हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना 2023: ऑनलाइन आवेदन Ek Musht Niptaan Yojana

आज हम अपने इस आर्टिकल में आपके साथ हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना की सम्पूर्ण जानकारी साझा करने जा रहे है। जैसा की हम सभी जानते है सरकार आए दिन किसानों के लिए कई लाभकारी योजनाए संचालित करती रहती है। ऐसी ही एक योजना हरियाणा की राज्य सरकार ने वहां के कृषक भाइयों के लिए संचालित की है जिसके माध्यम से राज्य की सरकार किसानो के बकाया ऋण पर लगने वाले ब्याज को कम करेगी, जिससे किसानो को आर्थिक रूप से राहत पहुंचाई जाए। अगर आप भी हरियाणा के निवासी हो और इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते है तो आर्टिकल में दी गयी सभी महत्वपूर्ण जानकारी को अंत तक पढ़े।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना 2023: ऑनलाइन आवेदन Ek Musht Niptaan Yojana
हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना 2023: ऑनलाइन आवेदन Ek Musht Niptaan Yojana
Contents hide

हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना

हरियाणा राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने राज्य के ऋणी किसानो के लिए Ek Musht Niptaan Yojana का शुभारम्भ किया है। योजना के माध्यम से सरकार किसानो का बकाया 31 मार्च 2023 तक के ऋण पर लगने वाले ब्याज पर छूट प्रदान करेगी। जिससे की किसानो को आर्थिक रूप से कुछ हद तक राहत पहुंचाई जाएगी। स्कीम की सहायता से राज्य के ऐसे किसान जिनकी मृत्यु हो गई है और उनके उत्तराधिकारी उनके स्थान पर बकाया ऋण का भुगतान कर रहे है उन्हें ऋण के ब्याज पर 100% की छूट प्रदान की जाएगी एवं अन्य किसानो को बकाया ऋण की राशि पर लगने वाले ब्याज पर 50% की छूट प्रदान की जाएगी।

Ek Musht Niptaan Yojana Key Points

आर्टिकल हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना 2023: ऑनलाइन आवेदन Ek Musht Niptaan Yojana
योजना हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना
राज्य हरियाणा
किसने शुरू की मुख्यमंत्री मनोहर लाल खटटर जी द्वारा
प्रारम्भिक तिथि 5 अगस्त 2022
उद्देश्य किसानो के बकाया ऋण पर लगने वाले ब्याज को कम करना
लाभार्थी राज्य के ऋणी किसान
आवेदन प्रक्रिया अभी उपलब्ध नहीं है
आधिकारिक वेबसाइट अभी लॉन्च नहीं की गई है

इसे भी देंखे :- हरियाणा युवा नौकरी प्रोत्साहन योजना

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना के उद्देश्य

आज समाज में किसानो की दशा बहुत ही दयनीय हो गई है किसानो की आर्थिक स्थिति दिन प्रतिदिन ख़राब होती जा रही है बढ़ती हुई आर्थिक समस्या एवं ऋणों के कारण कई किसान आत्महत्या भी कर लेते है इसलिए सरकार ने राज्य के किसानों की आर्थिक रूप से सहायता के लिए राज्य में हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना को संचालित किया है। योजना के माद्यम से सरकार का एक मात्र लक्ष्य राज्य के किसानो को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाना है एवं उन्हें सभी पुराने बकाया ऋणों से मुक्त करना है। इसलिए सरकार योजना के तहत किसानो के ऋण पर लगे ब्याज पर उन्हें कुछ हद्द तक छूट प्रदान कर रही है।

जिससे वह जल्द से जल्द अपना बकाया ऋण का भुगतान करके ऋण मुक्त हो जाये। योजना के तहत ऐसे भी ऋणी किसान है जिनकी मृत्यु हो चुकी है और उनका ऋण उनका उत्तराधिकारी जमा करता है तो उस स्थिति में बकाया ऋण पर लगा ब्याज 100% माफ़ कर दिया जायेगा।

Haryana Ek Musht Niptaan Yojana Benefits & Feature

हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना से कृषियों को होने वाले लाभ निम्नलिखित है :-

  • Ek Musht Niptaan Yojana की घोषणा हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी द्वारा 5 अगस्त 2022 में की गई थी।
  • स्कीम के अंतर्गत हरियाणा राज्य के 19 जिलों को प्रथिमिक सहकारी कृषि एवं ग्रामीण बैंको क 73648 ऋणदाताओं को 2070 करोड़ रुपये ऋण भुगतान करने में सहायता प्रदान की है।
  • योजना के माध्यम से राज्य के किसान भाइयों को बकाया ऋण पर लगने वाले ब्याज से राहत पहुंचाई है।
  • राज्य के किसान जिन्होंने बैंको से ऋण लिया था लेकिन उनकी आकस्मिक मृत्यु हो गई हैं और अब उनके ऋण का भुगतान उनके उत्तराधिकारी द्वारा किया जा रहा है तो ऐसी स्थिति में सरकार 31 मार्च सन 2023 तक के बकाया ऋण पर अभी तक जितना भी ब्याज लगा है उसे 100% तक कम कर देगी।
  • योजना के अतरिक्त जो किसान आज भी स्वयं का बकाया ऋण भुगतान कर रहे है उन्हें बकाया ऋण के ब्याज पर 50% की दर से छूट प्रदान की जाएगी एवं उनके ब्याज पर लगे जुर्माने एवं अन्य खर्चे की राशि को भी माफ़ कर दिया जायेगा।
  • हरियाणा सरकार के वर्तमान अनुमान में 17863 ऋणदाता किसानो की मृत्यु हो गई है उन सभी किसानो पर कुल भुगतान ब्याज 445 करोड़ था।
  • स्कीम के अंतर्गत हरियाणा सरकार ने पहले आओ पहले पाओ के तर्क को प्राथमिकता दी है।
  • योजना का एक मात्र उद्देश्य ऋणी किसानो को ऋण से मुक्त करना है एवं राज्य के किसानों को उनका बकाया ऋण भुगतान करने का प्रोत्साहन प्रदान किया जा सके।
  • राज्य के ऐसे किसान जिन्हे भूमि विकास बैंकों, जिला कृषि, जिला प्राथमिक सहकारी कृषि एवं ग्रामीण विकास के कृषक ऋणियों को 31 मार्च सन 2023 के दिन सभी बैंकों द्वारा डिफॉल्टर प्रमाणित किया गया था, उन सभी किसानों को योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा।

हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना पहले आए, पहले पाए के तर्ज पर संचालित की जाएगी

पहले आए, पहले पाए तक से योजना का उद्देश्य यह है की हरियाणा राज्य द्वारा संचालित की गई एकमुश्त निपटान योजना के निश्चित समयावधि के लिए ही राज्य में लागू की गई है राज्य सरकार का लक्ष्य राज्य के किसानों द्वारा लिए गए बकाया ऋण का भुगतान जल्द से जल्द करवाना है इसलिए सरकार ने योजना को कुछ समय के लिए ही संचालित किया है पहले आए, पहले पाए तर्क के माध्यम से जो किसान पहले ही सारा ऋण चुकता कर देगा उसे योजना के तहत ब्याज की राशि पर छूट देकर राहत प्रदान की जाएगी।

राज्य सरकार ने उम्मीदवारों के लिए जिलों को प्राथमिक सहकारी कृषि एवं ग्रामीण बैंको एवं राज्य की 70 तहसीलों के माध्यम से नागरिको को सूचना प्रदान करने का प्रावधान किया है एवं पहले आए, पहले पाए तर्क राज्य के सहकारिता मंत्री डा. बनवारी लाल जी द्वारा प्रमाणित है।

प्रदेश के 73638 कर्जदार किसानों को मिलेगा योजना का लाभ

हरियाणा राज्य सरकार द्वारा यह अनुमान निकाला गया की राज्य के सहकारी कृषि एवं ग्रामीण किसान बैंको में 73648 कर्जदार है जिनके 2070 करोड़ बकाया है और जिसमे भी बकाया राशि पर 1112 करोड़ रुपयों का ब्याज, 845 करोड रुपए मूलधन राशि एवं 111 करोड़ रुपए का दंडात्मक ब्याज सम्मिलित है इन सभी का भुगतान समय पर हो सके इसके लिए राज्य सरकार ने Haryana Ek Musht Niptaan Yojana को जारी किया है। योजना के माध्यम से किसानों को ऋण भुगतान करने का प्रोत्साहन प्रदान किया जायेगा जिससे वह सभी ऋण से मुक्त होकर आर्थिक रूप से मजबूत बन सकेंगे।

हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना के पात्रता

  • आवेदक हरियाणा का मूल निवासी होना आवश्यक है।
  • स्कीम के लाभ केवल उन किसानो को प्रदान किया जायेगा, जो 31 मार्च सन 2023 बैंको द्वारा डिफॉल्टर घोषित किये गए थे।
  • हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना के तहत केवल राज्य के जिला सहकारी कृषि, भूमि विकास और विकास बैंक के ऋणी कृषक ही ऋणदाता बन सकते है अन्यथा उनकी मृत्यु के बाद उनके उत्तराधिकारी ही पात्र समझे जायेंगे।   
हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना आवश्यक दस्तावेज
  • आधार कार्ड
  • ऋण संबंधित दस्तावेज
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • स्थाई निवास प्रमाण पत्र
  • पैन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • मोनाइल नंबर
  • मृतक किसान का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • बैंक खता विवरण

इसे भी जाने :- ग्रामीण डाक सेवक भर्ती हरियाणा

Ek Musht Niptaan Yojana Apply Process

अगर आप भी हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते है तो आपको बता दें आपको इसका लाभ प्राप्त करने के लिए थोड़ा इन्तजार करना पड़ेगा क्योकि इस योजना की घोषणा मुख्यमंत्री ने अभी हाल ही में की थी जिस कारण वश अभी इस योजना पर काम चल रहा है राज्य सरकार ने स्कीम में आवेदन के लिए कोई आधिकारिक वेबसाइट या पोर्टल लॉन्च नहीं किया है इसलिए हम आपको योजना की आवेदन प्रक्रिया बताने में असमर्थ है लकिन जैसे ही सरकार योजना से संबंधित कोई भी जानकारी देती है तो हम आपके लिए अपने आर्टिकल के माध्यम से प्रस्तुत कर देंगे इसके लिए हमारी वेबसाइट www.mcpanchkula.org से जुड़े रहिये।

हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना से संबंधित प्रश्न एवं उनके उत्तर :-

Haryana Ek Musht Niptaan Yojana की प्रारंभिक तिथि क्या है ?

Haryana Ek Musht Niptaan Yojanaकी प्रारंभिक तिथि 5 अगस्त 2022 है।

हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना की शुरुआत किसके द्वारा की गई थी ?

हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना की शुरुआत राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खटटर जी द्वाराकी गई है।

Ek Musht Niptaan Yojana का उद्देश्य क्या है ?

Ek Musht Niptaan Yojana का उद्देश्य किसानों के बकाया ऋण पर लगने वाले ब्याज को कम करना है जिससे की किसानो को आर्थिक रूप से राहत प्रदान की जा सके।

हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना के लिए लाभार्थी कौन-कौन है ?

हरियाणा एकमुश्त निपटान योजना के लिए लाभार्थी हरियाणा राज्य के वह किसान जिनका ऋण बकाया है।

Ek Musht Niptaan Yojana की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

Ek Musht Niptaan Yojana की आधिकारिक वेबसाइट अभी लॉन्च नहीं की गई है।

Leave a Comment