CG मिसल बंदोबस्त रिकार्ड : Misal Bandobast Record, कोरबा भूमि ऑनलाइन देंखे

छत्तीसगढ़ की राज्य सरकार के द्वारा मिसल बंदोबस्त रिकार्ड को ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से सभी के लिए उपलब्ध करा दिया गया है। छत्तीसगढ़ की राज्य सरकार के द्वारा डिजिटलीकरण अभियान के तहत मिसाल रिकॉर्ड को ऑनलाइन पोर्टल पर उपलब्ध करा दिया गया है। अब राज्य के इच्छुक नागरिक जब चाहे तब आसानी से अपने Misal Bandobast Record को सरकार की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर देख सकते हैं।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

हालाँकि अभी छत्तीसगढ़ राज्य के केवल कुछ ही जिलों:- कोबरा, दुर्ग, जांजगीर, रायगढ़, बिलासपुर, धमतरी, रायपुर के मिसल बंदोबस्त रिकार्ड को जारी किया गया है तथा भविष्य में सभी जिलों का रिकॉर्ड ऑनलाइन पोर्टल पर उपलब्ध करा दिया जाएगा।

आज हम आपको इस आर्टिकल की सहायता से आपको बताएंगे की आप Misal Bandobast Record को किस प्रकार से देख सकते हैं। अगर आप भी अपने रेकॉर्ड को देखना चाहते हैं तथा आपको कही भी सही सही जानकारी नहीं मिल पा रही है तो आप हमारे आर्टिकल को पूरा पढ़ सकते हैं।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
छत्तीसगढ़ मिसल बंदोबस्त रिकार्ड को ऑनलाइन देखें
छत्तीसगढ़ मिसल बंदोबस्त रिकार्ड को ऑनलाइन देखें

छत्तीसगढ़ मिसल बंदोबस्त रिकार्ड

सन 1929 से 1943 तक ब्रिटिश सरकार के द्वारा भारत की भूमि को नापा गया तथा इसका एक रिकॉर्ड बनाया गया इसी रिकॉर्ड का नाम Misal Bandobast Record रखा गया। इसी तरह से देश में अलग अलग राज्यों के द्वारा यह रिकॉर्ड बनाया जा रहा है, जिसमे छत्तीसगढ़ राज्य के द्वारा भी इस रिकॉर्ड को बनाया गया है।

छत्तीसगढ़ राज्य के द्वारा अभी कुछ ही जिलों के रिकॉर्ड को ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से दिखाया जा रहा है लेकिन भविष्य में सभी जिलों के Misal Bandobast Record को दिखाया जाएगा। अब गांव के नागरिक आसानी से इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम घर बैठे ही अपने मिसल बंदोबस्त रिकार्ड/कोरबा भूमि को देख सकते हैं इससे नागरिको के समय की बचत होगी।

इसे भी देखें :- छत्तीसगढ़ भुइयां | भू अभिलेख रिपोर्ट ऑनलाइन देखें

CG Misal Bandobast Record का उद्देश्य

छत्तीसगढ़ मिसल बंदोबस्त रिकार्ड का मुख्य उद्देश्य छत्तीसगढ़ राज्य की जमीन से जुडी जानकारी को ऑनलाइन पोर्टल की सहायता से प्रत्येक नागरिक तक पहुँचाना है। आप सभी लोगों को पता है की सरकार के द्वारा इस रिकॉर्ड को डिजिटल कर दिया गया है।

इससे अब आपको किसी भी कार्यालय के चक्कर नहीं काटने होंगे और साथ ही साथ आपके समय की भी बचत होगी। अब इस पोर्टल राज के नागरिक आसानी से घर बैठे मिसल बंदोबस्त रिकार्ड को आसानी से देख सकते हैं।

छत्तीसगढ़ मिसल बंदोबस्त रिकार्ड के कुछ मुख्य बिंदु

आर्टिकल का नाम CG मिसल बंदोबस्त रिकार्ड /कोरबा भूमि ऑनलाइन देंखे
राज्य छत्तीसगढ़
लाभार्थी छत्तीसगढ़ राज्य के नागरिक
वर्ष 2023
उद्देश्य मिसल बंदोबस्त रिकॉर्ड को ऑनलाइन उपलब्ध करना
माध्यम ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट यहाँ क्लिक करें

छत्तीसगढ़ मिसल बंदोबस्त रिकार्ड के लाभ

  • छत्तीसगढ़ राज्य के सभी नागरिक अब घर बैठे अपने फ़ोन की सहायता से आसानी से मिसल बंदोबस्त रिकार्ड को देख सकते हैं।
  • अब मिसल बंदोबस्त रिकार्ड को चेक करने के लिए नागरिकों को किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं देना होगा।
  • अब छत्तीसगढ़ के नागरिको को CG Misal Bandobast Record को चेक करने के लिए किसी भी कार्यालय के चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं होगी।
  • सरकार के द्वारा अलग अलग जिलों के मिसल रिकॉर्ड को पोर्टल पर उपलब्ध कराया जाएगा।
  • अभी छत्तीसगढ़ राज्य के केवल कुछ ही जिलों:- कोबरा, दुर्ग, जांजगीर, रायगढ़, बिलासपुर, धमतरी, रायपुर के CG Misal Bandobast Record को जारी किया गया है तथा भविष्य में सभी जिलों के रिकॉर्ड को जारी किया जाएगा।

छत्तीसगढ़ मिसल बंदोबस्त रिकार्ड के कुछ विशेस्ताएं

  • मिसल रिकॉर्ड को P1 भी कहते हैं, यह रिकॉर्ड 1929-30, 1938-39, 1942-43 के दौरान तैयार किए गए दस्तावेज हैं तथा इन दस्तावेजों में किसानो के नाम तथा उनके मूल जाति को उल्लेख किया है।
  • इस सुविधा को प्रदेश के सभी नागरिक घर बैठे आसानी से उठा सकते हैं।
  • सरकार के द्वारा सभी जिलों के रिकॉर्ड को ऑनलाइन उपलब्ध किया गया है।

CG मिसल बंदोबस्त रिकार्ड को ऑनलाइन देखने की प्रक्रिया

  • CG मिसल बंदोबस्त रिकार्ड को ऑनलाइन देखने के लिए आपको सबसे पहले सरकार की आधिकारिक वेबसाइट यहाँ क्लिक करें पर जाना होगा।
  • जैसे ही आप लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने पोर्टल का होम पेज खुल जाएगा।
Misal Bandobast Record, कोरबा भूमि ऑनलाइन देंखे
Misal Bandobast Record, कोरबा भूमि ऑनलाइन देंखे
  • अब आपको पूछी गयी सभी प्रकार की जानकारी जैसे :- जिला, तहसील, राजस्व नंबर, प.ह.नं., गांव तथा अभिलेख जैसी जानकारियों को भरना होगा।
  • सारी जानकारियों के भर जाने के बाद आपको खोजे के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने CG Misal Bandobast Record की लिस्ट खुल जाएगी।
  • अब इस पेज पर आपको अपना नाम को ढूँढना होगा। तथा इसके बाद आपको सेलेक्ट पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
  • यहाँ आप अपनी लिस्ट को देख सकते हैं तथा इसे डाउनलोड करके प्रिंट भी कर सकते हैं।
  • इस तरह से आप आसानी से CG मिसल बंदोबस्त रिकार्ड को देख सकते है।

नाम से रिकॉर्ड चेक करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको छत्तीसगढ़ राज्य की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपको वेबसाइट के होम पेज पर नाम के अनुसार खोजे के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस विकल्प पर क्लिक करते ही आपके सामने एक नया विकल्प आ जाएगा जिसमे आपको अपना नाम तथा तहसील को सेलेक्ट करना होगा।
  • फिर आपको खोजे के विकल्प पर क्लिक करना होगा, जैसे ही आप क्लिक करोगे आपके सामने सारे रिकॉर्ड की डिटेल आ जाएंगी।
नाम से मिसल बंदोबस्त रिकॉर्ड चेक करने की प्रक्रिया
नाम से मिसल बंदोबस्त रिकॉर्ड चेक करने की प्रक्रिया

ग्राम अनुसार डाटा देखने की प्रक्रिया

  • ग्राम अनुसार डाटा देखने के लिए आपको सबसे पहले छत्तीसगढ़ राज्य की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • अब आपको होम पेज पर ग्राम अनुसार डाटा देखे के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप क्लिक करोगे आपके सामने एक और नया पेज खुल जाएगा।
  • इस पेज में आपसे कुछ जानकारिया पूछी जाएंगी इनको आपको ध्यानपूर्वक भरना होगा।
  • अब आपको खोजे के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके ग्राम के अनुसार डाटा आपको दिख जाएगा।

CG मिसल बंदोबस्त रिकार्ड के तहत कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न एवं उत्तर

CG Misal Bandobast Record क्या है ?

सन 1929 से 1943 तक ब्रिटिश सरकार के द्वारा भारत की भूमि को नपा गया तथा इसका एक रिकॉर्ड बनाया गया इसी रिकॉर्ड का नाम मिसल बंदोबस्त रिकार्ड रखा गया।

छत्तीसगढ़ मिसल बंदोबस्त रिकार्ड का उद्देश्य क्या है ?

छत्तीसगढ़ मिसल बंदोबस्त रिकार्ड का मुख्य उद्देश्य छत्तीसगढ़ राज्य की जमीन से जुडी जानकारी को ऑनलाइन पोर्टल की सहायता से प्रत्येक नागरिक तक पहुँचाना है।

छत्तीसगढ़ मिसल बंदोबस्त रिकार्ड कब तैयार किए गए थे ?

मिसल रिकॉर्ड को P1 भी कहते हैं, यह रिकॉर्ड 1929-30, 1938-39, 1942-43 के दौरान तैयार किए गए दस्तावेज हैं तथा इन दस्तावेजों में किसानो के नाम तथा उनके मूल जाति को उल्लेख किया है।

किन किन जिलों में अभी छत्तीसगढ़ मिसल बंदोबस्त रिकार्ड को देख सकते हैं ?

अभी छत्तीसगढ़ राज्य के केवल कुछ ही जिलों:- कोबरा, दुर्ग, जांजगीर, रायगढ़, बिलासपुर, धमतरी, रायपुर के मिसल बंदोबस्त रिकार्ड को जारी किया गया है तथा भविष्य में सभी जिलों के रिकॉर्ड को जारी किया जाएगा।

Leave a Comment