Article

खाटू श्याम दर्शन ऑनलाइन बुकिंग 2022 Link. Khatu Shyam Darshan Registration.

भक्त जनों को किसी भी प्रकार की कोई असुविधा ना हो इसके लिए खाटू श्याम जी के दर्शन हेतु आधिकारिक पोर्टल में ऑनलाइन बुकिंग करने की प्रक्रिया उपलब्ध है।

खाटू श्याम दर्शन ऑनलाइन बुकिंग 2022– जैसे की आप सभी लोग जानते है की कोरोना काल के समय में सरकार के द्वारा जारी किये दिशा-निर्देशों के आधार पर सम्पूर्ण देश भर में मंदिरों के दर्शन बंद कर दिए गए थे। लेकिन अब स्थिति में सुधार होने के बाद एक बार फिर से तीर्थ स्थानों के दर्शन हेतु एक बार फिर से ऑनलाइन बुकिंग की व्यवस्था जारी की गयी है। लेकिन अब श्रद्धालुओं के लिए फिर से सभी मंदिरों के दर्शन हेतु मंदिरों को खोला गया है।

भक्त जनों को किसी भी प्रकार की कोई असुविधा ना हो इसके लिए खाटू श्याम जी के दर्शन हेतु आधिकारिक पोर्टल में ऑनलाइन बुकिंग करने की प्रक्रिया उपलब्ध है। अब ऑनलाइन बुकिंग के अनुसार तीर्थ यात्री मंदिर के दर्शन कर पाएंगे।

बागेश्वर धाम कैसे जाएँ पूरी जानकारी

खाटू श्याम दर्शन ऑनलाइन बुकिंग 2022
खाटू श्याम दर्शन ऑनलाइन बुकिंग

आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से खाटू श्याम दर्शन ऑनलाइन बुकिंग 2022 Link से जुड़ी सभी तरह की महत्वपूर्ण जानकारी को साझा करने जा रहे है। अतः Khatu Shyam Darshan Registration से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी के लिए आप हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े।

खाटू श्याम मंदिर कहाँ स्थित है ?

Khatu Shyam मंदिर राजस्थान राज्य के सीकर जिले में स्थित है, यह क़स्बा राज्य का एक महत्वपूर्ण क़स्बा है क्योंकी यहाँ पर खाटू श्याम मंदिर स्थित है। खाटू श्याम जी के दर्शन के लिए श्रद्धालु दूर-दूर से आते है, विशेष रूप से राजस्थान का सीकर जिला खाटू श्याम जी के मंदिर के लिए काफी प्रसिद्ध है। इसे शेखावाटी के नाम से जाना जाता है, प्राकृतिक दृष्टि से यह बेहद अद्भुत है। शेखावटी जिले के सबसे बड़े शहर व तहसीलों में से श्रीमाधोपुर, सीकर, नीम का थाना, फतेहपुर प्रमुख है। इस जिले में कई तरह के प्राकृतिक रंग देखने को मिलते है। राजस्थान के सीकर जिले को वीरभान ने बसाया है।

खाटू श्याम मंदिर के दर्शन करने हेतु श्रद्धालुओं के लिए कई प्रकार के नियम लागू किये गए है। इन नियमों का पालन करने पर ही सभी भक्तजन खाटू श्याम मंदिर के दर्शन कर सकते है। दर्शन करने के लिए भक्त जानो को अधिक भीड़ का सामना ना करना पड़े इसके इसके लिए ऑनलाइन बुकिंग करने की सुविधा पोर्टल में उपलब्ध किया गया है। खाटू श्याम जी के दर्शन करने के लिए आप गाड़ी ट्रेन आदि से यात्रा कर सकते है।

Khatu Shyam Ji Darshan Registration 2022

आर्टिकलKhatu Shyam Ji Darshan Booking
अथॉरिटीश्याम मंदिर कमेटी
वर्ष 2022
मंदिर का नामबाबा खाटू श्याम जी
रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया ऑनलाइन
उद्देश्य मंदिर दर्शन हेतु श्रद्धालुओं को ऑनलाइन
बुकिंग की सुविधा उपलब्ध करवाना
राज्य का नाम राजस्थान
जिलासीकर
दर्शन चरण2
प्रति चरण दर्शनार्थी संख्या7500
आधिकारिक वेबसाइटshrishyamdarshan.in
खाटू श्याम दर्शन ऑनलाइन बुकिंग

खाटू श्याम दर्शन हेतु आवश्यक दिशा निर्देश

  • श्रद्धालुओं को खाटू श्याम दर्शन करने हेतु कोविड-19 के दिशा-निर्देशों के आधार पर मंदिर के दर्शन करने होंगे।
  • मंदिर के दर्शन करने के लिए सभी श्रद्धालुओं को पोर्टल में जाकर पंजीकरण करना होगा। पंजीकरण के आधार पर ही उन्हें मंदिर के दर्शन के लिए योग्य माना जायेगा।
  • भक्तजनों के लिए मंदिर के दर्शन हेतु जिला प्रसासन एवं स्थानीय पुलिस के द्वारा कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए पूर्ण व्यवस्था उपलब्ध की जाएगी।
  • श्री श्याम की आधिकारिक वेबसाइट के अंतर्गत आप दर्शन हेतु सभी महत्वपूर्ण निर्देशों को चेक कर सकते है, क्योंकी शुक्ल एकादशी, शुक्ल द्वादशी तथा साप्ताहिक अवकाश में आम श्रद्धालुओं के लिए मंदिर के पट बंद रहेंगे।
  • मंदिर के दर्शन करने के लिए आपको केवल shrishyamdarshan.in की आधिकारिक वेबसाइट के अंतर्गत वेबसाइट से अपना रजिस्ट्रेशन कर सकते है।
  • जारी किये दिशा-निर्देशों के आधार पर ही श्रद्धालु खाटू श्याम मंदिर के दर्शन कर सकते है।

खाटू श्याम जी की आरती का समय

Khatu Shyam मंदिर में यदि आप दर्शन के लिए जाते है तो आपको बता दें की मंदिर में एक दिन में पांच बार आरती होती है। यह आरती समय के आधार पर अलग-अलग रूप में होती है। नीचे दी गयी सारणी के अनुसार आप आरती के समय को चेक कर सकते है।

आरतीसर्दियों का समयगर्मियों का समय
मंगल आरतीप्रातः 5:30 बजेप्रातः 4 :30 बजे
श्रृंगार आरतीप्रातः 8 बजेप्रातः 7 बजे
भोग आरतीदोपहर 12:30 बजेदोपहर 1:30 बजे
संध्या आरतीशाम 6:30 बजेशाम 7:30 बजे
रात्रि आरतीरात्रि 9 बजेरात्रि 10:00 बजे
खाटू श्याम दर्शन ऑनलाइन बुकिंग

श्रद्धालुओं को मंदिर के दर्शन हेतु इन बातों का रखना होगा ध्यान

मंदिर के दर्शन करने के लिए दर्शनार्थियों को नीचे दी गयी निम्न प्रकार की सभी महत्वपूर्ण जानकारी को ध्यान में रखना होगा।

  • खाटू श्याम मंदिर में दर्शनार्थियों को मंदिर के दर्शन करने के लिए प्रसाद ,ध्वजा ,फूलों की माला एवं नारियल जैसी सामग्री को ले जाना पूर्ण रूप से वर्जित किया गया है।
  • मंदिर के दर्शन हेतु लाइन में लगने के लिए पहले आपको पंजीकरण निरीक्षण केंद्र में अपना पास दर्शन पंजीकरण ,कोविड टीकाकरण प्रमाण पत्र एवं आधार कार्ड आदि को प्रस्तुत करना होगा।
  • सभी प्रमाण पत्रों की जांच सफल होने के बाद ही आपको मंदिर के दर्शन करने की अनुमति दी जाएगी।
  • यदि आप कोविड पॉज़िटिव पाए जाते है तो ऐसी स्थिति में आपको परिसर में प्रवेश नहीं दिया जायेगा।
  • यदि आपको कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज नहीं लगा है तो आपको मंदिर के दर्शन के लिए अपनी RTPCR नेगेटिव रिपोर्ट को अपने साथ में रखना होगा।
  • दर्शन के समय में मंदिर परिसर में किसी भी वस्तु को छूना सख्त मना है।
  • अपने हाथो को समय समय पर सैनेटाइज करते रहे।
  • मंदिर में प्रवेश करने से पहले सभी भक्तजनों को अपने हाथ पैर को अच्छी तरह से साबुन से धोना होगा।
  • मंदिर के दर्शन हेतु श्रद्धालुओं को अपने जूते चप्पल उसी स्थान में रखने होंगे जहाँ पर जूते चप्पल रखने का स्टोर बनाया गया है।
  • दर्शन के समय में सभी भक्तजनों को मास्क पहनें रखना होगा।
  • मंदिर परिसर में भीड़ बढ़ाने से बचे दर्शन के बाद सीधे अपने स्थान पर प्रस्थान करें।
  • दर्शन करने के लिए सभी भक्तजन ध्यान दे की बिना पंजीकरण के मंदिर के अंदर प्रवेश नहीं दिया जायेगा।
  • एक दिन में मंदिर के दर्शन के लिए केवल एक ही बार प्रवेश दिया जायेगा।
  • केवल वही लोग मंदिर के दर्शन करने आये जो शारीरिक रूप से पूर्ण तरीके से स्वस्थ हो।

खाटू श्याम जी से सम्बंधित जानकारी

Khatu Shyam Darshan Mandir से संबंधित अन्य प्रकार की महत्वपूर्ण जानकारी को भी नीचे दिया गया है। आप नीचे दी गयी सूची के आधार पर खाटू श्याम से जुड़ी अन्य तरह की आवश्यक डिटेल्स चेक कर सकते है।

मंदिर निर्माताराजा रूप सिंह चौहान
खाटू श्याम जी के कुछ अन्य नामबर्बरीक ,मोरवीनंदन ,मोरछड़ी धारक ,लखदातार
पिता का नामघटोत्कच्छ
वाहननीला घोडा
मंदिर अवस्थितराजस्थान
मातामोरवी
खाटू श्याम दर्शन ऑनलाइन बुकिंग

खाटू श्याम दर्शन ऑनलाइन बुकिंग 2022 ऐसे करें

Khatu Shyam Darshan Registration करने के लिए नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  • खाटू श्याम दर्शन ऑनलाइन पंजीकरण करने के लिए shrishyamdarshan.in की आधिकारिक वेबसाइट में विजिट करें।
  • वेबसाइट के होम पेज में जनरल बुकिंग ,तत्काल बुकिंग ,और फॉर्नर बुकिंग के तीन विकल्प दिखाई देंगे। खाटू श्याम दर्शन ऑनलाइन बुकिंग
  • दिए गए इन विकल्पों में से आपको GENERAL BOOKING के ऑप्शन में क्लिक करना है।
  • जनरल बुकिंग के विकल्प का चयन करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा।
  • इस पेज में आपको पंजीकरण फॉर्म प्राप्त होगा।खाटू श्याम दर्शन ऑनलाइन बुकिंग
  • पंजीकरण फॉर्म में दी गयी सभी महत्वपूर्ण जानकारी भरने के बाद आपको टर्म एंड कंडीशन में टिक करके Book Darshan के ऑप्शन में क्लिक करना है।
  • इस तरह से आप खाटू श्याम दर्शन हेतु ऑनलाइन बुकिंग कर सकते है।

खाटू श्याम दर्शन ऑनलाइन बुकिंग से सम्बंधित प्रश्न

खाटू श्याम मंदिर कहाँ स्थित है ?

खाटू श्याम मंदिर राजस्थान के सीकर जिले में स्थित है।

क्या खाटू श्याम मंदिर में दर्शन करने के लिए भक्तजनों को अपना पंजीकरण करना अनिवार्य है ?

जी हाँ सभी श्रद्धालुओं को खाटू श्याम मंदिर के दर्शन करने के लिए पोर्टल में अपना पंजीकरण करना अनिवार्य है। पंजीकरण करने के आधार पर ही उन्हें मंदिर में जाने की अनुमति दी जाएगी।

Khatu Shyam Darshan Registration प्रक्रिया कैसे पूरी कर सकते है ?

भक्तजन Khatu Shyam Darshan Registration की प्रक्रिया को shrishyamdarshan.in पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन तरीके से पूर्ण कर सकते है।

खाटू श्याम जी किसके पुत्र थे ?

खाटू श्याम जी घटोत्कच जी के पुत्र थे।

एक दिन में खाटू श्याम मंदिर में कितनी बार आरती का आयोजन किया जाता है ?

खाटू श्याम मंदिर में एक दिन में 5 बार आरती का आयोजन किया जाता है। मंदिर में होने वाली आरती के आयोजन हेतु अलग-अलग समय निर्धारित किया गया है।

खाटू श्याम मंदिर में कितनी प्रकार की आरती का आयोजन किया जाता है ?

खाटू श्याम मंदिर में 5 प्रकार की आरती का आयोजन किया जाता है जिसमें से है मंगला आरती ,श्रृंगार आरती , भोग आरती ,संध्या आरती ,रात्रि आरती।

आज की पोस्ट में हमने आपको खाटू श्याम दर्शन ऑनलाइन बुकिंग के बारे में जानकारी दी है। इस तरह की पोस्ट के लिए हमारी वेबसाइट को बुक मार्क करें। किसी भी प्रकार के सवाल के लिए कमेंट कर सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button