PFMS की Full Form क्या है? Check Your Payment Status

PFMS का पूरा नाम Public Financial Management System जिसे सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन सेवा कहा जाता है। यह एक वेब आधिकारित ऑनलइन सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन है, जिसे भारत सरकार और वित्त मंत्रालय निति आयोग द्वारा विकसित किया गया है। PFMS को पहले सेंट्रल प्लान स्कीम मॉनिटरिंग सिस्टम (CPSMS) कहा जाता था। इस पोर्टल पर केंद्र सरकार द्वारा दी जाने वाली सहायता राशि का लेखा-जोखा रखा जाता है।

PFMS जिसे सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन सेवा (Public Financial Management Service) कहा जाता है, एक तरह का ऑनलाइन यूज़र जनरेटेड सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन है, जिसे भारत सरकार द्वारा वर्ष 2009 में शुरू किया गया था। जिसके माध्यम से योजनाओं द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी या इससे जुडी अन्य वित्तीय लाभ को उपयोगकर्ता के खाते में डाला जाता है। इसके लिए नागरिकों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार जो समय-समय पर बहुत सी योजनाओं का संचालन कर नागरिकों को आर्थिक व सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन प्रणाली की सुविधा ऑनलाइन प्रदान करवा रही है।

जिसके लिए सरकार द्वारा PFMS पोर्टल जारी किया गया है। इस पोर्टल के माध्यम से अब नागरिक घर बैठे ही अपने पेमेंट के भुगतान की जानकारी चेक कर सकेंगे।

इसे भी देखें :- प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान

PFMS-full-form-check-online-payment-status
PFMS-full-form-check-online-payment-status

देश के नागरिक अब Public Financial Management Service PFMS पोर्टल पर कैसे अपने पेमेंट स्टेटस की जानकारी को चेक कर सकेंगे? PFMS क्या है और इसकी फुल फॉर्म क्या है? पीएफएमएस के क्या लाभ एवं उद्देश्य है और PFMS के तहत पेमेंट चेक करने की क्या प्रकरिया है, इसकी पूरी जानकारी आप हमारे लेख के माध्यम से जान सकेंगे।

PFMS की Full Form क्या है?

PFMS का पूरा नाम Public Financial Management System जिसे सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन सेवा कहा जाता है। यह एक वेब आधिकारित ऑनलइन सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन है, जिसे भारत सरकार और वित्त मंत्रालय निति आयोग द्वारा विकसित किया गया है। PFMS को पहले सेंट्रल प्लान स्कीम मॉनिटरिंग सिस्टम (CPSMS) कहा जाता था। इस पोर्टल पर केंद्र सरकार द्वारा दी जाने वाली सहायता राशि का लेखा-जोखा रखा जाता है।

जिसके लिए सभी नागरिकों की जानकारी पोर्टल पर दर्ज की गई होती है, PFMS पोर्टल पर सेव की गई डिटेल्स के आधार पर ही लाभार्थी को सब्सिडी दी जाती है, साथ ही इस पोर्टल के माध्यम से नागरिक सरकार द्वारा दी जाने वाली धनराशि की जानकारी भी ऑनलाइन माध्यम से चेक कर सकते हैं।

Public Financial Management System: Details

आर्टिकल का नाम PFMS की Full Form क्या है
PFMS का पूरा नाम Public Financial Management System
सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन सेवा
शुरू किया गया केंद्र सरकार द्वारा
पोर्टल की शुरुआत 2009
संबंधित विभाग वित्त मंत्रालय
साल 2022
पेमेंट स्टेटस चेक ऑनलाइन प्रक्रिया
लाभार्थी देश के सभी नागरिक
उद्देश्य नागरिकों को ऑनलाइन पेमेंट स्टेटस चेक करने की सुविधा देना
आधिकारिक वेबसाइट pfms.nic.in
PFMS

ED full form in Hindi – ED का फुल फॉर्म क्या है?

पीएफएमएस का उद्देश्य क्या है ?

केंद्र सरकार द्वारा PFMS पोर्टल को आरम्भ करने का मुख्य उद्देश्य उन्हें ऑनलाइन माध्यम से घर बैठे ही सरकार द्वारा दी जाने वाली साहायता राशि की पूरी जानकारी आसानी से चेक करने की सुविधा प्रदान करने के लिए किया गया है। जैसा की हम सभी जानते है की सरकार द्वारा देश के आर्थिक रूप से कमजोर आय वर्ग नागरिकों की आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए उन्हें वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है, जिससे उनकी स्थिति बेहतर हो सके और वह भी बिना किसी आर्थिक समस्या के बेहतर जीवन यापन कर सकें।

लेकिन सरकार द्वारा दी जाने वाली इस सहायता लाभार्थी को मिली है या नही यह पता लगाने के लिए उन्हें बार-बार कार्यालयों के चक्कर काटने पड़ते हैं, जिससे उन्हें बहुत से समस्याओं का सामना करना पड़ता है, ऐसे में नागरिकों को ऑनलाइन योजना के अंतर्गत दी जाने वाली धनराशि का स्टेटस आसानी से घर बैठे देखने की सुविधा प्रदान करने के लिए पीएफएमएस पोर्टल जारी किया गया है, जिसमे सरकार द्वारा दी जाने वाली धनराशि की पूरी जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध की गई है।

PFMS पोर्टल के लाभ

  • पीएफएमएस पोर्टल के माध्यम से नागरिकों को सरकार द्वारा योजना के तहत दी जाने वाली सहायता राशि की सभी जानकारी उपलब्ध हो जाएगी।
  • पोर्टल के माध्यम से नागरिकों के बैंक खाते में पैसे डाले जाते हैं।
  • नागरिक ऑनलाइन PFMS पोर्टल पर पेमेंट स्टेटस चेक कर सकेंगे।
  • ऑनलाइन माध्यम से जानकारी उपलब्ध होने से नागरिकों को दी जाने वाली सहायता राशि की जाँच के लिए यहाँ-वहाँ जाने की आवश्यकता नहीं होगी और इससे उनके समय की बचत हो सकेगी।
  • PFMS के माध्यम से ऑनलाइन कार्यों में पारदर्शिता बनी रहेगी, जिससे कार्यों में होने वाले भ्रष्टाचार को रोका जा सकेगा।
  • योजना के लाभार्थियों को दी जाने वाली धनराशि उनके बैंक अकाउंट में डीबीटी के माध्यम से ट्रांसफर की जाती है।

PFMS ऑनलाइन पेमेंट स्टेटस ऐसे करें चेक

ऑनलाइन पीएफएमएस स्टेटस चेक करने के लिए आवेदक पीएफएमएस पोर्टल पर आसानी से इसे देख सकेंगे, जिसके लिए वह यहाँ बताए गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं।

  • पेमेंट स्टेटस चेक करने के लिए आवेदक सबसे पहले PFMS की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब आपकी स्क्रीन पर वेबसाइट का होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ होम पेज पर आपको Know Your Payment के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। PFMS-Know-your-payment-status
  • अब अगले पेज में आपकी स्क्रीन पर स्टेटस चेक करने के लिए फॉर्म खुलकर आ जाएगा। Know-your-payment-status
  • यहाँ आपको फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी सही से भरनी होगी।
  • जैसे आपके बैंक का नाम, अकाउंट नंबर, कन्फर्म अकाउंट नंबर भरना होगा।
  • अब दिए गए कैप्चा कोड को भरकर आपको Send OTP on Regisered Mobile Number के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा।
  • क्लिक करने के बाद आपके रेजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आपको एक ओटीपी प्राप्त होगा।
  • अब मोबाइल पर आए ओटीपी को ओटीपी बॉक्स में भर दें।
  • जिसके बाद आपकी स्क्रीन पर पीएफएमएस ऑनलाइन स्टेटस से संबंधित जानकारी खुलकर आ जाएगी।

पीएफएमएस NSP पेमेंट ट्रैक करने की प्रक्रिया

पोर्टल पर NPS पेमेंट ट्रैक करने के लिए आवेदक यहाँ बताए गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं।

  • NPS पेमेंट ट्रैक करने के लिए आवेदक सबसे पहले PFMS की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब आपकी स्क्रीन पर वेबसाइट का होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ होम पेज पर आपको Track NSP Payment के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। Track-NSP-payment-status
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर एनपीएस पेमेंट ट्रैक करने के लिए फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ आपको फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे बैंक की शुरुआत के कुछ अक्षर, अकाउंट नंबर या NSP एप्लीकेशन आईडी भरनी होगी।
  • अब नीचे आपको दिए गए कैप्चा कोड को भरकर सर्च के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर NSP पेमेंट विवरण की सभी जानकारी खुलकर आ जाएगी।

PFMS पोर्टल पर फीडबैक दर्ज करने की प्रक्रिया

पीएफएमएस पोर्टल से संबंधित किसी तरह का फीडबैक दर्ज करने के लिए आवेदक यहाँ बताई गई प्रकारिया को फॉलो कर सकते हैं, जिसे दर्ज करने की जानकारी कुछ इस प्रकार है।

  • फीडबैक दर्ज करने के लिए आवेदक सबसे पहले PFMS की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब आपकी स्क्रीन पर वेबसाइट का होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ होम पेज पर आपको Feedback का विकल्प दिखाई देगा, जिस पर आपको क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर फीडबैक दर्ज करने के लिए फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ आपको पूछी गई सभी जानकारी जैसे आपका नाम, ईमेल आईडी, सब्जेक्ट भरकर कैटेगरी का चयन करना होगा।
  • अब दिए गए कैप्चा कोड को भरकर आपको सबमिट के बटन पर क्लिक कर देना होगा।
  • इस तरह आपकी पीएफएमएस पोर्टल पर फीडबैक दर्ज करने की प्रक्रिउआ पूरी हो जाएगी।

PFMS की Full Form क्या है 2022 से जुड़े प्रश्न/उत्तर

पीएफएमएस ऑनलाइन स्टेटस चेक करने के लिए इसकी ऑफिसियल वेबसाइट क्या है ?

पीएफएमएस ऑनलाइन स्टेटस चेक करने के लिए इसकी ऑफिसियल वेबसाइट pfms.nic.in है।

PFMS की फुल फॉर्म क्या है ?

PFMS का पूरा नाम Public Financial Management System जिसे हिंदी में सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन सेवा कहा जाता है।

पीएफएमएस पोर्टल के क्या लाभ है ?

पीएफएमएस पोर्टल के अंतर्गत सरकारी योजनाओं के तहत दी जाने वाली वित्तीय सहायता की जानकारी उपलब्ध रहेगी, जिससे नागरिक ऑनलाइन पेमेंट का स्टेटस PFMS पोर्टल पर चेक कर सकेंगे।

PFMS का हेल्पलाइन नंबर क्या है ?

PFMS का हेल्पलाइन नंबर : 1800 118 111 है।

पीएफएमस क्या है और इसके फायदे क्या है ?

PFMS-Core Banking Solution Interface और लाभार्थियों के ऑनलाइन सत्यापन और एजेंसियों के बैंक खाते के विवरण की सुविधा प्रदान करता है। पीएफएमस के अंतर्गत इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट फाइल्स तैयार की जाती है जैसे-Print Payment Advice (PPA), Digital Signature Certificate (DSC) and Corporate Internet Banking (CINB) .

PFMS की Full Form क्या है ? इससे संबंधित सभी जानकारी हमने आपको अपने लेख के माध्यम से प्रदान करवा दी है और हमे उम्मीद है की यह आपके लिए बहुत उपयोगी होगी, इसके लिए यदि आपको हमारा लेख पसंद आए या योजना से सम्बंधित कोई प्रश्न पूछना हो तो आप कमेंट बॉक्स में मैसेज करके पूछ सकते हैं, हम आपके प्रश्नों का उत्तर देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button