हरियाणा परिवार पहचान पत्र 2022: meraparivar.haryana.gov.in ऑनलाइन आवेदन, लिस्ट

हरियाणा परिवार पहचान पत्र से छात्रवृत्ति,सब्सिडी, पेंशन जैसी स्वतंत्र योजनाओ को जोड़ा जायगा, जिससे योजनाओं को कार्यान्वित करने में स्थिरता और विश्वसनीयता सुनिश्चित हो। इस प्रकार सामाजिक-आर्थिक और जाति जनगणना (SECC-2011) के आधार पर राज्य के 54 लाख परिवार सीधे लाभान्वित होंगे।

हरियाणा एवं अन्य राज्यों के निवासियों के लिए मुख्यमंत्री के द्वारा ‘मेरा परिवार मेरी पहचान’ की तर्ज़ पर हरियाणा परिवार पहचान पत्र की शुरुआत की हैं। Haryana Parivar Pehchan Patra का मुख्य उद्देश्य समय-समय पर केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा दी जाने वाली योजनाओ को ऑनलाइन माध्यम से परिवारों तक जोड़ना हैं। परिवार पहचान पत्र का प्राथमिक उद्देश्य हरियाणा में सभी परिवार्रो का प्रामाणिक, सत्यापित और विश्वसनीय डेटा तैयार करना हैं।

पीपीपी के द्वारा राज्य के सभी परिवारों की पहचान का बुनियादी डेटा उनकी सहमति से डिजिटलीकरण करता हैं। प्रत्येक परिवार को 8 अंकों का परिवार-आईडी प्रदान की जाती हैं। परिवार डेटा को स्वचालित रूप से अपडेट करने के लिए फॅमिली आईडी को बर्थ, डेथ और मैरिज रिकार्ड से लिंक किया जाता है।

हरियाणा परिवार पहचान पत्र
हरियाणा परिवार पहचान पत्र ऑनलाइन आवेदन, लिस्ट : meraparivar.haryana.gov.in

हरियाणा परिवार पहचान पत्र से छात्रवृत्ति,सब्सिडी, पेंशन जैसी स्वतंत्र योजनाओ को जोड़ा जायगा, जिससे योजनाओं को कार्यान्वित करने में स्थिरता और विश्वसनीयता सुनिश्चित हो। इस प्रकार सामाजिक-आर्थिक और जाति जनगणना (SECC-2011) के आधार पर राज्य के 54 लाख परिवार सीधे लाभान्वित होंगे। साथ ही इन योजनाओ के लाभार्थियों को स्वतः चयनित किया जा सकें। परिवार को प्रत्येक व्यक्तिगत योजनाओं का लाभ लेने के लिए आवेदन करने की आवश्यकता नहीं होगी।

पीपीपी डेटाबेस में डेटा प्रमाणित होने के बाद लाभार्थी को कोई अन्य प्रमाण पत्र जमा नहीं करने होंगे। इस लेख में हरियाणा पहचान पत्र योजना के विभिन्न बिन्दुओ पर प्रकाश डालने का प्रयास किया हैं।

PM Kisan Status: अगर आपको भी स्टेटस में दिख रहा है ये

हरियाणा परिवार पहचान पत्र 2022

योजना का नाम हरियाणा परिवार पहचान पत्र 2022
शुभारम्भ की गई मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा
घोषणा की तारीख 2 जनवरी 2019
लाभार्थी राज्य के 54 लाख परिवार
उद्देश्य विभिन्न नागरिक केंद्रित सेवाओं की
स्वचालित डिलीवरी सुनिश्चित करना
वेबसाइट click here
हरियाणा परिवार पहचान पत्र

हरियाणा परिवार पहचान पत्र

राज्य सरकार के माध्यम से हरियाणा परिवार पहचान पत्र का विशेष लाभ ग्रामीण क्षेत्रों के परिवारों तक पहुंचाने के लिए Haryana family identity card से पेयजल कनेक्शन जोड़े जा रहे है। ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले सभी नागरिकों को परिवार पहचान पत्र के जरिये विभिन्न योजनाओं का लाभ मिल सके। पेयजल कनेक्शन परिवार पहचान पत्र के साथ जोड़ने का काम जुलाई माह से शुरू किया गया था जो सितंबर माह में पूरा किया जायेगा।

हरियाणा परिवार पहचान पत्र के मुख्य बिंदु

  • हरियाणा के निवासियों को केंद्र या राज्य की योजना का लाभ लेने के लिए यह पहचान पत्र अनिवार्य हैं।
  • योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा 14 अंकीय परिवार पहचान पत्र प्रदान किया जायगा।
  • कार्ड के शीर्ष पर परिवार के मुखिया का नाम प्रदर्शित होगा।
  • पोर्टल पर पंजीकरण होगा जिससे प्रत्येक परिवार को यूजर आईडी व पासवर्ड दिया जायेगा।

हरियाणा परिवार पहचान पत्र हेतु जरुरी प्रमाण पत्र

  • हरियाणा के मूल निवासियों को सरकार द्वारा प्रदत्त कोई वैध पहचान पत्र होना चाहिए। उदाहरण के लिए मूल निवासी प्रमाण पत्र, राशन कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, पैन कार्ड।
  • जन्म प्रमाण पत्र (जैसे की दसवीं कक्षा का प्रमाण पत्र)
  • परिवार के मुखिया के साथ सभी सदस्यों का भी पहचान पत्र अपडेट करवाना चाहिए।
  • शादीशुदा होने की स्थिति में विवाह प्रमाण पत्र की प्रति भी देनी होगी।
  • परिवार के सभी सदस्यों के नवीनतम फोटोग्राफ्स उपलब्ध हो।
  • इसके साथ ही परिवार के पास एक एक्टिव मोबाइल नंबर एवं ईमेल आईडी होना चाहिए।
  • बैंक पासबुक
  • बीपीएल कार्ड (जिनके पास हैं)

हरियाणा परिवार पहचान पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

अगर आप हरियाणा परिवार पहचान पत्र बनाने के इक्छुक हैं तो इस कार्य के लिए सरकार द्वारा फैमिली कार्ड की विशेष व्यवस्था की गयी हैं। इसके लिए कुछ केन्द्रो को निर्धारित किया गया हैं जिससे कार्य में अनियमितता न आ सके। सरकार की ओर से सबसे पहला केंद्र ग्रामीण स्तर पर सीएससी केंद्र चुना हैं। यहाँ ग्रामीण लोग आसानी से कार्ड बनवा सकेंगे। दूसरा विकल्प अंत्योदय सरल केंद्र एवं पीपीपी हेतु अधिकृत केन्द्रो द्वारा भी फैमिली आईडी कार्ड बनवाये जा रहे हैं। इन सभी में जाकर आसानी से आईडी कार्ड बनवाये जा सकतें हैं।Haryana Parivar Pahchan Patra Policy Apllication Form - परिवार पहचान पत्र आवेदन फॉर्म

हरियाणा परिवार पहचान पत्र अपडेट एवं डाउनलोड करना

  • हरियाणा परिवार पहचान पत्र बनाने के लिए आपको सर्वप्रथम हरियाणा परिवार पहचान पत्र की आधिकारिक वेबसाइट पर जाये।
  • साइट के होमपेज मेनू पर ‘citizen corner’ विकल्प को चुने।Haryana Parivar Pahchan Patra Policy Selecting Citizen Zone for updatation
  • आपको तीन नए विकल्प प्राप्त होंगे, जिसमे से ‘update family details’ विकल्प को क्लिक करें।Haryana Parivar Pahchan Patra Policy Pahchaan Patra Updation
  • इस विकल्प को क्लिक करने के बाद आपको “do you know parivar pehchan patra(family id)” विकल्प प्राप्त होगा। Haryana Parivar Pahchan Patra Policy Pahchaan log in by pahchaan ID to Patra Updationआपको yes विकल्प चुनना होगा।
  • आप अपना परिवार पहचान पत्र दर्ज़ करें और ‘search’ चुने।Haryana Parivar Pahchan Patra Policy Pahchaan - Entering pahchaan ID to Patra Updation
  • पहचान पत्र डिटेल्स ना होने पर आधार कार्ड संख्या से भी अपडेट कर सकतें हैं।
  • आपको अपने रजिस्टर मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी नंबर प्राप्त होगा, इसे सत्यापित करवा दें।
  • आपको एक फॉर्म स्क्रीन पर दिखेगा, इस फॉर्म को भरकर कैप्चा कोड डालकर सब्मिट बटन प्रेस कर दें।

हरियाणा परिवार पहचान पत्र सूची चेक करना

पीपीपी परिवार आईडी देखने के लिए आपको नीचे बताए जा रहे बिन्दुओ को ध्यानपूर्वक पढ़ना और प्रयोग करना होगा

  • सर्वप्रथम आपको सामाजिक आर्थिक जाति गणना 2011 का स्टेटस चेक करना होगा।
  • यदि आपका नाम SECC 2011 में हैं तो आपका नाम परिवार पहचाना पत्र में जोड़ दिया जायगा।
  • यदि आपका नाम SECC 2011 में नहीं होगा तो आपको परिवार पहचान पत्र के लिए अलग से आवेदन करना होगा।
  • सफलतापूर्वक आवेदन करने के बाद आपका नाम पीपीपी योजना में जोड़ दिया जाएगा।

हरियाणा फैमिली आईडी में पब्लिकेशन कैसे करें

  • हरियाणा परिवार पहचान पत्र देखने के लिए सबसे पहले विभाग की आधिकारिक वेबसाइट https://meraparivar.haryana.gov.in/पर जाना होगा।
  • साइट के होमपेज पर पब्लिकेशन विकल्प क्लिक करना होगा।
  • एक नया पेज खुलेगा जिसमे पब्लिकेशन सम्बंधित सभी विकल्प दिखाएँ जायेंगे।
  • अपनी आवश्यकतानुसार विकल्प चुनकर पीडीएफ रूप में डाउनलोड कर सकतें हैं।

हरियाणा परिवार पहचान पत्र के उद्देश्य

हरियाणा परिवार पहचान पत्र: राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के द्वारा 4 जुलाई 2020 मंगलवार के दिन पंचकूला में 20 परिवारों को परिवार पहचान पत्र देकर योजना का शुभारम्भ किया था। परिवार पहचान पत्र से साथ 43 विभागों की 443 योजनाएँ एवं सेवाएं सक्रीय कर दी गयी हैं। इसी क्रम में 120 सेवाएं एवं योजनाएँ सक्रीय करने का प्रयास किया जा रहा हैं।

कृषि मंत्री द्वारा 20 परिवारों को पहचान पत्र दिए गए। इनमें जाटू लोहारी से लाली देवी, मनोज देवी इंदीवाली, मनीषा प्रेम नगर, शकुंतला खरक कलां, सुनीता सिरसी, अनारो देवी कुंगड़, सुनेखा खरक कलां, नरेश शर्मा तिगड़ाना,मुकेश शर्मा घुसकानी, पृथ्वी सिंह भिवानी, बिमला देवराला, ममता खरक कलां, प्रेम देवी खरक कलां, पवन कुमार सूरपुरा कलां, संतोष देवी, राजवंती खरक कलां, प्रेम देवी खरक कलां, पवन कुमार सूरपुरा कलां, संतोष देवी, राजवंती खरक कलां एवं मंजू देवी बहल को परिवार पहचान पत्र भेंट किये। कृषि मंत्री के अनुसार परिवार पहचान पत्र में परिवार की आर्थिक स्थिति और परिवार के सदस्यों की आयु, जाति, शिक्षा, रहन-सहन, संसाधन आदि का विवरण मिलता हैं।

परिवार पहचान पत्र के द्वारा पुरे परिवार का डाटा एकत्रित किया जायगा। विशिष्ट पहचान पत्र के द्वारा नागरिक केंद्रित सेवाओं के वितरण में व्याप्त भ्रष्टाचार एवं राज्य के नकली/अनियमित लाभार्थियो की रोकथाम करना हैं। सरकारों द्वारा नागरिको के लिए कार्यान्वित होने वाली योजनाओ में पारदर्शिता लानी हैं। पहचान पत्र योजना से पात्र लाभार्थियों को सभी सेवाओं और योजनाओं की स्वचालित डिलीवरी सुनिश्चित करना हैं। सभी सरकारी योजनाओं का लाभ स्मार्ट कार्ड से जोड़ा जायगा और स्मार्ट कार्ड को पहचान पत्र से जोड़ा जायगा। पहचान पत्र के लाभ हम कुछ मुख्य बिन्दुओ के द्वारा समझ सकतें हैं।

सरलता से कॉलेज में प्रवेश

कई बार अपात्र नागरिक भी योजनाओं का लाभ उठा लेते हैं। यदि कोई विद्यार्थी महाविद्यालय में प्रवेश लेने का इच्छुक हैं तो पहचान पत्र छात्र सम्बंधित जानकारियां कॉलेज को प्रदान करेंगा। इस प्रकार की प्रणाली का प्रधानाचार्य के द्वारा भी सराहाना की गई हैं। पहचान पत्र में छात्रों का डेटा स्वतः सत्यापित किया जायगा। सूचना प्रौधोगिकी के युग में काम समय में छात्रों का कार्य होगा और सत्यापन के लिए इधर-उधर जाने की आवश्यकता नहीं होगी।

पेयजल कनेक्शन लेने के लिए परिवार पहचान पत्र जरुरी

हरियाणा सरकार ने नए पेयजल कनेक्शन के लिए परिवार आईडी को अनिवार्य कर दिया हैं। ऐसा करने का मुख्य कारण पेयजल व सीवर में होने वाले भ्रष्टाचार की रोकथाम करना हैं। कही स्थानों पर देखा गया हैं कि एक ही घर में इस से अधिक पानी के कनेक्शन हैं। यदि सही प्रकार से जाँच-पड़ताल की जाये तो राज्यभर में इस प्रकार के कई केस पाए जायेगे। इस प्रकार की गतिविधियों को रोकने के लिए ही पेयजल कनेक्शन में परिवार पहचान पत्र अनिवार्य किया गया हैं।

विभिन्न योजनाओ को परिवार पहचान पत्र से जोड़ा जायेगा

15 सितम्बर 2021 को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने सभी विभाग अध्यक्ष को अपने-अपने विभाग की योजनाओं और सेवाओं को 1 नवंबर 2021 तक परिवार पहचान पत्र से जोड़ने के निर्देश दिए। इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री द्वारा बैठक का भी आयोजन किया गया। उनके द्वारा यह सूचित किया गया कि यह योजना प्रदेश की महत्वकांक्षी योजनाओ में से एक हैं। इसके माध्यम से सभी पात्र परिवारों को सरकारी योजनाओं का लाभ पहुँचाया जायगा। इस प्रकार का प्रयास करने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य हैं।

  • एडिशनल डिप्टी कमिशनर संपर्क सिंह ने हरियाणा के सभी नागरिकों से परिवार पहचान पत्र बनाने का निवेदन किया हैं। उनके अनुसार भविष्य में सभी सरकारी योजनाओ का लाभ लेने के लिए हरियाणा परिवार पहचान पत्र अनिवार्य होगा। वे सभी परिवार जिनके पास परिवार पहचान पत्र नहीं हैं तत्काल बनवा लें। साथ ही जिन्होंने पहले से ही बनवा लिया हो वो तुरंत परिवार पहचान पत्र अपडेट करवा लें। यह कार्य सभी सीएससी केन्द्रो पर मुफ्त किया जायगा।
  • राज्य की बहुत सी महत्वपूर्ण योजनाओं को हरियाणा पहचान पत्र से लिंक किया जायगा। कुछ प्रमुख योजनाएँ ओल्ड एज़ पेंशन योजना, विडो पेंशन योजना, फैमिली पेंशन योजना, लाड़ली, मैरिज शगुन योजना, राशन आवंटन आदि। भविष्य में बीपीएल राशन कार्ड के आवेदन के लिए, प्रधानमंत्री आवास योजना में आवेदन, बेरोज़गारी भत्ते के लिए, सक्षम योजना में आवेदन एवं अन्य सरकारी योजनाओं में आवेदन करने के लिए एक महत्वपूर्ण दस्तावेज़ के रूप में प्रयोग किया जायगा।
  • हरियाणा पहचान पत्र सामाजिक-आर्थिक और जाति जनगणना के आधार पर राज्य के लाभार्थियों को सेवाएं एवं योजनाएं वितरित करने वाली हैं। राज्य सरकार परिवार के विशेष पहचान पत्र के आंकड़ों के अनुसार परिवार की पात्रता का आंकलन करेंगी।

हरियाणा परिवार पहचान पत्र के मुख्य तथ्य

  • हरियाणा परिवार पहचान पत्र में 14 अंक का यूनिक नंबर होगा।
  • इस कार्ड में लाभार्थी का मोबाइल नंबर होगा।
  • हरियाणा के प्रत्येक परिवार को सफलतापूर्व पंजीकरण के बाद परिवार पहचान पत्र प्रदान किया जायगा।
  • कार्ड के ऊपर परिवार के मुख्य सदस्य का नाम होगा।
  • हरियाणा परिवार पहचान पत्र पर परिवार से सम्बंधित अन्य जानकारियाँ अंकित होगी।
  • पंजीकरण के उपरांत रजिस्ट्रेशन आईडी और पासवर्ड परिवार को दिया जायगा।
  • यदि परिवार को अपनी डिटेल्ड देखनी हो तो लॉगिन क्रेडेंशियल दर्ज़ करने होंगे।
  • पहचान पत्र में डिटेल्स अपडेट की जा सकती हैं।
  • पहचान पत्र के माध्यम से अधिकारीयों द्वारा किसी भी योजना के लाभार्थियों की पहचान की जा सकती हैं।
  • इस कार्ड के माध्यम से पैंशन भी प्राप्त की जा सकती हैं।
  • इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक परिवार की मॉनिटरिंग होगी ताकि सही लाभार्थी को चिन्हित किया जा सकें।
  • केस योजना के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए सॉफ्टवेयर बनाया जायेगा। इस सॉफ्टवेयर के द्वारा लाभार्थी की पात्रता की जाँच होगी।
  • यदि परिवार में किसी का जन्म या मृत्यु हो तो उन्हें सर्टिफिकेट के लिए आवेदन करने की आवश्यकता नहीं हैं। सॉफ्टवेयर के द्वारा ये जानकारी स्वतः ही अपडेट हो जाती हैं।
  • किसी भी योजना के लाभ के लिए परिवार पहचान पत्र का होना अनिवार्य हैं।

हरियाणा परिवार पहचान पत्र से सम्बंधित प्रश्न

परिवार पहचान पत्र क्या हैं?

परिवार पहचान पत्र का मौलिक उदेश्य एक व्यापक, विश्वशनीय और सटीक डेटाबेस बनाना हैं। परिवार के प्रत्येक सदस्य को एक आईडी प्रदान होगी जिससे वह पीपीपी से जुडी राज्य की सेवा/योजना का लाभ ले सकता हैं।

परिवार पहचान पत्र में किसे नामांकन करने की आवश्यकता हैं?

स्थायी परिवार जिनको 8 अंकों की आईडी एवं अस्थायी परिवार(हरियाणा के बाहर रहने) की एंट्री आधार के द्वारा होगी एवं ‘T’ अक्षर से आद्याक्षर 9 अंकीय अस्थाई परिवार आईडी दी जायगी।

परिवार पहचान पत्र के लिए कैसे आवेदन करें?

पीपीपी आईडी तीन माध्यमों से बनाई जा सकती हैं। इसमें कोई आवेदन या मौद्रिक शुल्क नहीं देना होगा।
अ) सीएससी वीएलई – ग्राम स्तर के उधमियों द्वारा प्रबंधित सामान्य सेवा केंद्र द्वारा
ब) सरल केंद्र – अन्तोदय सरल केंद्र राज्य सरकार दिए जातें हैं।
सी) पीपीपी ऑपरेटर – राज्य भर में पीपीपी के काम के लिए पंजीकृत ऑपरेटर हैं।

परिवार पहचान पत्र में जानकारी कैसे अपडेट करें?

अपडेशन के दो विकल्प हैं:
अ) स्वतः-अपडेट: मेरा परिवार पोर्टल पर जाकर “अपडेट फैमिली डिटेल्स” का उपयोग करके अपनी परिवार आईडी को अपडेट कर सकतें हैं। नागरिक इस माध्यम से नयी आईडी नहीं बना सकता हैं।
ब) असिस्टेड मोड – नागरिक अपने निकटतम सीएससी, असरल केंद्र या पीपीपी तक पहुँच सकता हैं।

पीपीपी में सुचना को कितनी बार सम्पादित किया जा सकता हैं?

पीपीपी विभिन्न स्त्रोतों से परिवार द्वारा दिए डेटा को सत्यापित करता हैं। एक बार सत्यापन हो गया तो फील्ड “सत्यापित” माना जाता हैं। एक बार सत्यापित फील्ड को पुनः सत्यापित नहीं किया जा सकता हैं। नागरिक द्वारा पीपीपी पर हस्ताक्षर करने और अपलोड के बाद सिर्फ एक बार परवर्तन की अनुमति हैं।

परिवार पहचान पत्र से सम्बंधित अन्य समस्या होने पर दूरभाष नंबर क्या होगा?

पीपीपी से सम्बंधित किसी भी समस्या या शंका के लिए 18002000023 नंबर पर कार्यदिवस में सुबह 8 बजे से शाम 8 बजे तक संपर्क कर सकतें हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button