हिम गंगा योजना 2024: Him Ganga Yojana ऑनलाइन आवेदन व एप्लीकेशन फॉर्म

दोस्तों जैसा की आप जानते है की हिमाचल प्रदेश की सरकार आए दिन किसानो के आर्थिक व्यवस्था को मध्यनजर रखते हुए योजनाए संचालित करती रहती है। समाज में किसानो की दयनीय अवस्था में काफी हद तक सुधार किया जा चुका है, और पूरी तरह से सुधार के लिए सरकार द्वारा निरन्तर प्रयास जारी है। हिमाचल प्रदेश में किसानो के लिए एक ऐसी ही Him Ganga Yojana को लागू किया है जिसमे संबंधित जानकारी आज हम आपसे साझा करने जा रहे है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
हिम गंगा योजना Him Ganga Yojana ऑनलाइन आवेदन व एप्लीकेशन फॉर्म
Him Ganga Yojana

अगर आप भी हिमाचल प्रदेश के नागरिक है तो आप भी इस योजना का लाभ उठा सकते है इस स्कीम का उद्देश्य, पात्रताए एवं आवेदन की प्रक्रिया के लिए हमारे आर्टिकल को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़े।

हिम गंगा योजना (Him Ganga Yojana)

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू जी ने विधान सभा में 24 मार्च 2023 को 2023-2024 का बजट प्रस्तुत करते हुए किसानो के हित में Him Ganga Yojana की घोषणा की थी। जिसमे उन्होंने किसानों को आश्वाशन देते हुए कहा कि किसानो को गाय के दूध का व्यवसाय करने पर सही लागत पर आधारित मूल्य दिया जायेगा। सरल शब्दों में किसानो को गाय का दूध बेचने पर बेहतर भुगतान किया जायेगा। स्कीम के माध्यम से पशुपालक आर्थिक रूप से सक्षम बनेंगे और आत्मनिर्भर बन पाएंगे।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

योजना के माध्यम से किसानो को मौसम परिवर्तन के कारण दूध की कम-ज्यादा लागत से होने वाली हानियों को कम किया जायेगा। गरीब पशु पालको को दूध की उचित कीमत दिलाने पर ज़ोर दिया जायेगा। इस स्किम का प्रेक्षण पहले हिमाचल प्रदेश के बड़े-बड़े जिलों में किया जायेगा। जिससे की हिम गंगा योजना के लाभ और हानि का अनुमान लगाया जा सके। उसके पश्चात योजना को पुरे राज्य में संचालित कर दिया जायेगा।

Himanchal Him Ganga Yojana key points

योजना हिम गंगा योजना (Him Ganga Yojana)
राज्य हिमाचल प्रदेश HP
प्रारंभिक तिथि 24 मार्च 2023
शुरुआत किसके द्वारा हुई मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू जी
उद्देश्य पशुपालकों को दूध की असल कीमत दिलवाना
लाभार्थी हिमाचल प्रदेश के दूध विक्रेता
योजना का बजट 500 करोड़

हिमाचल प्रदेश शगुन योजना

हिम गंगा योजना के उद्देश्य

HP के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू जी द्वारा घोषित की गई यह योजना किसानो की आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाने के लिए है राज्य सरकार किसानो को दूध की उच्च मात्रा दिलवा कर उनकी आर्थिक सहायता करेगी। जिससे किसानो को ज्यादा से ज्यादा लाभ मिलेगा। किसानो की दयनीय व्यवस्था से तो सभी अवगत है इसलिए सरकार ने उनके हित में Himanchal Him Ganga Yojana की घोषणा की है। हिमाचल प्रदेश राज्य के मुख्यमंत्री ने योजना का बजट 500 करोड़ रखा है।

देश में किसानो की दयनीय अवस्था से तो सभी अवगत है हर साल कई किसान आर्थिक व्यवस्था की वजह से आत्महत्या कर लेते है। किसान हम सभी के लिए अन्न उगाते है अगर वह ही नहीं होंगे तो देश में भुखमरी जैसी समस्या भी उत्पन्न हो सकती है इसलिए सरकार ने किसानो की आर्थिक स्थिति बेहतर बनाने के लिए सरकार ने पशुपालक किसानो के लिए हिम गंगा योजना को संचालित किया है।

HP हिम गंगा योजना के मुनाफे

हिमाचल प्रदेश की राज्य सरकार द्वारा अपने राज्य के किसानो के लिए घोषित की गई Himanchal Him Ganga Yojana के लाभ निम्नलिखित है :-

  • हिम गंगा योजना का लाभ सभी किसान भाई जो पशुपालन करते है उन्हें प्राप्त होगा।
  • इस स्कीम की घोषणा मुख्यमंत्री ने कुछ समय पहले की है इसलिए स्कीम की शुरुआत अभी नहीं हुई है।
  • राज्य सरकार द्वारा योजना का बजट 500 करोड़ निर्धारित किया गया है।
  • सभी किसान पशुपालको को दूध के विक्रय पर अच्छी कीमत मिलेगी।
  • पशुपालको की आर्थिक रूप से सहायता होगी।
  • दूध विक्रेता सीधे सरकार को दूध बेचेंगे जिससे सरकार उन्हें भैंस के दूध पर 80 रूपए कीमत देगी और गाय के दूध पर 100 रुपए कीमत प्रदान करेगी।
  • योजना के माध्यम से केवल मिल्क प्रोसेसिंग अपडेट किया जायेगा।
  • योजना के अंतर्गत पशुपालक और पशुओं की मात्रा को बढ़ाया जायेगा।
  • पशुपालको को आत्मनिर्भर बनाया जायेगा।

हिमाचल प्रदेश की हिम गंगा योजना का बजट

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू जी और पशुपालन मंत्री चंदन कुमार की सहमती द्वारा योजना की घोषणा के दौरान 500 करोड़ का बजट बताया गया था। योजना के अंतर्गत राज्य सरकार मिल्क प्रोसेसिंग प्लांट अर्थात डेयरी बनवाएगी , जिसमे पशुपालक किसानो को गाय के एक किलो दूध की कीमत 100 रुपए मिलेगी और भैंस के एक किलो दूध की कीमत 80 रुपए होगी। जिससे की पशुपालको को लाभ प्राप्त होगा।

Himanchal Him Ganga Yojana eligibility

हिमाचल प्रदेश की स्कीम के तहत बहुत सी पात्रताए है जो निचे निम्नलिखित है :-

  • आवेदनकर्ता हिमाचल प्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए।
  • यह स्कीम गरीब वर्गीय किसानो के लिए है।
  • आवेदक की आयु 18 होनी आवश्यक है।
  • योजना के अंतर्गत अभी किसान जो पशुपालन करते है उन्हें लाभ मिलेगा।
हिम गंगा योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज
  • आधार कार्ड
  • बैंक की पास बुक
  • पास पोर्ट साइज़ फोटो
  • जाति प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • पशु पालन के दस्तावेज

HP Him Ganga Yojana Online Application

दोस्तों जैसा की हमने आपको आर्टिकल के शुरुआत में बताया की HP Him Ganga Yojana की घोषणा 24 मार्च 2023 में हुई है और अभी इस योजना पर सरकार के विशेषज्ञ कार्य कर रहे है जिस कारण योजना की आधिकारिक वेबसाइट या पोर्टल अभी उपलब्ध नहीं है इसलिए हम आपको योजना की आवेदन प्रक्रिया बताने में असमर्थ है लेकिन जैसे ही राज्य सरकार द्वारा HGY की कोई आधिकारिक वेबसाइट लॉन्च होगी। हम अपने आर्टिकल के माध्यम से आवेदन प्रक्रिया प्रदान कर देंगे।

हिमाचल प्रदेश हिम गंगा योजना स संबंधित प्रश्न-उत्तर :-

HP Him Ganga Yojana की घोषणा किसने की है ?

HP Him Ganga Yojana की घोषणा मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू जी ने की है।

हिम गंगा योजना के शुरुआत कब हुई है ?

हिम गंगा योजना के शुरुआत 24 मार्च 2023 में हुई है।

Him Ganga Yojana के उद्देश्य क्या है ?

Him Ganga Yojana के उद्देश्य राज्य सरकार किसानो को दूध की उच्च मात्रा दिलवा कर उनकी आर्थिक सहायता करेगी, जिससे पशुपालकों को ज्यादा से ज्यादा लाभ दिलवाया जायेगा।

हिमाचल प्रदेश की हिम गंगा योजना का बजट कितना है ?

हिमाचल प्रदेश की हिम गंगा योजना का बजट 500 करोड़ का है। इस बजट में पशुपालक अपने पशुओं के दूध को बेचकर अच्छी आय अर्जित कर पाएंगे।

हिमाचल प्रदेश की Him Ganga Yojana की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

हिमाचल प्रदेश की Him Ganga Yojana की आधिकारिक वेबसाइट या पोर्टल अभी उपलब्ध नहीं है।

निष्कर्ष

हमें ऐसा लागत है कि हिमाचल प्रदेश की Him Ganga Yojana पशु पलकों के लिए बहुत लाभकारी साबित होगी। किसानो को आर्थिक मजबूती मिलेगी एवं प्रोत्साहन भी मिलेगा। योजना के अंतर्गत डेयरी खुलवाई जाएगी जिससे की लोगो को रोजगार मिलेगा और बेरोजगारी से राज्य को कुछ हद तक मुक्त किया जायेगा। इस योजना से समाज में सुधार और राज्य विकास की ओर बढ़ जायेगा।

Leave a Comment