chdsw.gov: चंडीगढ़ परवरिश योजना अनाथ बच्चों को मिलेगी आर्थिक सहायता

कोविड -19 के कारण अनाथ होने वाले बच्चे को पोषण और आवश्यकताओं सम्बन्धी जरूरतों को पूरा करने के लिए वित्तीय सहायता देने हेतु चंडीगढ़ परवरिश योजना की शुरुआत की गई है। वे इच्छुक उम्मीदवार जो Chandigarh Parvarish Yojana के पात्र है और इस योजना के लिए आवेदन करने के इच्छुक है वे आधिकारिक वेबसाइट chdsw.gov.in पर जाकर ऑनलाइन फॉर्म डाउनलोड कर सकते है। चंडीगढ़ परवरिश योजना से जुडी अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए इस लेख को ध्यानपूर्वक अंत तक पढ़िए।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
चंडीगढ़ परवरिश योजना
चंडीगढ़ परवरिश योजना

चंडीगढ़ परवरिश योजना क्या है ?

कोरोना महामारी के चलते बहुत से लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है। जिसके चलते लाखों बच्चे अनाथ हुए है। ऐसे बच्चों को पोषण और जरूरतों की पूर्ति करने के लिए केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ द्वारा Chandigarh Parvarish Yojana की शुरुआत की गई है।

इस योजना के अंतर्गत चंडीगढ़ के समस्त अनाथ बालकों को वित्तीय सहायता दी जाएगी। इसके लिए पात्र बच्चों को चार श्रेणियों में बाँटा गया है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
आर्टिकल का नाम चंडीगढ़ परवरिश योजना
साल 2024
राज्य का नाम Chandigarh
योजना का नाम चंडीगढ़ परवरिश योजना
लाभार्थी कोविड -19 के कारण अनाथ होने वाले बच्चे
आधिकारिक वेबसाइट लिंक chdsw.gov.in

योजना का उद्देश्य

चंडीगढ़ परवरिश योजना का मुख्य उद्देश्य कोविड -19 से प्रभावित होने वाले अनाथ बच्चों का समग्र विकास सुनिश्चित करना और उन बच्चों की भलाई के लिए अतिरिक्त और व्यापक सहायता प्रदान करना है। चंडीगढ़ परवरिश योजना के अंतर्गत कोरोना महामारी में अनाथ होने वाले समस्त बालकों को आर्थिक सहायता प्रदान कराई जाएगी। जिससे अनाथ बच्चों को सहारा मिलेगा और वह सुचारु रूप से जीवन यापन कर सकेंगे।

इस योजना के माध्यम से अनाथ बच्चों का पालन पोषण अच्छे ढंग से होगा और उनका भविष्य उज्जवल होगा।

Chandigarh Parvarish Yojana के लाभ

  • परवरिश योजना से कोविड -19 के कारण अनाथ होने वाले बच्चों को वित्तीय सहायता मिलेगी।
  • इस योजना के लाभार्थियों को सरकारी स्कूल में निःशुल्क शिक्षा प्रदान की जाएगी।
  • अनाथ बच्चों को स्नातक की पढ़ाई, डिप्लोमा कोर्स और व्यवसायिक डिग्री प्राप्त करने के आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना का लाभ केवल चंडीगढ़ के उन बच्चों को मिलेगा जिन्होंने कोरोना महामारी के कारण अपने माता-पिता दोनों को खोया है।

आवश्यक दस्तावेज

  • माता-पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र (कोविड के कारण)
  • बच्चे का आधार कार्ड
  • बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक अकाउंट नंबर
  • राशन कार्ड (बीपीएल)
  • मोबाइल नंबर

चंडीगढ़ परवरिश योजना के तहत शामिल बच्चों की श्रेणियां

  1. कोविड पॉजिटिव बच्चे
  2. कोविड अनाथ बच्चे जो अभिभावको/विस्तारित परिवारों के साथ रह रहे है।
  3. कोविड अनाथ बच्चे या बच्चे जिन्होंने कोविड-19 के कारण एक माता-पिता को खो दिया है और जीवित माता-पिता ने अपने बच्चो को आत्मसमर्पण कर दिया है।
  4. वे बच्चे जिन्होंने COVID से एक माता-पिता को खो दिया है और जीवित माता-पिता/विस्तारित परिवार के साथ रह रहे हैं।

कोविड पॉजिटिव बच्चे

  • पात्रता मानदंड
    • यह योजना यूटी चंडीगढ़ के निवासियों के लिए केवल निवास प्रमाण के रूप में माता-पिता के आधार कार्ड/ड्राइविंग लाइसेंस/वोटर आईडी/बिजली बिल आदि जमा करने के अधीन होगी।
    • 18 साल से कम उम्र के बच्चे आवेदन हेतु पात्र होंगे।
    • यदि की बच्चे के पास आयु प्रमाण पत्र नहीं है उस बच्चे की आयु का निर्धारण आयु किशोर न्याय अधिनियम 2015 के तहत तय किये गए प्रावधानों के हिसाब से किया जाएगा।
    • किशोर न्याय अधिनियम 2015 की धारा 2(14) के अनुसार बच्चे को “देखभाल और संरक्षण की आवश्यकता वाले बच्चे” की श्रेणी में आना चाहिए। 
  • वित्तीय लाभ
    • इस योजना की अधिसूचना के पूर्व के मामलो पर विचार नहीं किया जाएगा।
    • इस योजना के अंतर्गत पात्र बच्चों को 3 महीने के पोषण के लिए 2500 रूपये प्रदान किये जाएंगे।

वे बच्चे जिन्होंने COVID से एक माता-पिता को खो दिया है और जीवित माता-पिता/विस्तारित परिवार के साथ रह रहे हैं।

  • पात्रता मानदंड
    • जिन परिवारों की वार्षिक आय 5 लाख रूपये से कम है।
    • बच्चों के माता- पिता की मृत्यु का कारण कोविड-19 होना चाहिए।
    • चंडीगढ़ के निवासी के प्रमाण के रूप में आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस आदि उम्मीदवार के पास होना चाहिए।
  • वित्तीय लाभ
    • इस योजना के अंतर्गत पात्र बच्चों को अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति और पोषण सम्बन्धी जरूरतों को पूरा करने के लिए 5000 रूपये प्रदान किये जाएंगे।
    • अगर बच्चा 18 साल का हो गया है और फिर भी वह बेरोजगार है तो ऐसी स्थिति में उनकी आयु को 21 वर्ष तक बढ़ाया जाएगा।
  • शैक्षिक लाभ
    • लाभार्थी बच्चों को केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के सरकारी स्कूल में निःशुल्क शिक्षा प्रदान की जाएगी।
    • किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से एक वर्ष का डिप्लोमा करने के लिए अनाथ बच्चों को 25000 रूपये तक प्रदान किये जाएंगे।
    • किसी भी मान्तया प्राप्त संस्थान से 3 वर्षीय स्नातक की डिग्री प्राप्त करने के लिए बच्चो को 50000 रूपये तक प्रदान किये जाएंगे।
    • किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से व्यवसायिक डिग्री प्राप्त करने के लिए युवाओं को 1 लाख रूपये प्रदान किये जाएंगे।

कोविड अनाथ बच्चे जो अभिभावको/विस्तारित परिवारों के साथ रह रहे है।

  • पात्रता मानदंड
    • उम्मीदवार बच्चों की उम्र 18 साल से कम होनी चाहिए।
    • बच्चों के माता-पिता दोनों की मृत्यु का कारण कोविड-19 होना चाहिए।
    • निवास प्रमाण के रूप में केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के निवासियों को माता-पिता के आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस आदि।
  • वित्तीय लाभ
    • इस योजना के अंतर्गत पात्र बच्चों को अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति और पोषण सम्बन्धी जरूरतों को पूरा करने के लिए 5000 रूपये प्रदान किये जाएंगे।
    • अगर बच्चा 18 साल का हो गया है और फिर भी वह बेरोजगार है तो ऐसी स्थिति में उनकी आयु को 21 वर्ष तक बढ़ाया जाएगा।
  • शैक्षिक लाभ
    • किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से एक वर्ष का डिप्लोमा करने के लिए अनाथ बच्चों को 25000 रूपये तक प्रदान किये जाएंगे।
    • लाभार्थी बच्चों को केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के सरकारी स्कूल में निःशुल्क शिक्षा प्रदान की जाएगी।
      • किसी भी मान्तया प्राप्त संस्थान से 3 वर्षीय स्नातक की डिग्री प्राप्त करने के लिए बच्चो को 50000 रूपये तक प्रदान किये जाएंगे।
      • किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से व्यवसायिक डिग्री प्राप्त करने के लिए युवाओं को 1 लाख रूपये प्रदान किये जाएंगे।

चंडीगढ़ परवरिश योजना आवेदन कैसे करें?

  • Chandigarh Parvarish Yojana का आवेदन करने के लिए उम्मीदवार सबसे पहले समाज कल्याण विभाग, महिला एवं बाल विकास, चंडीगढ़ प्रशासन की आधिकारिक वेबसाइट chdsw.gov.in पर जाएँ।
 Chandigarh Parvarish Yojana
Chandigarh Parvarish Yojana
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको लाभार्थी कार्नर में आवेदन फॉर्म के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपकी स्क्रीन पर पीडीएफ फॉर्मेट में आवेदन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • इसके बाद आपको इस फॉर्म को डाउनलोड करके प्रिंट निकाल लेना है।
  • उसके बाद आपको फॉर्म में पूछी गई समस्त जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • इसके बाद आपको कुछ जरूरी दस्तावेजों की प्रति आवेदन पत्र के साथ संलग्न करने होंगे।
  • उसके बाद आपको आवेदन फॉर्म को पूरी तरह से तैयार करने के बाद आंगनवाड़ी में जाकर जमा करवा देना है।
  • इस प्रकार आपकी चंडीगढ़ परवरिश योजना आवेदन करने की प्रक्रिया पूरी हो जाती है।

उम्मीदवार ध्यान दें ऑनलाइन फॉर्म डाउनलोड करने के अलावा जिला बाल संरक्षण इकाई के सहायक निदेशक या सीडीपीओ कार्यालय से भी आवेदन फॉर्म प्राप्त किया जा सकता है। और फॉर्म भरकर आप उसे सीडीपीओ कार्यालय में जमा करवा सकते है।

Chandigarh Parvarish Yojana से जुड़े प्रश्न-उत्तर

चंडीगढ़ परवरिश योजना की आधिकारिक वेबसाइट क्या है?

चंडीगढ़ परवरिश योजना की आधिकारिक वेबसाइट chdsw.gov.in है। इस लिंक पर क्लिक करके आप आधिकारिक वेबसाइट पर पहुँच सकते है।

चंडीगढ़ परवरिश योजना के लाभार्थी कौन होंगे?

जानकारी के लिए बता दें कोविड -19 के कारण अनाथ होने वाले बच्चे चंडीगढ़ परवरिश योजना के लाभार्थी होंगे।

कितनी उम्र के बच्चो को चंडीगढ़ परवरिश योजना का लाभ मिलेगा?

चंडीगढ़ परवरिश योजना का लाभ 18 साल से कम उम्र के बच्चो को मिलेगा।

चंडीगढ़ परवरिश योजना आवेदन फॉर्म कहाँ से डाउनलोड करें?

चंडीगढ़ परवरिश योजना आवेदन फॉर्म आप ऑफिसियल वेबसाइट chdsw.gov.in से प्राप्त कर सकते है और इसके अतिरिक्त आप आंगनवाड़ी केंद्र से भी आवेदन फॉर्म प्राप्त कर सकते है।

इस लेख में हमने आपको चंडीगढ़ परवरिश योजना से जुडी अनेक जानकारी प्रदान की है। अगर आपको इन जानकारियों के अलावा अन्य कोई भी जानकारी चाहिए तो आप आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट कर सकते है। इसके अतिरिक्त जानकारी के लिए आप नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में जाकर मैसेज करके पूछ सकते है। आपके सभी प्रश्नों के उत्तर अवश्य दिए जाएंगे। आशा करते है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी से सहायता मिलेगी।

Leave a Comment