंद्र सरकार के द्वारा पीएम कृषि सिंचाई योजना को हर खेत पानी के लक्ष्य के साथ योजना की शुरुआत की गयी है।

योजना के कार्यान्वयन के लिए कौन से मंत्रालय शामिल है ?

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के अंतर्गत कृषि मंत्रालय के साथ-साथ ग्रामीण विकास मंत्रालय एवं जल संसाधन मंत्रालय को योजना में कार्यान्वयन की जिम्मेदारी दी गयी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button