(पंजीकरण) कृषि इनपुट अनुदान योजना 2022 | ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म

कृषि इनपुट अनुदान योजना बिहार सरकार द्वारा राज्य के किसानों को प्राकृतिक आपदा के कारण उनकी फसलों के हुए नुक्सान पर राहत प्रदान करने के लिए शुरू की गई योजना है, जिसके माध्यम से वह किसान जिनकी फसल आँधी, बाढ़ या ओले गिरने से खराब हो गई है, उन्हें सरकार योजना के तहत वर्षाश्रित असिंचित क्षेत्रों पर प्रति हेक्टेयर 6800 रूपये और सिंचित क्षेत्रों पर प्रतिहेक्टेयर 13,500 रूपये प्रति हेक्टेयर, औद्यानिक और पेरिनियल फसलों के लिए 18000 रूपये प्रति हेक्टेयर और कृषि भूमि में बालू और सिल्क तीन इंच तक जमा होने पर 12,200 रूपये प्रति हेक्टेयर की आर्थिक सहायता राशि प्रदान करेगी।

बिहार सरकार द्वारा समय-समय पर राज्य के किसानों को कृषि में प्रोत्साहन देने के लिए बहुत सी योजनाओं का लाभ दिया जाता है। ऐसी ही एक योजना की शुरुआत बिहार सरकार द्वारा प्राकृतिक आपदाओं जैसे बेमौसम बारिश, अत्यधिक ओला वृष्टि, बाढ़ आदि के कारण किसानों की फसल खराब होने पर उनकी फसलों के नुक्सान की भरपाई करने के लिए कृषि इनपुट अनुदान योजना नाम से की गई है।

इसे भी पढ़ें:- जल जीवन हरियाली योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन फॉर्म, योग्यता व लाभ

इस योजना के माध्यम से ऐसे सभी किसानों को उनकी फसलों की क्षति पर राहत मिल सकेगी, जिनका आय का स्रोत कृषि पर निर्भर करता है और फसलों को नुक्सान होने के कारण उन्हें बेहद ही कठिन और वित्तीय समस्याओं का सामना करना पड़ता हैं, ऐसे सभी किसानों को सरकार द्वारा योजना के अंतर्गत प्रति हेक्टेयर के हिसाब से अधिकतम 13,500 रूपये की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाएगी। इसके लिए राज्य के किसानों को कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर आवेदन की प्रक्रिया को पूरा करना होगा, जिसके बाद ही उन्हें योजना का लाभ प्राप्त हो सकेगा।

कृषि इनपुट अनुदान योजना
कृषि इनपुट अनुदान योजना

यदि आप भी किसान है और कृषि इनपुट योजना में आवेदन के लिए इससे संबंधित सभी जानकारी जैसे कृषि इनपुट अनुदान योजना क्या है ? योजना में लाभार्थियों को मिलने वाला लाभ, आवेदन के लिए इसकी पात्रता व आवश्यक दस्तावेज और ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया तो इस योजना की विस्तृत जानकारी आप हमारे लेख के माध्यम से जान सकेंगे।

कृषि इनपुट अनुदान योजना 2022

कृषि इनपुट अनुदान योजना बिहार सरकार द्वारा राज्य के किसानों को प्राकृतिक आपदा के कारण उनकी फसलों के हुए नुक्सान पर राहत प्रदान करने के लिए शुरू की गई योजना है, जिसके माध्यम से वह किसान जिनकी फसल आँधी, बाढ़ या ओले गिरने से खराब हो गई है, उन्हें सरकार योजना के तहत वर्षाश्रित असिंचित क्षेत्रों पर प्रति हेक्टेयर 6800 रूपये और सिंचित क्षेत्रों पर प्रतिहेक्टेयर 13,500 रूपये प्रति हेक्टेयर, औद्यानिक और पेरिनियल फसलों के लिए 18000 रूपये प्रति हेक्टेयर और कृषि भूमि में बालू और सिल्क तीन इंच तक जमा होने पर 12,200 रूपये प्रति हेक्टेयर की आर्थिक सहायता राशि प्रदान करेगी।

पहले इस योजना का लाभ राज्य के 11 जिलों के किसानों को दिया जा रहा था, जिसे बढाकर अब 23 जलों के किसानों को दिया जा रहा है जो कुछ इस प्रकार हैं जैसे बक्सर, नालंदा, पाटला, मुजफ्फरपुर, भोजपुर, रोहतास, भभुआ, गया, नवादा, जहानाबाद, अवरल, गोपालगंज, पश्चिम चम्पारण, मुंगेर, शेखपुरा, दरभंगा, समस्तीपुर, लखीसराय, बांका, मधेपुरा, किशनगंज, भागलपुर। इन सभी जिलों के किसानों को योजना का लाभ प्राप्त हो सकेगा।

Krishi Input Anudan Yojana 2022 : Details

योजना का नामकृषि इनपुट अनुदान योजना
शुरू की गई बिहार सरकार द्वारा
संबंधित विभाग कृषि विभाग, बिहार
साल 2022
आवेदन माध्यम ऑनलाइन प्रक्रिया
योजना के लाभार्थी राज्य के किसान
उद्देश्य प्राकृतिक आपदा के कारन फसल नष्ट होने
पर किसानों को आर्थिक सहयोग देना
श्रेणी राज्य सरकारी योजना
आधिकारिक वेबसाइट click here
कृषि इनपुट अनुदान योजना

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना के लाभ

  • बिहार के किसान जिनकी फसल बेमौसम बारिश, अत्यधिक ओला वृष्टि, बाढ़ के कारण खराब हो गई है, उन्हें सरकार द्वारा फसल की क्षति की भरपाई की जाएगी।
  • कृषि इनपुट योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक किसानों को ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया को पूरा करना होगा।
  • योजना के तहत राज्य के किसानों को वर्षाश्रित असिंचित क्षेत्रों पर प्रति हेक्टेयर 6800 रूपये और सिंचित क्षेत्रों पर 13,500 रूपये प्रति हेक्टेयर की अनुदान राशि दी जाएगी।
  • योजना का लाभ दो हेक्टेयर की भूमि वाल किसानों को प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के माध्यम से किसानों को दी जाने वाली धनराशि डीबीटी के माध्यम से उनके खाते में ट्रांसफर की जाएगी।
  • कृषि इनपुट योजना का लाभ राज्य के 23 जिलों के किसानों को प्राप्त हो सकेगा।
  • राज्य के किसानों के लिए 1000 रूपये अनुदान राशि रखी गई है।
  • योजना के माध्यम से किसानों की उनकी फसलों की क्षति पर होने वाले नुक्सान से राहत मिल सकेगी, जिससे उन्हें किसी तरह की वित्तीय समस्याओं का सामना नहीं करना पडेगा।

कृषि इनपुट अनुदान योजना की पात्रता

योजना में आवेदन के लिए आवेदक को इसकी निर्धारित पात्रताओं को पूरा करना आवश्यक है, जो कुछ निम्नानुसार है।

  • कृषि इनपुट अनुदान योजना में आवेदन करने वाले नागरिक बिहार के स्थाई निवासी होने चाहिए।
  • योजना में केवल राज्य के किसान ही आवेदन के पात्र होंगे।
  • वह किसान जिनके पास कृषि योग्य भूमि होगी, वह योजना में आवेदन कर सकेंगे।
  • योजना के अंतर्गत जिन किसानों की फसल प्राकृतिक आपदा जैसे बेमौसम बारिश, ओलावृष्टि आदि के कारण खराब हुई है, वह आवेदन के पात्र होंगे।
  • राज्य के वही किसान योजना के पात्र समझे जाएँगे, जिनके पास अपनी कृषि भूमि के दस्तावेज होंगे।
  • योजना में आवेदन करने वाले किसान का राष्ट्रीयकृत बैंक में खाता होना आवश्यक है।
  • वह किसान जो बटाईदार या खेतिहर हैं और उनके पास उनकी भूमि के दस्तावेज हैं, तो उन्हें उसके साथ स्व घोषणा प्रमाण पत्र (जिसमे यह लिखा हो की उन्हें कही से भी किसी तरह का अनुदान नहीं लिया है) होना चाहिए।

किसान इनपुट अनुदान के आवश्यक दस्तावेज

योजना में आवेदन के लिए आवेदक को कुछ महत्त्वपूर्ण दस्तावेजों की आवश्यकता होगी, जिनके माध्यम से वह योजना में आवेदन कर सकेंगे, जिनकी जानकारी कुछ इस प्रकार है।

  • आवेदक का आधारकार्ड
  • पहचान पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • कृषि भूमि के दस्तावेज
  • स्व प्रमाणित घोषणा पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक की पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

कृषि इनपुट अनुदान योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

कृषि इनपुट अनुदान योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए जो किसान योजना में आवेदन करना चाहते हैं, वह यहाँ बताए गए स्टेप्स को पढ़कर आवेदन की प्रक्रिया को पूरा कर सकेंगे, जो कुछ इस प्रकार है।

  • ऑनलाइन आवेदन के लिए आवेदक सबसे पहले कृषि विभाग, बिहार की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब आपकी स्क्रीन पर वेबसाइट का होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ आपको ऑनलाइन आवेदन करें के लिंक में कृषि इनपुट अनुदान योजना के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। Krishi-input-anudan-yojana-apply
  • अब नए पेज पर आपको रजिस्ट्रेशन नंबर भरकर सर्च के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। krishi-input-anudan-yojana-application-process
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर योजना का आवेदन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ आपको फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे आपका नाम, पता, जन्म तिथि, माता-पिता का नाम, किसान श्रेणी, जिला आदि भरनी होगी।
  • इसके बाद आपको फॉर्म में सारा मूल विवरण दर्ज करने के बाद कृषि भूमि की सभी जानकारी भरनी होगी।
  • जैसे किसान का प्रकार, कृषि भूमि का क्षेत्रफल दो हेक्टेयर, कृषि भूमि की योग्य कृषि विवरण, फसल बर्बाद होने का कारण आदि दर्ज करनी होगी।
  • अब आपको Send OTP के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • जिसे आपको रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा, जिसे आपको ओटीपी बॉक्स में भरना होगा।
  • ओटीपी भरकर आपको डिक्लरेशन बॉक्स में टिक करके फॉर्म की पूरी जाँच कर लेनी होगी।
  • अब आखिर में सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक कर देना होगा।
  • इस तरह आपकी योजना में ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना आवेदन स्थिति ऐसे देखें

योजना में जिन भी नागरिकों द्वारा आवेदन किया गया है, वह अपने आवेदन की स्थिति यहाँ बताए गए सेटप्स को पढ़कर जान सकेंगे।

  • आवेदन स्थिति देखने के लिए आवेदक सबसे पहले कृषि विभाग, बिहार की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करें।
  • यहाँ आप आवेदन स्थिति/आवेदन प्रिंट के ऑप्शन पर इनपुट सब्सिडी खरीफ (2021-22 स्थिति) के विकल्प पर क्लिक करें।
    Krishi-input-anudan-application-status-check
  • अब नए पेज पर आपको चेक एप्लीकेशन स्टेटस फॉर ड्रॉट के अंदर एप्लीकेशन नंबर भरना होगा।
  • अब सर्च के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • जिसके बाद आपकी स्क्रीन पर कृषि इनपुट अनुदान योजना की स्थिति खुलकर आ जाएगी।

किसान पंजीकरण फॉर्म विवरण संशोधन प्रक्रिया

यदि आवेदन फॉर्म भरते समय आपके फॉर्म में किसी तरह की त्रुटि हो जाती है, तो आप इसमें संशोधन भी कर सकेंगे, जिसके लिए आपको यहाँ बताए गए स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

  • आवेदक सबसे कृषि विभाग, बिहार की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करें।
  • यहाँ आप आवेदन विवरण संशोधन के ऑप्शन में विवरण संशोधन (किसान पंजीकरण) के विकल्प पर क्लिक करें। krishi-input-registration-form-correction
  • इसके बाद अगले पेज में आपको तीन विकल्पों में से DEMOGRAPHY+OTP के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। registration-form-correction-process
  • अब आपको अपने आधार से संबंधित सभी जानकारी जैसे आपका आधार नंबर आधार नाम भरना होगा।
  • अब आधार डिटेल्स भरकर आप Authentication के ऑप्शन पर क्लिक कर दें और ओटीपी दर्ज करें।
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर आवेदन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ आप आवेदन फॉर्म में जिस भी तरह की त्रुटि हुई है उसमे सुधार कर लें।
  • फॉर्म में संशोधन के बाद उसकी जाँच कर लें और सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक कर दें।
  • इस तरह आपके पंजीकरण फॉर्म विवरण में सुधार की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

कृषि इनपुट अनुदान पंजीकरण सुधार की जाँच प्रक्रिया

पंजीकरण फॉर्म में सुधार के बाद आवेदन फॉर्म की दोबारा जाँच के लिए यहाँ बताए गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं।

  • इसके लिए आवेदक सबसे पहले कृषि विभाग, बिहार की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब आपकी स्क्रीन पर वेबसाइट का होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ आप आवेदन विवरण संशोधन के ऑप्शन में विवरण सुधार की जाँच के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब अपनी पंजीकरण संख्या भरकर सर्च के ऑप्शन पर क्लिक कर दें।
  • जिसके बाद आपकी स्क्रीन पर पंजीकरण फॉर्म आ जाएगा, यहाँ आप पंजीकरण फॉर्म की जाँच कर सकेंगे।

लाभार्थी किसान सूची ऐसे देखें

लाभार्थी किसान सूची देखने के लिए आवेदक यहाँ बताए गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आवेदक कृषि विभाग, बिहार की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करें।
  • यहाँ आप लाभान्वित किसान सूची के विकल्प में लाभान्वित किसान सूची के विकल्प पर क्लिक कर दें।
  • अब आपकी स्क्रीन पर अगले पेज में किसान सूची देखने के लिए फॉर्म आ जाएगा। beneficiary-farmers-list
  • यहाँ आपको अपना जिला, प्रखंड, पंचायत और योजना का चयन करना होगा।
  • अब जानकारी भरकर आपको View Records के ऑप्शन पर क्लिक कर देना होगा।
  • जिसके बाद आपकी स्क्रीन पर लाभारती किसानों की सूची खुलकर आ जाएगी।

कृषि इनपुट अनुदान योजना 2022 से जुड़े प्रश्न/उत्तर

Krishi Input Anudan Yojana क्या है ?

Krishi Input Anudan Yojana बिहार सरकार द्वारा शुरू की गई योजना है, जिसके माध्यम से सरकार किसानों को बेमौसम बारिश, अत्यधिक ओला वृष्टि, बाढ़ आदि के कारण उनकी फसल खराब होने पर नुक्सान की भरपाई के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करती है।

कृषि इनपुट अनुदान योजना में आवेदन के लिए इसकी आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

कृषि इनपुट अनुदान योजना में आवेदन के लिए इसकी आधिकारिक वेबसाइट dbtagriculture.bihar.gov.in है।

योजना के लाभार्थियों को क्या लाभ प्राप्त हो सकेगा ?

योजना के लाभार्थियों को सरकार द्वारा फसलों की क्षति पर वर्षाश्रित असिंचित क्षेत्रों पर प्रति हेक्टेयर 6800 रूपये और सिंचित क्षेत्रों पर प्रति हेक्टेयर 13,500 रूपये प्रति हेक्टेयर की अनुदान राशि दी जाती है ।

कृषि इनपुट अनुदान योजना से संबंधित जानकारी के लिए इसका हेल्पलाइन नंबर क्या है ?

कृषि इनपुट अनुदान योजना से संबंधित जानकारी के लिए इसका हेल्पलाइन नंबर : 06122233555 है।

कृषि इनपुट अनुदान योजना से संबंधित सभी जानकारी हमने आपको अपने लेख के माध्यम से प्रदान करवा दी है और इसकी आवेदन प्रक्रिया के आरम्भ होने की जानकारी भी जल्द ही आपको प्रदान करवा देंगे, इसके लिए यदि आपको हमारा लेख पसंद आए या योजना से सम्बंधित कोई प्रश्न पूछना हो तो आप कमेंट बॉक्स में मैसेज करके पूछ सकते हैं, हम आपके प्रश्नों का उत्तर देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button